टॉप मंदिर

  • श्री कालकाजी मंदिर


    श्री कालकाजी मंदिर

    माँ आदिशक्ति के काली रूप को समर्पित यह श्री कालकाजी मंदिर, जिसे जयंती पीठ या मनोकामना सिद्ध पीठ भी कहा जाता है।

  • मोहन नगर माँ दुर्गा मंदिर

    मोहन नगर मंदिर में माँ दुर्गा एवं उनके नौ रूप अपने आशीर्वाद से अपने भक्तों का कल्याण कर रहें हैं। मंदिर में बड़ी संख्या में भक्तजन आने के कारण सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया है, अतः मुख्य मंदिर में अग्नि सुरक्षा प्रणाली को भी स्थापित किया गया है।

  • श्री मनन धाम

    श्री मननधाम परमपूजनीय श्री वैष्णो देवा माँ जी की प्रेरणा से शास्त्रअनुसार अती उतम वास्तुकला से बना मन्दिर है जिसे शंख वाला मन्दिर के नाम से ख्याति प्राप्त है।

  • माँ ब्रह्माणी मंदिर

    इटावा, फिरोजाबाद, आगरा, भिण्ड, ग्वालियर, मैनपुरी, औरैया जनपद एवं अन्य आस-पास के क्षेत्र की आस्था का सबसे बड़ा केंद्र है यह सिद्धपीठ माँ ब्रह्माणी देवी मंदिर, यह जगह/मंदिर/ क्षेत्र स्वयं में ही बरमानी नाम से ही प्रसिद्ध है। शारदीय नवरात्रि 2020: 17 October

  • शंख मंदिर

    श्री संतोषी माता मंदिर, मोहन भाई रामी और हीरा बहिन का लोकप्रिय एवं रचनात्मक सपना है, यह मंदिर लोगों के बीच मे शंख वाले मंदिर के नाम से लोकप्रिय है।

  • श्री चंद्रभागा शक्ति पीठ

    गुजरात के प्रभास क्षेत्र में त्रिवेणी संगम के निकट माँ सती के ५२ शक्तिपीठों में से एक चंद्रभागा शक्ति पीठ का वर्णन पुराणों में भी उल्लेखित किया गया है।

  • श्री विमलाम्बा शक्ति पीठ

    श्री विमलम्बा शक्ति पीठ गोवर्धन मठ के गुरु शंकराचार्य द्वारा प्रतिस्थापन मंदिर है। इस स्थान पर माँ सती की नाभि का रूप में जाना जाता है।

चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है: भजन

चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है। ऊँचे पर्वत पर रानी माँ ने दरबार लगाया है।

मैं तो आरती उतारूँ रे संतोषी माता की - माँ संतोषी भजन

मैं तो आरती उतारूँ रे संतोषी माता की। जय जय संतोषी माता जय जय माँ॥

सावन की बरसे बदरिया: भजन

सावन की बरसे बदरिया, माँ की भीगी चुनरीया, भीगी चुनरिया माँ की...

दुर्गा है मेरी माँ, अम्बे है मेरी माँ: भजन

दुर्गा है मेरी माँ अम्बे है मेरी माँ, जय बोलो जय माता दी, जो भी दर पे आए, जय हो...

दिल्ली के प्रसिद्ध शिव मंदिर
दिल्ली के प्रसिद्ध शिव मंदिर

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रमुख भगवान शिव मंदिर:

सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर
सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर

विश्व प्रसिद्ध श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, भगवान शिव के शिवलिंग रूप की नगरी है जो वैरावल क्षेत्र में आती है।

दिल्ली के प्रसिद्ध श्री शनिदेव मंदिर
दिल्ली के प्रसिद्ध श्री शनिदेव मंदिर

सूर्य देव के पुत्र श्री शनिदेव, नवग्रह के सदस्यों में से एक शनि ग्रह है। भक्त, साप्ताहिक दिन शनिवार को मुख्यतया इनकी पूजा-अर्चना करते हैं।

श्री राम स्तुति: श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन

श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन हरण भवभय दारुणं। नव कंज लोचन कंज मुख...

