त्यौहार

गंगा दशहरा

💧 गंगा दशहरा - Ganga Dussehra

सृष्टि के निर्माता ब्रह्मा जी के कमंडल से राजा भागीरथ द्वारा देवी गंगा के धरती पर अवतरण दिवस को गंगा दशहरा के नाम से जाना जाता है।

निर्जला एकादशी

🐚 निर्जला एकादशी - Nirjala Ekadashi

हिंदू पंचांग के अंतर्गत प्रत्येक माह की 11वीं तीथि को एकादशी कहा जाता है। एकादशी को भगवान विष्णु को समर्पित तिथि माना जाता है..

प्रदोष व्रत

🔱 प्रदोष व्रत - Pradosh Vrat

माह की त्रयोदशी तिथि का प्रदोष काल मे होना, प्रदोष व्रत होने का सही कारण है।

पूर्णिमा

🌕 पूर्णिमा - Purnima

पूर्णिमा प्रत्येक माह की शुक्ला पक्ष मे आने वाला मासिक उत्सव है, अतः पूर्णिमा वर्ष मे 12 बार, तथा अधिक मास की स्थिति मे 13 बार भी हो सकती है।

शिवरात्रि

🔱 शिवरात्रि - Shivaratri

शिवरात्रि साल मे 12/13 बार आने वाला मासिक त्यौहार है, जो पूर्णिमा से एक दिन पहिले त्रियोदशी के दिन आता है। 11 मार्च महा शिवरात्रि 2021

अमावस्या

🌚 अमावस्या - Amavasya

अमावस्या एक वर्ष मे 12 बार आने वाला मासिक उत्सव है, अधिक मास की स्थिति मे यह एक वर्ष मे 13 बार भी हो सकती है।

जगन्नाथ रथ यात्रा

जगन्नाथ रथ यात्रा - Jagannath Rath Yatra

जगन्नाथ रथ यात्रा भगवान विष्णु के अवतार भगवान जगन्नाथ उनके भाई बलभद्र और बहन देवी सुभद्रा के साथ जगत प्रसिद्ध जगन्नाथ पुरी मंदिर में आयोजित की जाती है।

गुरू पूर्णिमा

🌕 गुरू पूर्णिमा - Guru Purnima

गुरु पूर्णिमा त्यौहार हिंदुओं, जैनियों और बौद्धों द्वारा अपने शिक्षकों को सम्मान देने के लिए मनाया जाता है।

माघ गुप्त नवरात्रि

🐅 माघ गुप्त नवरात्रि - Magha Gupt Navratri

देवी भागवत के अनुसार वर्ष में चार बार नवरात्रि आते हैं और जिस प्रकार नवरात्रि में देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है, ठीक उसी प्रकार गुप्त नवरात्रि में दस महाविद्याओं की साधना की जाती है। 12-21 फरवरी 2021

सावन के सोमवार

🔱 सावन के सोमवार - Sawan Ke Somwar

हिंदू धर्म के अनुसार, सावन को वर्ष का सबसे पवित्र महीना माना जाता है, और सावन के सोमवार भगवान शिव के सबसे प्रिय दिन होते हैं।

अंगारकी चतुर्थी

अंगारकी चतुर्थी - Angarki Chaturthi

जब कोई संकष्टी चतुर्थी मंगलवार के दिन होती है उसे अंगारकी चतुर्थी कहा जाता है, और यह दिन सभी संकष्टी चतुर्थीयों में अत्यधिक शुभ माना जाता है।

काँवड़ यात्रा

🔱 काँवड़ यात्रा - Kanwar Yatra

काँवड़ यात्रा मानसून के श्रावण माह मे किए जाने वाला अनुष्ठान है। हिन्दू पुराणों में कांवड़ यात्रा समुद्र के मंथन से संबंधित है।

हरियाली तीज

🥻 हरियाली तीज - Hariyali Teej

उत्तर भारत की विवाहित महिलाओं के बीच लोकप्रिय त्योहारों मे से एक है, यह हरियाली तीज का त्योहार।

नाग पंचमी

🐍 नाग पंचमी - Nag Panchami

नाग पंचमी त्योहार के दिन नागदेव की पूजा तथा दूध से स्नान कराया जाता है। नागदेव को अपने क्षेत्र के संरक्षक के रूप में पूजा जाता है, कुछ जगहों पर इन्हें क्षेत्रपाल भी कहा गया है।

