🔱प्रदोष व्रत - Pradosh Vrat

Pradosh Vrat Date: Kartika Krishna Trayodashi: 2 November 2021
माह की त्रयोदशी तिथि का प्रदोष काल मे होना, प्रदोष व्रत होने का सही कारण है।

माह की त्रयोदशी तिथि का प्रदोष काल मे होना, प्रदोष व्रत होने का सही कारण है। प्रदोष काल सूर्यास्त से 45 मिनट पहिले प्रारम्भ होकर सूर्यास्त के बाद 45 मिनट होता है।

प्रदोष का दिन जब साप्ताहिक दिवस सोमवार को आने वाले प्रदोष को सोम प्रदोष कहते हैं, मंगलवार को होने वाले प्रदोष को भौम प्रदोष तथा शनिवार के दिन प्रदोष को शनि प्रदोष कहते हैं।

वैसे तो त्रयोदशी तिथि ही भगवान शिव की पूजा के लिए सर्वश्रेष्ठ है। परंतु प्रदोष के समय शिवजी की पूजा करना और भी लाभदायक है।

ध्यान देने योग्य तथ्य: प्रदोष व्रत एक ही देश के दो अलग-अलग शहरों के लिए अलग हो सकते हैं। चूँकि प्रदोष व्रत सूर्यास्त के समय, त्रयोदशी के प्रबल होने पर निर्भर करता है। तथा दो शहरों का सूर्यास्त का समय अलग-अलग हो सकता है, इस प्रकार उन दोनो शहरों के प्रदोष व्रत का समय भी अलग-अलग हो सकता है।

इसीलिए कभी-कभी ऐसा भी देखने को मिलता है कि, प्रदोष व्रत त्रयोदशी से एक दिन पूर्व अर्थात द्वादशी तिथि के दिन ही हो जाता है।

सूर्यास्त होने का समय सभी शहरों के लिए अलग-अलग होता है अतः प्रदोष व्रत करने से पूर्व अपने शहर का सूर्यास्त समय अवश्य जाँच लें प्रदोष व्रत चन्द्र मास की शुक्ल एवं कृष्ण पक्ष की दोनों त्रयोदशी के दिन किया जाता है।

Pradosh Vrat in English

Trayodashi tithi of the any month in Pradosha period(Kaal) is the right reason for Pradosha Vrat.

प्रदोष व्रत की पूजा कब करनी चाहिए?

प्रदोष व्रत की पूजा अपने शहर के सूर्यास्त होने के समय के अनुसार प्रदोष काल मे करनी चाहिए।

प्रदोष में क्या न करें?

भगवान शिव की प्रदोष काल में पूजा किए बिना भोजन ग्रहण न करें. व्रत के समय में अन्न, नमक, मिर्च आदि का सेवन नहीं करें।

प्रदोष व्रत मे पूजा की थाली में क्या-क्या रखें?

पूजा की थाली में अबीर, गुलाल, चंदन, काले तिल, फूल, धतूरा, बिल्वपत्र, शमी पत्र, जनेऊ, कलावा, दीपक, कपूर, अगरबत्ती एवं फल के साथ पूजा करें।

संबंधित जानकारियाँ

आगे के त्यौहार(2021)
Kartika Krishna Trayodashi: 2 November 2021Kartika ShuklaTrayodashi: 16 November 2021Margashirsha Krishna Trayodashi: 2 December 2021Margashirsha ShuklaTrayodashi: 16 December 2021Paush Krishna Trayodashi: 31 December 2021
आवृत्ति
अर्ध मासिक
समय
1 दिन
सुरुआत तिथि
त्रयोदशी
समाप्ति तिथि
त्रयोदशी
महीना
प्रत्येक त्रयोदशी
मंत्र
ॐ नमः शिवायः, बोल बम, बम बम, बम बम भोले, हर हर महादेव
कारण
भगवान शिव का पसंदीदा दिन।
उत्सव विधि
व्रत, पूजा, व्रत कथा, भजन-कीर्तन, गौरी-शंकर मंदिर में पूजा, रुद्राभिषेक
महत्वपूर्ण जगह
सभी ज्योतिर्लिंग, ऋषिकेश, पशुपतिनाथ, श्री शिव मंदिर, घर
पिछले त्यौहार
Ashwina ShuklaTrayodashi: 17 October 2021, Ashwina Krishna Trayodashi: 4 October 2021, Bhadrapad ShuklaTrayodashi: 18 September 2021, Shani Pradosh Vrat: 4 September 2021, Shravan ShuklaTrayodashi: 20 August 2021, Shravan Krishna Trayodashi: 5 August 2021, Ashadha ShuklaTrayodashi: 21 July 2021, Ashadha Krishna Trayodashi: 7 July 2021, Jyeshtha ShuklaTrayodashi: 22 June 2021, Jyeshtha Som Pradosh: 7 June 2021, Vaishakha ShuklaTrayodashi: 24 May 2021, Vaishakha Krishna Trayodashi: 8 May 2021
अगर आपको यह त्यौहार पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस त्यौहार को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

Pradosh Vrat 2021 तिथियाँ

FestivalDate
Kartika Krishna Trayodashi 2 November 2021
Kartika ShuklaTrayodashi 16 November 2021
Margashirsha Krishna Trayodashi 2 December 2021
Margashirsha ShuklaTrayodashi 16 December 2021
Paush Krishna Trayodashi 31 December 2021

मंदिर

Download BhaktiBharat App Go To Top