Download Bhakti Bharat APP

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ - Statue of Belief

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • 351 फुट दुनिया की सबसे ऊंची शिव मूर्ति।
  • 2500 टन रिफाइंड स्टील के साथ, 2016 से बनना प्रारम्भ।
  • 25 फीट ऊँचे नंदी की स्थापना।
  • अभी औपचारिक रूप से आम जन को समर्पित नहीं की गई है।

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ (विश्वास स्वरूपम्) 351 फीट (107 मीटर) ऊँची, भगवान शिव की दुनिया में सबसे बड़ी शिव मूर्ति है। वैसे तो राजस्थान का नाथद्वारा शहर श्रीनाथजी मंदिर के लिए प्रसिद्ध है, परन्तु अब भगवान श्री कृष्ण का यह शहर भगवान शिव के स्टेचू ऑफ लॉर्ड शिव के रूप में भी जाना जाने लगा है।

शिव प्रतिमा विश्वास स्वरूपम का लोकार्पण समारोह - [दिनांक 29 अक्टूबर से 6 नवंबर 2022]
श्रीनाथजी की नगरी नाथद्वारा में विश्व की सबसे ऊंची शिव प्रतिमा विश्वास स्वरूपम के लोकार्पण समारोह में आप सभी नाथद्वारा राजस्थान में सादर आमंत्रित है!
❀ 3 नवम्बर 2022 को हंसराज जी के द्वारा भजनों का गायन किया जाएगा।
❀ 5 नवम्बर 2022 को कैलाश खेर का आगमन होगा।
❀ 29 अक्टूबर से 6 नवंबर 2022 तक पूज्य श्री मुरारी बापू द्वारा राम कथा वाचन किया जाएगा।

भगवान शिव की इस मूर्ति की कल्पना मिराज समूह के अध्यक्ष श्री मदन पालीवाल द्वारा की गई थी। यह मूर्ति नाथद्वारा में गणेश टेकरी के निकट ही निर्मित की गई है।

यह प्रतिमा भगवान शिव को एक पहाड़ी के ऊपर एक शिलानुमा कुर्सी पर बैठी मुद्रा को दर्शाती है जो नाथद्वारा शहर की और देख रहे हो।

मूर्ति के शीर्ष शिखर पर भगवान शिव की जटाओं से निकलती हुईं गंगाजी भगवान का अभिषेक करतीं हुई सी बह रही हैं। भगवान शिव को आस्था, श्रद्धा और प्रेम से उनके विशाल एवं दिव्य स्वरूप के मुख को निहारते हुए, 25 फीट ऊँचे प्रमुख गण नंदी स्थापित हैं।

भगवान शिव की यह विशाल एवं अद्भुत मूर्ति पूर्ण हो चुकी है, परन्तु अभी भी यह औपचारिक रूप से आम जन के लिए नहीं खोली गई है, आशा है शिव भक्त जल्दी ही निकट से सहर्षं कर सकेंगे।

मूर्ति की संरचनात्मक 250 किमी प्रति घंटे गति से चलने वाली हवा तथा भूकंप रोधक प्रणाली से निर्मित है।

शिव मूर्ति के साथ साथ ही भीतर ध्यान कक्ष, आगंतुक कक्ष और एक वीआईपी लाउंज की सुविधा भी दी गई है। परिसर में पार्किंग, फुटपाथ, जल निकाय, पुल, फूड कोर्ट, हस्तशिल्प की दुकानें और बच्चों के मनोरंजन हेतु पार्क की सुविधाएं हैं।

प्रचलित नाम: विश्वास स्वरूपम्, स्टैचू ऑफ बेलिएफ, स्टेचू ऑफ लॉर्ड शिव नाथद्वारा

समय - Timings

Statue of Belief in English

Statue of Belief 351 feet high, is the largest Shiva idol in the world of Lord Shiva. Established 25 Feet High Nandi. Formally Not Opened For The General Public..

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

स्टैच्यू ऑफ बिलीफ

जानकारियां - Information

संस्थापक
मिराज समूह
स्थापना
आम जनता के लिए नहीं खोला गया।
देख-रेख संस्था
मिराज समूह
समर्पित
भगवान शिव
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)
नि:शुल्क प्रवेश
हाँ जी

क्रमवद्ध - Timeline

2016

शिव मूर्ति बनना प्रारम्भ।

2020

मुक्ति निर्माण कार्य का समापन।

वीडियो - Video Gallery

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Ganesh Tekri Nathdwara Rajasthan
सड़क/मार्ग 🚗
Udaipur Road >> 120 Feet Road
नदी ⛵
Banas
वेबसाइट 📡
सोशल मीडिया
Facebook
निर्देशांक 🌐
24.921358°N, 73.817722°E
स्टैच्यू ऑफ बिलीफ गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/statue-of-belief

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

भगवद्‍ गीता आरती

जय भगवद् गीते, जय भगवद् गीते। हरि-हिय-कमल-विहारिणि सुन्दर सुपुनीते॥

ॐ जय जगदीश हरे आरती

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे। भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

आरती कुंजबिहारी की

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥ गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला।...

Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App