रक्षाबंधन

👫🏻 रक्षाबंधन - Raksha-Bandhan

रक्षाबंधन हिंदू धर्म में भाई-बहन का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार है। इस त्यौहार के दिन बहनें अपने भाईयों के कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती हैं, और अपने प्रिय भाई की लंबी उम्र की कामना करती हैं।

हल षष्ठी

⛏️ हल षष्ठी - Hal Sashti

पारंपरिक हिंदू पंचांग में हल षष्ठी एक महत्वपूर्ण त्यौहार है। यह भगवान श्रीकृष्ण के बड़े भाई बलराम को समर्पित है।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी

⚙️ श्री कृष्ण जन्माष्टमी - Shri Krishna Janmashtami

कृष्ण जन्माष्टमी त्यौहार, भगवान विष्णु के आठवें अवतार श्री कृष्ण के अवतरण दिवस के रूप में मनाया जाता है।

सोमवती अमावस्या

🌚 सोमवती अमावस्या - Somvati Amavasya

सोमवार के दिन आने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहते हैं। गणित के प्रायिकता सिद्धांत के अनुसार अमावस्या वर्ष में एक अथवा दो बार ही सोमवार के दिन हो सकती है।

हरतालिका तीज

हरतालिका तीज - Hartalika Teej

हरतालिका तीज पर कुंआरी कन्याएँ अपने मन के अनुरूप पति को प्राप्त करने हेतु माँ गौरी व भगवान शंकर की पूजा एवं व्रत करती हैं। यह त्यौहार भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को आता है, तथा हरतालिका व्रत हस्त नक्षत्र में किया जाता है।

ऋषि पंचमी

📿 ऋषि पंचमी - Rishi Panchami

ऋषि पंचमी व्रत का महत्व हिन्दू धर्म में दोषों से मुक्त होने के लिए किया जाता हैं। यह एक त्यौहार नहीं अपितु एक व्रत हैं, इस व्रत में सप्त-ऋषियों की पूजा-अर्चना की जाती हैं।

आरती: श्री गंगा मैया जी

ॐ जय गंगे माता श्री जय गंगे माता। जो नर तुमको ध्याता मनवांछित फल पाता॥ हर हर गंगे, जय माँ गंगे...

श्री खाटू श्याम जी आरती

ॐ जय श्री श्याम हरे, बाबा जय श्री श्याम हरे। खाटू धाम विराजत, अनुपम रूप धरे॥

आरती: श्री बांके बिहारी तेरी आरती गाऊं..

श्री बांके बिहारी तेरी आरती गाऊं, हे गिरिधर तेरी आरती गाऊं।...

Latest Mandir

  • बड़ा हनुमान मंदिर


    बड़ा हनुमान मंदिर

    श्री रमेश्वरदास जी महाराज की प्रेरणा से निर्मित बड़ा हनुमान मंदिर, जिसके प्रांगण मे स्थित है 41 फुट उँची श्री हनुमान जी की विशाल मूर्ति।

  • गंगा गोदावरी उद्‍गम

  • प्रेम मंदिर

    प्रेम मंदिर भगवान के प्यार का एक स्मारक है। यह भक्ति केंद्र ज्ञान और भक्ति के व्यावहारिक अनुभव के माध्यम से उन सभी को सेवा प्रदान करता है, जो भगवान के प्यार की खोज में आते हैं।

बेद की औषद खाइ कछु न करै: मॉं गंगा माहात्म्य

माँ गंगा मैया का गरिमामय माहात्म्य॥ बेद की औषद खाइ कछु न करै बहु संजम री सुनि मोसें ।..

गंगा के खड़े किनारे, भगवान् मांग रहे नैया: भजन

गंगा के खड़े किनारे, भगवान् मांग रहे नैया, भगवान् मांग रहे नैया

भजन: ओ गंगा तुम, गंगा बहती हो क्यूँ?

करे हाहाकार निःशब्द सदा, ओ गंगा तुम, गंगा बहती हो क्यूँ?

भजन: मानो तो मैं गंगा माँ हूँ..

मानो तो मैं गंगा माँ हूँ, ना मानो तो बहता पानी, जो स्वर्ग ने दी धरती को, में हूँ प्यार की वही निशानी...

भोर भई दिन चढ़ गया मेरी अम्बे: भजन

भोर भई दिन चढ़ गया मेरी अम्बे, हो रही जय जय कार मंदिर विच आरती जय माँ।

🔝