होलिका दहन | चैत्र नवरात्रि | आज का भजन! | भक्ति भारत को फेसबुक पर फॉलो करें!

प्राचीन शिव शक्ति मंदिर


updated: Aug 26, 2015 06:22 AM About | Timing | Photo Gallery | How to Reach | Comments


प्राचीन शिव शक्ति मंदिर (Prachin Shiv Shakti Mandir) - Sector 3 Vaishali, Ghaziabad Uttar Pradesh - 201010 Ghaziabad Uttar Pradesh

प्राचीन शिव शक्ति मंदिर (Prachin Shiv Shakti Mandir) dedicated to Lord Shiv and Maa Aadi Shakti and her other forms of Navdurga, near Mahagun Metro Mall.

ये भी जानें

समय सारिणी

दर्शन समय
5:00 AM - 12:00 PM, 4:00 PM - 10:00 PM
5:00 AM - 12:00 PM, 4:00 PM - 11:00 PM [TUE/SAT]
त्यौहार

फोटो प्रदर्शनी

Photo in Full View
A full view of main Bhawan

A full view of main Bhawan

Main entry of main Bhawan

Main entry of main Bhawan

Shir Sai Ji Maharaj

Shir Sai Ji Maharaj

Vat Vriksh (वट वृक्ष) in temple premises

Vat Vriksh (वट वृक्ष) in temple premises

Two corridor for two different Bhawan

Two corridor for two different Bhawan

Greenery with Holy Banana Tree in temple premises

Greenery with Holy Banana Tree in temple premises

Information Board

Information Board

जानकारियां

धाम
Maa DurgaLord Shiv Family & ShivlingShri Lakshmi NarayanShri Ram FamilyMaa kaliShri Hanuman JiShri Sai Maharaj Ji
Shi Bherav Nath JiShri Shani Dev JiNavgrah DhamHawan ShalaVat Vriksh (वट वृक्ष)Banana Tree
बुनियादी सेवाएं
Drinking Water, Prasad
धर्मार्थ सेवाएं
Dharmshala
देख-रेख संस्था
Prachin Shiv Shakti Mandir Samiti
समर्पित
Lord Shiv
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

कैसे पहुचें

कैसे पहुचें
मेट्रो: Vaishali, Kaushambi | क्या संभव है? दिल्ली मेट्रो से मंदिर दर्शन...
सड़क/मार्ग: Madan Mohan Malviya Marg (Anand Vihar to Mohannagar Rd)
Near Mahagun Metro Mall
पता
Sector 3 Vaishali, Ghaziabad Uttar Pradesh - 201010 Ghaziabad Uttar Pradesh
निर्देशांक
28.6442358°N, 77.3369707°E
प्राचीन शिव शक्ति मंदिर गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/prachin-shiv-shakti-mandir

अगला मंदिर दर्शन

अपने विचार यहाँ लिखें

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती युगलकिशोर की कीजै!

आरती युगलकिशोर की कीजै। तन मन धन न्योछावर कीजै॥ गौरश्याम मुख निरखन लीजै।...

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥ गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला।...

माता श्री गायत्री जी की आरती

जयति जय गायत्री माता, जयति जय गायत्री माता। सत् मारग पर हमें चलाओ, जो है सुखदाता॥

close this ads
^
top