टॉप मंदिर

  • प्राचीन श्री शिव शक्ति मंदिर


    प्राचीन श्री शिव शक्ति मंदिर

    भगवान शिव एवं माँ आदिशक्ति को समर्पित वैशाली का सबसे पुराना गौरी-शंकर मंदिर प्राचीन श्री शिव शक्ति मंदिर के नाम से जाना जाता है।

  • श्री केदार गौरी मंदिर

    श्री केदार गौरी मंदिर (Shri Kedar Gouri Temple) दो मंदिरों का समूह है श्री केदारेश्वर मंदिर और श्री केदारगौरी मंदिर है, मुक्तेश्वर मंदिर के मंदिर के पास स्थित है। यह भुवनेश्वर के आठ अस्तसंबु मंदिरों में से एक है।

  • गुह्येश्वरी शक्ति पीठ

    गुह्येश्वरी मंदिर में माता के दोनों घुटने गिरे होने के कारण यह श्री गुह्येश्वरी शक्तिपीठ कहलाया जाता है। यह मंदिर गुह्येश्वरी (गुप्त ईश्वरी) को समर्पित है, देवी को गुह्यकाली भी कहा जाता है।

  • श्री नीलम माता वैष्णो मंदिर

    यह पूर्वी दिल्ली का सबसे बड़ा, वही माँ वैष्णो का पवित्र धाम श्री नीलम माता वैष्णो मंदिर है।

  • श्री कैलाशपति मंदिर

    20 टन बजन का विशाल, दिल्ली का सबसे बड़ा शिवलिंग श्री कैलाशपति मंदिर के प्रथम पूज्य हैं। इतनी विशाल शिवलिंग को रखने के लिए मंदिर मे विशेष आधारशिला रखी गई है।

  • श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर

    कश्मीरी समाज के द्वारा बनी कमेटी ने श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर का निर्माण सेंट्रल पार्क के निकट कराया है। मंदिर में वैशाली का सबसे बड़ा शिवलिंग स्थापित है।

  • मंगल महादेव बिरला कानन

    मंगल महादेव बिड़ला कानन का उद्घाटन वर्ष 1994 की महा शिवरात्रि के अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री माननीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा एवं श्री सरल बसंत बिड़ला की उपस्थिति में किया गया।

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी: आरती

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी, तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी॥

श्री हनुमान जी आरती

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ आरती कीजै हनुमान लला की । दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥..

हे ज्योति रूप ज्वाला माँ: भजन

द्वारे तिहारे बड़ी भीड़ हो जगदम्बे-अम्बे, मैया द्वारे तेरे कन्या पुकारे...

हे शिव शंकर परम मनोहर: भजन

हे शिव शंकर परम मनोहर सुख बरसाने वाले, दुःख टालते भव से तार ते शम्भू भोले भाले..

शंकर शिव शम्भु साधु सन्तन सुखकारी: भजन

शंकर शिव शम्भु साधु सन्तन सुखकारी॥ निश दिन सिमरन करते, नाम पुण्यकारी॥

मन मेरा मंदिर, शिव मेरी पूजा: भजन

ॐ नमः शिवाय, सत्य है ईश्वर, शिव है जीवन, सुन्दर यह संसार है। तीनो लोक हैं तुझमे, तेरी माया अपरम्पार है॥

दिल्ली के प्रसिद्ध हनुमान बालाजी मंदिर
दिल्ली के प्रसिद्ध हनुमान बालाजी मंदिर

हनुमान जी श्री राम के बहुत बड़े भक्त हैं और भगवान शिव के अवतार हैं। हनुमान जी के माता-पिता का नाम अंजना और केसरी है इसलिए उन्हें अंजनी-पुत्रा और केसरी-नंदन कहा जाता है।

भुवनेश्वर के विश्व प्रसिद्ध मंदिर!
भुवनेश्वर के विश्व प्रसिद्ध मंदिर!

उड़ीसा राज्य की राजधानी भुवनेश्वर, अपनी प्राचीन शिल्प कला को सजोए रखने के लिए प्रसिद्ध है। आइए जानें अन्य मंदिरों के वारे में...

सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर
सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर

विश्व प्रसिद्ध श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, भगवान शिव के शिवलिंग रूप की नगरी है जो वैरावल क्षेत्र में आती है।

श्री हनुमान चालीसा
श्री हनुमान चालीसा

श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि। बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि॥

श्री शिव चालीसा
श्री शिव चालीसा

जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल मूल सुजान। कहत अयोध्यादास तुम, देहु अभय वरदान॥

श्री राम चालीसा
श्री राम चालीसा

श्री रघुबीर भक्त हितकारी । सुनि लीजै प्रभु अरज हमारी ॥ निशि दिन ध्यान धरै जो कोई । ता सम भक्त और नहिं होई ॥

महात्मा की समझ से लौटी सेना?: प्रेरक कहानी

महात्मा जी ने झोले से सिक्का निकाला और राजा की हथेली पर उसे रखते हुए कहा, हे नरेश, तुम्हारा राज्य धन-धान्य से संपन्न है।

महिला के शुभ कदम: प्रेरक कहानी

यह विधवा महिला है, जो चार अनाथ बच्चों की मां है। किसी से भी किसी तरह की मदद लेने को तैयार नहीं है। मैंने कई बार कोशिश की है और हर बार नाकामी मिली है।...

सबसे समर्थ और सच्चा साथी कौन?

एक छोटे से गाँव मे श्रीधर नाम का एक व्यक्ति रहता था, स्वभाव से थोड़ा कमजोर और डरपोक किस्म का इंसान था।..

अभिजीत मुहूर्त

अभिजीत मुहूर्त दोपहर के समय का शुभ मुहूर्त है जो लगभग 48 मिनट तक रहता है। अभिजीत मुहूर्त असंख्य दोषों को नष्ट करने में सक्षम है और सभी प्रकार के शुभ कार्यों को शुरू करने के लिए इसे सर्वश्रेष्ठ मुहूर्तों में से एक माना जाता है।

सावन शिवरात्रि विशेषांक 2021

जानें! सावन की शिवरात्रि से जुड़ी कुछ जानकारियाँ एवं सम्वन्धित प्रेरक तथ्य..

ISKCON एकादशी कैलेंडर 2021

यह एकादशी तिथियाँ केवल वैष्णव सम्प्रदाय इस्कॉन के अनुयायियों के लिए मान्य है | Wednesday, 4 August 2021 कामिका एकादशी व्रत कथा - Kamika Ekadasi Vrat Katha

शकुनि से जुड़ी कुछ जानकारियाँ..

शकुनि के पिता, माता, पत्नी, बेटे का क्या नाम था? युद्ध में सहदेव ने वीरतापूर्वक युद्ध करते हुए शकुनि और उलूक को घायल कर दिया और देखते ही देखते उलूक का वध दिया।

पंचामृत बनाने की विधि
पंचामृत बनाने की विधि

हिंदू / जैन समाज में पूजा के बाद पंचामृत प्रसाद के रूप में दिया जाता है। आइये जानते हैं! रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने मे सहायक पंचामृत बनाने की सरल विधि..

पारंपरिक मोदक बनाने की विधि!
पारंपरिक मोदक बनाने की विधि!

इनका प्रयोग गणेशोत्सव के दौरान भोग लगाने में किया जाता है, आइए जानते हैं पारंपरिक तरीके से मोदक बनाने की सरल विधि...

वृंदावन पंचामृत बनाने की विधि
वृंदावन पंचामृत बनाने की विधि

हिंदू / जैन समाज में पूजा के बाद पंचामृत प्रसाद के रूप में दिया जाता है। आइये जानते हैं! रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने मे सहायक पंचामृत बनाने की सरल विधि..

🔝