टॉप मंदिर

  • बालाजी सिरसागंज


    बालाजी सिरसागंज

    जदुद्वारा से सिरसागंज शहर की ओर जाते हुए महादेव के कालेश्वर मंदिर के अत्यंत निकट रुद्र के अवतार श्री हनुमंत लाल के बाल स्वरूप को समर्पित श्री बालाजी मंदिर, बालाजी सिरसागंज के नाम से प्रसिद्ध है।

  • गुफा वाला मंदिर

    पूर्वी दिल्ली के विशाल एवं रमणीय आध्यात्मिक शिव मंदिर मे माँ वैष्णो की गुफा भक्तों को बहुत भाती है।..

  • चौसठ योगिनी मंदिर

    चौसठ योगिनी मितावली मंदिर प्राचीन भारतीय वास्तुकला का वृत्ताकार योजना वाला एक बहुत ही अनोखा और शानदार मंदिर है। भारत की संसद भवन इसी योगिनी मंदिर की वास्तुकला से प्रेरित है...

  • बाबा बटेश्वर धाम

    बाबा बटेश्वरनाथ धाम, प्राचीन 101 भगवान शिव मंदिरों की एक श्रृंखला है, इसलिए इसे धाम कहा जाता है।

  • बटेश्वर मंदिर, मुरैना

    बटेश्वर ग्रूप ऑफ टेंपल, बटेश्वर मंदिर मुरैना, बटेश्वर हिंदू मंदिर परिसर मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में स्थित है। भगवान शिव, विष्णु और शक्ति को समर्पित लगभग 200 मंदिर।

  • तिरुपति बालाजी मंदिर, आर.के. पुरम

    यह श्री वेंकटेश्वर मंदिर तमिल वैष्णव परंपरा का एक मंदिर है, जहाँ दिन के सभी धार्मिक अनुष्ठान तिरुपति बालाजी मंदिर के ही समान किए जाते हैं।

  • तिरुपति बालाजी मंदिर

    भगवान विष्णु अवतार, तिरुपति बालाजी का दिल्ली में प्रसिद्ध मंदिर श्री वेंकटेश्वर स्वामी वारी मंदिर (तेलुगु: శ్రీ వెంకటేశ్వర స్వామి వారీ ఆలయం) उद्यान-मार्ग पर स्थित है।

हनुमान आरती

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ आरती कीजै हनुमान लला की । दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥..

ॐ जय जगदीश हरे आरती

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे। भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

संकट के साथी को हनुमान कहते हैं: भजन

दुनिया के मालिक को भगवान कहते हैं, संकट के साथी को हनुमान कहते हैं॥

उड़े उड़े बजरंगबली, जब उड़े उड़े - भजन

उड़े उड़े बजरंगबली, जब उड़े उड़े, हनुमान उड़े उड़ते ही गये, सब देख रहे है..

झुमर झलके अम्बा ना, गोरा गाल पे रे: भजन

ऐ भई रे भई रे, ढोलीड़ा तने विनवु रे, म्हारी माता सारू, ढोल वगाडजो रे, झुमर झलके अम्बा ना, गोरा गाल पे रे ॥

मिश्री से भी मीठा नाम तेरा: भजन

मिश्री से भी मीठा नाम तेरा, तेरा जी मैया, ऊँचे पहाड़ो पर डेरा डेरा जी, तेरा मंदर सुनहरी शेरावालिये ॥

हनुमान चालीसा
हनुमान चालीसा

जय हनुमान ज्ञान गुन सागर । जय कपीस तिहुँ लोक उजागर ॥ राम दूत अतुलित बल धामा | हनुमान चालीसा लिरिक्स

गणेश चालीसा
गणेश चालीसा

जय गणपति सदगुण सदन, कविवर बदन कृपाल। विघ्न हरण मंगल करण, जय जय गिरिजालाल॥

शिव चालीसा
शिव चालीसा

जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल मूल सुजान। कहत अयोध्यादास तुम, देहु अभय वरदान॥

दिल्ली के हनुमान बालाजी मंदिर
दिल्ली के हनुमान बालाजी मंदिर

हनुमान जी श्री राम के बहुत बड़े भक्त हैं और भगवान शिव के अवतार हैं। हनुमान जी के माता-पिता का नाम अंजना और केसरी है इसलिए उन्हें अंजनी-पुत्रा और केसरी-नंदन कहा जाता है।

द्वादश(12) शिव ज्योतिर्लिंग
द्वादश(12) शिव ज्योतिर्लिंग

हिन्दू धर्म में पुराणों के अनुसार स्वयं शिवजी, शिवलिंग के रूप में १२ अलग-अलग स्थानों पर स्थापित हैं, जानिए भारत के 12 ज्योतिर्लिंग के बारे मे...

