टॉप मंदिर

  • श्री दूधेश्वरनाथ महादेव मंदिर


    श्री दूधेश्वरनाथ महादेव मंदिर

    प्राचीन, पुराणों मे वर्णित, त्रेता युग से ही स्थापित हिरण्यगर्भ सिद्धपीठ श्री दूधेश्वरनाथ महादेव के स्वरूप को धारण किए यह मंदिर श्री दूधेश्वरनाथ मंदिर के नाम से प्रषिद्ध हैं।

  • श्री नागेश्वर ज्योतिर्लिंग

    श्री नागेश्वर ज्योतिर्लिंग नागों के ईश्वर रूप में भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह गुजरात के द्वारका धाम से 17 किलोमीटर बाहरी क्षेत्र की ओर स्थित है।

  • मयूर विहार कालीबाड़ी

    मयूर विहार कालीबाड़ी, पूर्वी दिल्ली मे स्थापित बंगाली सभ्यता एवं संस्कृति का एक दैवीय रूप है। यह कालीबाड़ी सन् 1984 मे स्थापित किया गया है।

  • सामौर बाबा मंदिर

    400 वर्ष पहले तालाब के किनारे जब स्वयंभू शिवलिंग अवतरित हुए, उस स्थान पर एक सामौर बाबा मंदिर का निर्माण किया गया।

  • श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर

    कश्मीरी समाज के द्वारा बनी कमेटी ने श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर का निर्माण सेंट्रल पार्क के निकट कराया है। मंदिर में वैशाली का सबसे बड़ा शिवलिंग स्थापित है।

  • श्री वनखण्डेश्वर मंदिर

    सिरसागंज शहर का सबसे प्रसिद्ध एवं पुरातन मंदिर, श्री वनखण्डेश्वर मंदिर, इस धार्मिक स्थल को स्थानीय समुदाय द्वारा साधारण बोल-चाल की भाषा में बरखंडी कहा जाता है।

  • गुलमोहर शिवालय

    वैशाली सेक्टर 5 का सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिर गुलमोहर शिवालय है। यह शिव मंदिर, गुलमोहर लेन में स्थित होने के कारण गुलमोहर शिवालय कहलाया।

भजन : गुरु मेरी पूजा, गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म!

गुरु मेरी पूजा गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म, गुरु भगवंत, गुरु मेरा देव अलख अभेव...

भजन: गुरु बिन घोर अँधेरा संतो!

गुरु बिन घोर अँधेरा संतो, गुरु बिन घोर अँधेरा जी। बिना दीपक मंदरियो सुनो...

सारे तीर्थ धाम आपके चरणो में।

सारे तीर्थ धाम आपके चरणो में। हे गुरुदेव प्रणाम आपके चरणो में।

गुरु भजन: दर्शन देता जाइजो जी..

दर्शन देता जाइजो जी, सतगुरु मिलता जाइजो जी। म्हारे पिवरिया री बातां थोड़ी म्हने..

दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध शिव मंदिर
दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध शिव मंदिर

30 जुलाई 2019 को आने वाली महा शिवरात्रि इन मंदिरों मे मनाई जाएगी। नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रमुख भगवान शिव मंदिर:

द्वादश(12) शिव ज्योतिर्लिंग!
द्वादश(12) शिव ज्योतिर्लिंग!

हिन्दू धर्म में पुराणों के अनुसार स्वयं शिवजी, शिवलिंग के रूप में १२ अलग-अलग स्थानों पर स्थापित हैं, जानिए भारत के 12 ज्योतिर्लिंग के बारे मे...

सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर!
सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर!

विश्व प्रसिद्ध श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, भगवान शिव के शिवलिंग रूप की नगरी है जो वैरावल क्षेत्र में आती है।

श्री राम स्तुति: श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन!

श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन हरण भवभय दारुणं। नव कंज लोचन कंज मुख...

संकट मोचन हनुमानाष्टक

बाल समय रवि भक्षी लियो तब।.. लाल देह लाली लसे, अरु धरि लाल लंगूर।...

श्री हनुमान साठिका

जय जय जय हनुमान अडंगी। महावीर विक्रम बजरंगी॥ जय कपीश जय पवन कुमारा। जय जगबन्दन सील अगारा॥

श्री हनुमान बाहुक

असहनीय कष्टों से हताश होकर अन्त में उसकी निवृत्ति के लिये गोस्वामी तुलसीदास जी ने हनुमानजी की वन्दना आरम्भ की जो कि ४४ पद्यों के हनुमानबाहुक प्रसिद्ध स्तोत्र लिखा।

श्री दुर्गा चालीसा
श्री दुर्गा चालीसा

नमो नमो दुर्गे सुख करनी। नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥ निरंकार है ज्योति तुम्हारी। तिहूँ लोक फैली उजियारी॥

माँ महाकाली - जय काली कंकाल मालिनी!
माँ महाकाली - जय काली कंकाल मालिनी!

