Hanuman Chalisa
Download APP Now - Hanuman Chalisa - Ganesh Aarti Bhajan - Follow Bhakti Bharat WhatsApp Channel -

गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब - Gurudwara Hemkund Sahib

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

◉ हेमकुंड साहिब 4329 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक गुरुद्वारा है।
◉ यह सिख तीर्थ स्थल दसवें सिख गुरु, श्री गुरु गोबिंद सिंह जी को समर्पित है।
◉ हेमकुंड झील के तट पर भगवान राम के भाई लक्ष्मण का एक छोटा सा मंदिर भी सुशोभित है।

हेमकुंड साहिब 4329 मीटर की ऊंचाई पर स्थित गुरुद्वारा है। यह उत्तराखंड के चमोली जिले में फूलों की घाटी के पास स्थित है। इस पवित्र तीर्थस्थल का नाम गुरुद्वारा के निकट स्थित हिमानी झील हेमकुंड के नाम पर पड़ा है, जिसका शाब्दिक अर्थ 'बर्फ की झील' है। सिखों का यह तीर्थ स्थान दसवें सिख गुरु, श्री गुरु गोबिंद सिंह जी (1666-1708) को समर्पित है और इसका उल्लेख दशम ग्रंथ में भी मिलता है, जो स्वयं गुरु जी को समर्पित एक रचना है।

गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब इतिहास और वास्तुकला
हेमकुंड साहिब समुद्र तल से 15,000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर स्थित है। इसकी स्थापना एक हिमनदी झील की तरह है जो सात पर्वत चोटियों से घिरी हुई है, प्रत्येक की चट्टान पर एक निशान साहिब सुशोभित है। हेमकुंड एक संस्कृत नाम है जो हेम (\"बर्फ\") कुंड से लिया गया है। दशम ग्रंथ का कहना है कि पूर्व जन्म में, गुरु गोबिंद सिंह ने अकाल पर हेमकुंड में गहन ध्यान किया था। हेमकुंड झील के तट पर भगवान राम के भाई लक्ष्मण का एक छोटा सा मंदिर भी सुशोभित है।

हेमकुंड साहिब दर्शन का समय
बर्फीले रास्तों और ग्लेशियरों के कारण हेमकुंड अक्टूबर से अप्रैल तक दुर्गम है। सिख तीर्थयात्री मई में आते हैं और सर्दियों में रास्ते की क्षति की मरम्मत के लिए काम करने लगते हैं, जिसे परंपरा कार सेवा (\"निःस्वार्थ सेवा\") कहा जाता है, एक अवधारणा जो सिख आस्था का एक महत्वपूर्ण सिद्धांत बनाती है। गुरुद्वारा सर्दियों के दौरान बर्फ से ढका रहता है और हर साल गर्मियों में यात्रा के लिए फिर से खुलता है।

हेमकुंड साहिब कैसे पहुंचे
हेमकुंड साहिब के लिए उड़ान स्थल गोविंदघाट शहर है, जो ऋषिकेश से लगभग 275 किलोमीटर (171 मील) दूर है। गोबिंदघाट के पास मुख्य शहर जोशीमठ है। 9 किलोमीटर (5.6 मील) का रास्ता घांघरिया गांव (जिसे गोविंदधाम भी कहा जाता है) तक एक उचित रूप से अच्छी तरह से बनाए रखा मार्ग है। यह रास्ता पैदल या टट्टू द्वारा तय किया जा सकता है और यहां एक गुरुद्वारा तीर्थयात्रियों को आश्रय देता है। इसके अलावा, वहाँ कुछ होटल और तंबू और गद्दों वाला एक कैंपग्राउंड भी है। 6 किलोमीटर (3.7 मील) पत्थर के पक्के रास्ते पर 1,100 मीटर (3,600 फीट) की चढ़ाई हेमकुंड तक जाती है। हेमकुंड साहिब में रात भर रुकने की अनुमति नहीं है, इसलिए शाम होने तक गोविंदघाट लौटने के लिए दोपहर 2 बजे तक निकलना जरूरी है।

प्रचलित नाम: हेमकुंड साहिब, गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब

समय - Timings

दर्शन समय
8 AM - 1:30 PM
त्योहार
Guru Nanak Gurpurab | यह भी जानें: एकादशी

Gurudwara Hemkund Sahib in English

Hemkund Sahib is one of the most revered Sikh shrines, draws thousands of pilgrims every year.

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
हेमकुंड साहिब, गुरुद्वारा साहिब

हेमकुंड साहिब, गुरुद्वारा साहिब

श्री लक्ष्मण मंदिर

श्री लक्ष्मण मंदिर

जानकारियां - Information

मंत्र
वाहे गुरु जी
बुनियादी सेवाएं
Drinking Water, Prasad, CCTV Security, Shoe Store
समर्पित
श्री गुरु गोबिंद सिंह जी

क्रमवद्ध - Timeline

8 AM - 1:30 PM

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Sri Hemkunt Sahib Chamoli Uttarakhand
सोशल मीडिया
Download App
निर्देशांक 🌐
30.6995086°N, 79.6149366°E
गुरुद्वारा हेमकुंड साहिब गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/hemkund-sahib

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

Whatsapp Channelभक्ति-भारत वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें »
इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री गणेश आरती

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥...

ॐ जय जगदीश हरे आरती

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे। भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

खाटू श्याम आरती

ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे। खाटू धाम विराजत, अनुपम रूप धरे॥

×
Bhakti Bharat APP