दिल्ली के प्रसिद्ध शिव मंदिर
दिल्ली के प्रसिद्ध शिव मंदिर

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रमुख भगवान शिव मंदिर:

मंगलमय पवित्र दान - प्रेरक कहानी

एक सेठ ने अन्नसत्र खोल रखा था। उनमें दान की भावना तो कम थी, पर समाज उन्हें दानवीर समझकर उनकी प्रशंसा करे यह भावना मुख्य थी। उनके प्रशंसक भी कम नहीं थे।..

पांच मिनट का जीवन - प्रेरक कहानी

यमराज ने पीने के लिए व्यक्ति से पानी माँगा, बिना एक क्षण गंवाए उसने पानी पिला दिया। पानी पीने के बाद यमराज ने बताया कि वो उसके प्राण लेने आये हैं..

प्रेरक कहानी: बस! अपने मां बाप की सेवा करो

एक छोटा सा बोर्ड रेहड़ी की छत से लटक रहा था, उस पर मोटे मारकर से लिखा हुआ था...
घर मे कोई नही है, मेरी बूढ़ी माँ बीमार है, मुझे थोड़ी थोड़ी देर में उन्हें खाना, दवा और टायलट कराने के लिए घर जाना पड़ता है, अगर आपको जल्दी है तो अपनी मर्ज़ी से फल तौल ले...

जगन्नाथ रथ यात्रा 2022

2022 में जगन्नाथ रथ यात्रा शुक्रवार, 01 जुलाई से शुरू हो रही है।

ऑस्ट्रेलिया में प्रसिद्ध हिंदू मंदिर कौन से हैं?

ऑस्ट्रेलिया में हिंदुओं के लिए बड़ी संख्या में मंदिर परिसर और समुदाय हैं, जो ऑस्ट्रेलिया में आने वाले प्रत्येक भारतीय का स्वागत करते हैं। इसलिए, यदि आप घर से बाहर महसूस कर रहे हैं या पूजा करने के लिए जगह की तलाश कर रहे हैं तो ये मंदिर ऑस्ट्रेलिया में घूमने के लिए सही जगह हैं।

दुर्गा पूजा धुनुची नृत्य

धुनुची नृत्य नाच दुर्गा पूजा के दौरान किया जाने वाला एक भक्ति नृत्य है और यह बंगाल की पारंपरिक नृत्य है। मां दुर्गा को धन्यवाद प्रस्ताव के रूप में पेश किया जाने वाला नृत्य शाम की दुर्गा आरती में ढाक बाजा, उलू ध्वनि की ताल पर किया जाता है।

ISKCON एकादशी कैलेंडर 2022

यह एकादशी तिथियाँ केवल वैष्णव सम्प्रदाय इस्कॉन के अनुयायियों के लिए मान्य है | Friday, 24 June 2022 योगिनी एकादशी व्रत कथा - Yogini Ekadasi Vrat Katha

सूजी का हलवा बनाने की विधि
सूजी का हलवा बनाने की विधि

भोग लगाने के लिए सूजी का हलवा तैयार करने के सरल विधि...

सिंघाड़े का हलवा बनाने की विधि
सिंघाड़े का हलवा बनाने की विधि

सिंघाड़े का हलवा बन कर तैयार हो जाता है। कतलियों को अपने स्वादानुसार काजू अथवा बादाम 1-1 चम्मच से सजा लेते हैं।

समा के चावल की खीर बनाने की विधि
समा के चावल की खीर बनाने की विधि

अधिकतम व्रत जिसमें अन्न ग्रहण करना वर्जित होता है, उस व्रत में समा के चावल की खीर का उपयोग किया जाता है। आइए जानें इसे बनाने की विधि...

Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel