Top Mandirs

  • 108 Foot Sankat Mochan Dham


    108 Foot Sankat Mochan Dham

    108 फुट संकट मोचन धाम (108 Foot Sankat Mochan Dham) second highest Hanuman statue in the world founded by Brahamleen Nagababa Shri Sevagir Ji Maharaj (25 Jan, 2008) near Jhandewalan metro station. A Siddha Shri Shani Dev Mandir is also attached with main premises.

  • Shri Kalkaji Mandir

    श्री कालकाजी मंदिर (Shri Kalkaji Mandir) dedicated to Maa Aadi Shakti (Maa Kali), near Kalkaji Mandir metro station, also called Jayanti Peetha or Manokamna Siddha Peetha. Manokamna literally means desire, Siddha means fulfillment, and `Peetha` means shrine.

  • Shri Hinglaj Bhawani Mandir

    श्री हिंगलाज भवानी मंदिर (Shri Hinglaj Bhawani Mandir) inaugurated with the blesses of his holiness Shri Jagadguru Shankaracharya Swami Swaroopanand Saraswati Ji Maharaj Shankaracharya of Dwarakapeeth Dham in the Gujrat.

  • Shri Neelam Mata Vaishno Mandir

    The largest Maa Vaishno temple of East Delhi श्री नीलम माता वैष्णो मंदिर (Shri Neelam Mata Vaishno Mandir) in Mayur Vihar Phase II.

  • Myanmar Stupa Temple

    म्यांमार स्तुप मंदिर (Myanmar Stupa Temple) also called Burmese Temple built by Burmese monk.

आरती: श्री हनुमान जी

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम् ॥
वातात्मजं वानरयुथ मुख्यं, श्रीरामदुतं शरणम प्रपद्धे ॥

आरती: श्री शनिदेव जी

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।
सूरज के पुत्र प्रभु छाया महतारी॥जय जय..॥

आरती: ॐ जय जगदीश हरे

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे।
भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥ ॐ जय जगदीश हरे ॥

आरती: श्री बालाजी

ॐ जय हनुमत वीरा, स्वामी जय हनुमत वीरा।
संकट मोचन स्वामी तुम हो रनधीरा॥

माता श्री तुलसी चालीसा

जय जय तुलसी भगवती सत्यवती सुखदानी।
नमो नमो हरि प्रेयसी श्री वृन्दा गुन खानी॥

चालीसा: श्री हनुमान जी

श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि।
बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि॥

श्री लक्ष्मी चालीसा

मातु लक्ष्मी करि कृपा, करो हृदय में वास।
मनोकामना सिद्घ करि, परुवहु मेरी आस॥

श्री शिव चालीसा

जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल मूल सुजान। कहत अयोध्यादास तुम, देहु अभय वरदान॥

मंत्र: प्रातः स्मरण - दैनिक उपासना

कराग्रे वसते लक्ष्मी:, करमध्ये सरस्वती।
कर मूले तु गोविन्द:, प्रभाते करदर्शनम॥

मंत्र: ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः।

ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः। सर्वे सन्तु निरामयाः।
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु। मा कश्चित् दुःख भाग्भवेत्॥

मंत्र: शांति पाठ

ॐ द्यौ: शान्तिरन्तरिक्षँ शान्ति:,
पृथ्वी शान्तिराप: शान्तिरोषधय: शान्ति:।...

दिल्ली के प्रसिद्ध श्री शनिदेव मंदिर
दिल्ली के प्रसिद्ध श्री शनिदेव मंदिर

सूर्य देव के पुत्र श्री शनिदेव, नवग्रह के सदस्यों में से एक शनि ग्रह है। भक्त, साप्ताहिक दिन शनिवार को मुख्यतया इनकी पूजा-अर्चना करते हैं।

महाभारत के समय से दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर
महाभारत के समय से दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर

कलयुग प्रारंभ होने से पहिले, महाभारत युद्ध के समय से या उससे भी पहिले से बने दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर हैं।

दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर।
दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर।

दिल्ली और आस-पास के शहर नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर।

संकट के साथी को हनुमान कहते हैं॥

दुनिया के मालिक को भगवान कहते हैं
संकट के साथी को हनुमान कहते हैं॥

मेरी विनती यही है! राधा रानी

मेरी विनती यही है राधा रानी
कृपा बरसाए रखना, कृपा बरसाए रखना

तुम करुणा के सागर हो प्रभु!

तुम करुणा के सागर हो प्रभु
मेरी गागर भर दो थके पाँव है

तू प्यार का सागर है...

तू प्यार का सागर है, तेरी एक बूँद के प्यासे हम
लौटा जो दिया तूने, चले जायेंगे जहां से हम

आखिर कर्म ही महान है।

बुद्ध का प्रवचन सुनने के लिए गांव के सभी लोग उपस्थित थे, लेकिन वह भक्त ही कहीं दिखाई नहीं दे रहा था।...

मानव धर्म ही सर्वोपरि

एक विदेशी को अपराधी समझ जब राजा ने फांसी का हुक्म सुनाया तो उसने अपशब्द कहते हुए राजा के विनाश की कामना की।...

जिसका भी मनोबल जागा...

बचपन से ही उसे इस प्रकार से तैयार किया गया था कि युद्ध में शत्रु सैनिको को देखकर वो उनपर इस तरह टूट पड़ता कि देखते ही देखते शत्रु के पाँव उखड जाते।...

^
top