जय काली कंकाल मालिनी, जय मंगला महाकपालिनी॥ रक्तबीज वधकारिणी माता...

चालीसा: श्री बगलामुखी माता
चालीसा: श्री बगलामुखी माता

सिर नवाइ बगलामुखी, लिखूं चालीसा आज॥ कृपा करहु मोपर सदा, पूरन हो मम काज॥

प्रेरक कहानी: गुरु गूंगे, गुरु बावरे, गुरु के रहिये दास! - Guru Purnima Special

गुरु गूंगे गुरु बाबरे गुरु के रहिये दास, गुरु जो भेजे नरक को, स्वर्ग कि रखिये आस!

जीवन मे गुरु की आवश्यकता क्यों?

एक गाय घास चरने के लिए एक जंगल में चली गई। शाम ढलने के करीब थी। उसने देखा कि एक बाघ उसकी तरफ दबे पांव बढ़ रहा है।..

प्रेरक कहानी: गुरू की बात को गिरिधारी भी नही टाल सकते

उन्होंने मेरे शब्दो का मान रखते हुए मेरे शिष्य पर अपनी सारी कृपा उडेल दी। इसलिए कहते है गुरू की बात को गिरिधारी भी नही टाल सकते।

श्री गुरु अष्टकम

शरीरं सुरुपं तथा वा कलत्रं, यशश्चारू चित्रं धनं मेरुतुल्यम्। मनश्चेन्न लग्नं गुरोरंघ्रिपद्मे, ततः किं ततः किं ततः किं ततः किम्..

श्री दुर्गा माँ के 108 नाम

सती, साध्वी, भवप्रीता, भवानी, भवमोचनी, आर्या, दुर्गा, जया, आद्य, त्रिनेत्र, शूलधारिणी...

श्री लक्ष्मी के 108 नाम - श्रीलक्ष्मीष्टोत्तरशतनामावलिः

ॐ प्रकृत्यै नमः ॥ ॐ विकृत्यै नमः ॥ ॐ विद्यायै नमः ॥ ॐ सर्वभूतहितप्रदायै नमः ॥ ॐ श्रद्धायै नमः ॥ ॐ विभूत्यै नमः ॥

श्री महासरस्वती सहस्रनाम स्तोत्रम्!

ध्यानम्: श्रीमच्चन्दनचर्चितोज्ज्वलवपुः शुक्लाम्बरा मल्लिका-मालालालित...

ISKCON एकादशी कैलेंडर 2020

यह एकादशी तिथियाँ केवल वैष्णव सम्प्रदाय इस्कॉन के अनुयायियों के लिए मान्य है | Wednesday, 1 July 2020
देवशयनी एकादशी व्रत कथा - Devshayani Ekadashi Vrat Katha

Suna Besha - Bhagwan Jagannath's Golden Avatar

Suna Besha (Gold Costume) is one of the special event of Jagannath rath yatra. This year Suna Besha will happen on Thursday, 02 July 2020.

भगवान अलारनाथ की कहानी: श्री जगन्नाथ कथा

अनासार के दौरान जब भगवान जगन्नाथ बीमार हो जाते हैं, तब अलारनाथ मंदिर परिसर मे भगवान को खीर का भोग लगाया जाता है तथा साथ ही साथ भक्तों को भी यही भोग भेंट किया जाता है।

समा के चावल की खीर बनाने की विधि
समा के चावल की खीर बनाने की विधि

अधिकतम व्रत जिसमें अन्न ग्रहण करना वर्जित होता है, उस व्रत में समा के चावल की खीर का उपयोग किया जाता है। आइए जानें इसे बनाने की विधि...

सूजी का हलवा बनाने की विधि
सूजी का हलवा बनाने की विधि

भोग लगाने के लिए सूजी का हलवा तैयार करने के सरल विधि...

मखाने की खीर बनाने की विधि
मखाने की खीर बनाने की विधि

व्रत, कथा, भोज, रक्षाबंधन तथा जन्माष्टमी में प्रयोग आने वाली प्रमुख मिष्ठान, मखाने की खीर बनाने की सरल रेसिपी...

🔝