close this ads

आरती: श्री हनुमान जी


श्री हनुमान जन्मोत्सव, मंगलवार व्रत, शनिवार पूजा, बूढ़े मंगलवार और अखंड रामायण के पाठ में प्रमुखता से गाये जाने वाली आरती है।

॥ श्री हनुमंत स्तुति ॥
मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम् ॥
वातात्मजं वानरयुथ मुख्यं, श्रीरामदुतं शरणम प्रपद्धे ॥

॥ आरती ॥
आरती किजे हनुमान लला की। दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥

जाके बल से गिरवर काँपे। रोग दोष जाके निकट ना झाँके ॥
अंजनी पुत्र महा बलदाई। संतन के प्रभु सदा सहाई ॥

दे वीरा रघुनाथ पठाये। लंका जाये सिया सुधी लाये ॥
लंका सी कोट संमदर सी खाई। जात पवनसुत बार न लाई ॥

लंका जारि असुर संहारे। सियाराम जी के काज सँवारे ॥
लक्ष्मण मुर्छित पडे सकारे। आनि संजिवन प्राण उबारे ॥

पैठि पताल तोरि जम कारे। अहिरावन की भुजा उखारे ॥
बायें भुजा असुर दल मारे। दाहीने भुजा सब संत जन उबारे ॥

सुर नर मुनि जन आरती उतारे। जै जै जै हनुमान उचारे ॥
कचंन थाल कपूर लौ छाई। आरती करत अंजनी माई ॥

जो हनुमान जी की आरती गाये। बसहिं बैकुंठ परम पद पायै ॥
लंका विध्वंश किये रघुराई। तुलसीदास स्वामी किर्ती गाई ॥

आरती किजे हनुमान लला की। दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥
॥ इति संपूर्णंम् ॥

Read Also:
» हनुमान जयंती - Hanuman Jayanti
» दिल्ली के प्रसिद्ध हनुमान बालाजी मंदिर!
» श्री हनुमान जी की आरती | संकट मोचन हनुमानाष्टक | श्री हनुमान चालीसा | श्री बालाजी की आरती | श्री हनुमान बाहुक | श्री हनुमान साठिका
» श्री हनुमान गाथा | भजन: राम ना मिलेगे हनुमान के बिना | भजन: बजरंगबली मेरी नाव चली

Hindi Version in English

Popular Aarti prominently sing during Hanuman Janmotsav, Mangalwar Vrat, Shaniwar Pooja, Boodhe Mangal and Akhand Ramayana.

॥ Shri Hanuman Stuti ॥
Manojavm maaruta tulyavegam। jitendriyam buddhimatam varissttha॥
Vaatatmajam Vaanarayutha mukhyam। Shriiramdutam sharanam prapadye॥

॥ Aarti ॥
Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki। Dushat Dalan Ragunath Kala Ki॥

Ja Ke Bal Se Giriver Kaanpe। Rog Dosh Ja Ke Nikat Na Jaanke॥
Anjani Putra Mahabaldaye। Santan Ke Prabhu Sada Sahaye॥

De Beeraha Raghunath Pathai। Lanka Jaari Siya Sudhi Laiye॥
Lanka So Kot Samundra Se Khaiy। Jaat Pavan Sut Baar Na Laiye॥

Lanka Jaari Asur Sab Maare। Siya Ramji Ke Kaaj Sanvare॥
Lakshman Moorchit Parhe Sakare। Aan Sajeevan Pran Ubhaare॥

Paith Pataal Tori Yamkare। Ahiravan Ke Bhuja Ukhaare॥
Baayen Bhuja Asur Dal Mare। Daayen Bhuja Sab Santa Jana Tare॥

Surnar Munijan Aarti Utare। Jai Jai Jai Hanuman Uchaare॥
Kanchan Thaar Kapoor Lo Chhai। Aarti Karat Aajani Mai॥

Jo Hanumanji Ki Aarti Gaave। Basi Baikuntha Amar Padh Pave॥
Lanka Vidvance Kiye Ragurai। Tulsidas Swami Aarti Gaaie॥

Aarti Ki Jai Hanuman Lala Ki। Dushat Dalan Ragunath Kala Ki॥

॥ Eti Sampuarnam ॥

AartiShri Hanuman AartiBajrangbali Aarti


If you love this article please like, share or comment!

* If you are feeling any data correction, please share your views on our contact us page.
** Please write your any type of feedback or suggestion(s) on our contact us page. Whatever you think, (+) or (-) doesn't metter!

सुन मेरी देवी पर्वतवासनी!

स्तुति श्री हिंगलाज माता और श्री विंध्येश्वरी माता सुन मेरी देवी पर्वतवासनी...

आरती: जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी।

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी, तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी॥

श्री चिंतपूर्णी देवी की आरती

चिंतपूर्णी चिंता दूर करनी, जग को तारो भोली माँ, काली दा पुत्र पवन दा घोड़ा...

आरती: माँ दुर्गा, माँ काली

अम्बे तू है जगदम्बे काली जय दुर्गे खप्पर वाली। तेरे ही गुण गाये भारती...

शीतला माता की आरती

जय शीतला माता, मैया जय शीतला माता। आदि ज्योति महारानी, सब फल की दाता॥

आरती: श्री हनुमान जी

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ वातात्मजं वानरयुथ मुख्यं, श्रीरामदुतं शरणम प्रपद्धे॥

आरती: श्री बालाजी

ॐ जय हनुमत वीरा, स्वामी जय हनुमत वीरा। संकट मोचन स्वामी तुम हो रनधीरा॥

आरती: श्री गंगा मैया जी

ॐ जय गंगे माता श्री जय गंगे माता। जो नर तुमको ध्याता मनवांछित फल पाता॥हर हर गंगे, जय माँ गंगे...

आरती: श्री गणेश - शेंदुर लाल चढ़ायो!

शेंदुर लाल चढ़ायो अच्छा गजमुखको। दोंदिल लाल बिराजे सुत गौरिहरको।...

आरती: श्री गणेश जी

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥...

^
top