संकट मोचन हनुमानाष्टक

बाल समय रवि भक्षी लियो तब।.. लाल देह लाली लसे, अरु धरि लाल लंगूर।...

हाथ जोड़ विनती करू तो सुनियो चित्त लगाये!

हाथ जोड़ विनती करू तो सुनियो चित्त लगाये, दस आ गयो शरण में रखियो इसकी लाज...

भजन: जय राम रमा रमनं समनं।

जय राम राम रमनं समनं। भव ताप भयाकुल पाहि जनम॥ अवधेस सुरेस रमेस बिभो।...

श्री शिव चालीसा
श्री शिव चालीसा

जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल मूल सुजान। कहत अयोध्यादास तुम, देहु अभय वरदान॥

श्री हनुमान चालीसा
श्री हनुमान चालीसा

श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि। बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि॥

चालीसा: श्री शनिदेव जी
चालीसा: श्री शनिदेव जी

जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल करण कृपाल। दीनन के दुख दूर करि...

प्रेरक कहानी: अपने प्रारब्ध स्वयं अपने हाथों से काटे...

प्रभु कहते है कि, मेरी कृपा सर्वोपरि है, ये अवश्य आपके प्रारब्ध काट सकती है, लेकिन फिर अगले जन्म मे आपको ये प्रारब्ध भुगतने फिर से आना होगा। यही कर्म नियम है।

सत्संग के महत्व!

मैं काफी दिनों से आपके सत्संग सुन रहा हूं, किंतु यहां से जाने के बाद मैं अपने गृहस्थ जीवन में वैसा सदाचरण नहीं कर पाता, जैसा यहां से सुनकर जाता हूं।

अपनी शिक्षाओं की बोली ना लगने दें!

एक नगर में रहने वाले एक पंडित जी की ख्याति दूर-दूर तक थी। पास ही के गाँव में स्थित मंदिर के पुजारी का आकस्मिक निधन होने की वजह से...

चैत्र नवरात्रि विशेष 2021

हिंदू पंचांग के प्रथम माह चैत्र मे, नौ दिनों तक चलने वाले नवरात्रि पर्व में व्रत, जप, पूजा, भंडारे, जागरण आदि में माँ के भक्त बड़े ही उत्साह से भाग लेते है। Navratri Dates 13 April - 21 April 2021

हनुमान जयंती विशेष 2021

चैत्र शुक्ल पूर्णिमा के दिन सभी हनुमान भक्त श्री हनुमान जन्मोत्सव अर्थात हनुमान जयंती बड़ी धूम-धाम से मानते हैं। इस वर्ष यह आयोजन 27 अप्रैल 2021 के दिन है।

सावन शिवरात्रि विशेषांक 2021

जानें! सावन की शिवरात्रि से जुड़ी कुछ जानकारियाँ एवं सम्वन्धित प्रेरक तथ्य..

कोरोना: लॉकडाउन, जनता कर्फ्यू, क्वारंटाइन के समय क्या पढ़ें?

कोरोना वायरल महामारी दौरान लोगों को लॉकडाउन, जनता कर्फ्यू, क्वारंटाइन, पृथक, आइसोलेट जैसी परिस्थितियों के साथ रहना पड़ रहा है..

सिंघाड़े का हलवा बनाने की विधि
सिंघाड़े का हलवा बनाने की विधि

सिंघाड़े का हलवा बन कर तैयार हो जाता है। कतलियों को अपने स्वादानुसार काजू अथवा बादाम 1-1 चम्मच से सजा लेते हैं।

सूजी की खीर बनाने की विधि
सूजी की खीर बनाने की विधि

सूजी की खीर बनाते समय यह ध्यान अवश्य रखना चाहिए। कि बनाते समय खीर को चमचे की सहायता से थोड़ी-थोड़ी देर में अवश्य चलाते रहें।

गाजर का हलवा बनाने की विधि
गाजर का हलवा बनाने की विधि

कटे हुए मेवे में से कुछ मेवे गाजर का हलवा को सजाने के लिए बचा लेते हैं।...

🔝