Sawan 2022Download Bhakti Bharat APP

पीताम्बरा पीठ - Pitambara Peeth

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • माँ बगलामुखी की विश्व प्रसिद्ध पीठ।
  • मंदिर में माँ बगलामुखी यंत्र स्थापित हैं।

माँ पीताम्बरा सिद्धपीठ मध्य प्रदेश के दतिया जिले में स्थित है। इसकी स्थापना 1935 में हुई थी। यहाँ माता के दर्शन के लिए कोई अलंकृत द्वार नहीं है, बल्कि एक छोटी सी खिड़की है, जो माता के दर्शन का सौभाग्य देती है। यहाँ भक्तों का मेला हर समय लगता है, लेकिन नवरात्रि में माता की पूजा का विशेष फल मिलता है।

माता पीतांबरा देवी के रूप:
माता पीताम्बरा चतुर्भुज रूप में विराजमान हैं। उनके एक हाथ में गदा, दूसरे में लूप, तीसरे में वज्र और चौथे हाथ में एक राक्षस की जीभ है। यहां भक्त एक छोटी सी खिड़की से माता के दर्शन करते हैं।

देवी के इस रूप को शत्रुओं के विनाश का अधिष्ठाता देवता माना जाता है। इसके अलावा वह शक्ति की देवी भी हैं। यहां जो भक्त राज्य पर शासन करना चाहते हैं, वे माता की गुप्त पूजा करते हैं।

देवी तीन चरणों में अलग-अलग रूप लेती हैं। यदि किसी भक्त ने सुबह माता का कोई रूप देखा हो तो दूसरे प्रहर में उसे दूसरा रूप देखने का सौभाग्य प्राप्त होता है। तीसरे प्रहर में भी माता का स्वरूप बदला हुआ प्रतीत होता है। माता के बदलते स्वरूप का रहस्य आज तक कोई नहीं जान पाया। इसे चमत्कार माना जाता है। कहा जाता है कि यहां पीले वस्त्र और पीले भोजन का भोग लगाने से भक्त की हर मनोकामना पूरी होती है।

माँ पीताम्बरा देवी पीठ में अन्य मंदिर:
इस स्थान पर श्री गोलोकवासी स्वामीजी महाराज द्वारा बगलामुखी देवी और धूमवती माता की स्थापना की गई थी। पीताम्बरा पीठ में स्थित वनखंडेश्वर मंदिर महाभारत काल का शिव मंदिर है। सावन और शिवरात्रि के सोमवार को यहां दूर-दूर से श्रद्धालु शिवलिंग के दर्शन के लिए आते हैं। क्षेत्र में परशुराम, हनुमान, काल भैरव और अन्य देवताओं के मंदिर भी हैं।

कैसे पहुंचे मां पीतांबरा देवी पीठ
माँ पीताम्बरा देवी पीठ मध्य प्रदेश के दतिया शहर में स्थित है, निकटतम हवाई अड्डा ग्वालियर है इसके अलावा यह ट्रेन और बस द्वारा भी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

प्रचलित नाम: बगलामुखी मंदिर दतिया , बगलामुखी माता मंदिर, श्री पीताम्बरा पीठ दतिया

समय - Timings

दर्शन समय
6.00 AM - 12.00 PM, 4.30 PM - 9:30 PM
07:00 AM: प्रभात आरती
07:15 AM: माँ धूमावती आरती (शनिवार)
08:00 AM: माँ धूमावती आरती
06:45 PM: माँ धूमावती आरती (शनिवार)
07:00 PM: संध्या आरती
08:00 PM: माँ धूमावती आरती
08:30 PM: श्रृंगार आरती
09:00 PM: शायन आरती

मां पीतांबरा देवी की पौराणिक कथा

कहा जाता है कि यहां माता की मूर्ति को छूना मना है। ऐसा कहा जाता है कि माता बगुलामुखी पीतांबरा देवी हैं, इसलिए उन्हें पीली चीजें अर्पित की जाती हैं। यहां भक्त विशेष अनुष्ठान करते हैं और माता को पीले वस्त्र चढ़ाते हैं। पीताम्बरा शक्ति पीठ में विराजी बगुलामुखी माई को राजनीति की देवी भी माना जाता है। राजनीतिक प्रतिद्वंदी पर जीत की चाह में लोग यहां आवेदन करने भी आते हैं।

राष्ट्रपति, मंत्री यहां नियमित रूप से आते रहे हैं। यहां माता पीतांबरा के साथ खांडेश्वर महादेव और धूमावती के दर्शन का सौभाग्य प्राप्त होता है। दस महाविद्याओं में से एक माता धूमावती महादेव के दरबार से निकलती हैं। मां धूमावती को केवल आरती के दौरान ही देखा जा सकता है, बाकी समय मंदिर के कपाट बंद रहते हैं।

ऐतिहासिक सत्य
पीताम्बरा पीठ मंदिर से एक ऐतिहासिक सत्य भी जुड़ा है। 1962 में चीन ने भारत पर आक्रमण कर दिया। तभी एक योगी ने पंडित जवाहरलाल नेहरू को स्वामी महाराज से मिलने के लिए कहा। स्वामी महाराज ने राष्ट्रहित में 51 कुण्डीय महायज्ञ करने की बात कही।

यज्ञ के नौवें दिन, जब यज्ञ समाप्त होने वाला था, नेहरू को 'संयुक्त राष्ट्र' से एक संदेश मिला कि चीन ने हमला रोक दिया है, और 11 वें दिन, अंतिम बलिदान के साथ, चीन ने अपनी सेना वापस ले ली थी।

वह यज्ञशाला आज भी मंदिर प्रांगण में बनी हुई है। इसी तरह 1965 और 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में भी यहाँ फिर से गुप्त रूप से साधनाएँ और यज्ञ किए गए।

Pitambara Peeth in English

Maa Pitambara Sidhpeeth is situated in Datia district of Madhya Pradesh. Although there is a fair of devotees all the time, in Navratri, special fruits of worship of the Mata are obtained.

जानकारियां - Information

धर्मार्थ सेवाएं
माँ पीतांबरा म्यूज़ियम
समर्पित
माता बगुलामुखी
फोटोग्राफी
🚫 नहीं (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)
नि:शुल्क प्रवेश
हाँ जी

कैसे पहुचें - How To Reach

सड़क/मार्ग 🚗
Gwalior - Jhansi Road
रेलवे 🚉
Datia
हवा मार्ग ✈
Gwalior Airport, Datia Airstrip
नदी ⛵
Sindh
वेबसाइट 📡
सोशल मीडिया
Download App
निर्देशांक 🌐
25.663655°N, 78.460973°E
पीताम्बरा पीठ गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/pitambara-peeth

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती माँ लक्ष्मीजी - ॐ जय लक्ष्मी माता

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता। तुमको निसदिन सेवत, हर विष्णु विधाता॥

श्री गणेश आरती

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥...

ॐ जय जगदीश हरे आरती

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे। भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App