🗡️कल्कि जयंती - Kalki Jayanti

Kalki Jayanti Date: 3 August 2022

भगवान विष्णु के दसवें अवतार भगवान कल्कि का अवतरण कलियुग के अंत में होगा, भगवान कल्कि के इस अवतरण दिवस को कल्कि जयंती के नाम से जाना जाता है।

कलयुग के अंत में जब पृथ्वी पर पाप बहुत अधिक बढ़ जाएगा, तब दुष्टों के संहार के लिए भगवान विष्णु, कल्कि अवतार में प्रकट होंगे। कल्कि को भगवान विष्णु का अंतिम अवतार माना गया है। भगवान कल्कि का अवतार कलियुग तथा सतयुग के संधिकाल में होगा। भगवान कल्कि के घोड़े का नाम देवदत्त होगा, एवं उनके गुरु परशुराम होंगे।

कल्कि अवतार का उल्लेख गुरु गोबिंद सिंह द्वारा रचित ऐतिहासिक सिख ग्रंथ दसम ग्रंथ के चौबिस(24) अवतार खंड में भी मिलता है।

श्रीजयदेव गोस्वामी द्वारा रचित श्रीगीतगोविन्दम के श्री दशावतार स्तोत्र में भी भगवान कल्कि को श्रीहरि का दसवाँ अवतार बताया गया है।
म्लेच्छ-निवह-निधने कलयसि करवालम्
धूमकेतुम् इव किम् अपि करालम्
केशव धृत-कल्कि-शरीर जय जगदीश हरे ॥10॥
अर्थात: हे जगदीश्वर श्रीहरे ! हे केशिनिसूदन ! आपने कल्किरूप धारणकर म्लेच्छोंका विनाश करते हुए धूमकेतुके समान भयंकर कृपाणको धारण किया है। आपकी जय हो ॥

Kalki Jayanti in English

Bhagwan Kalki is the tenth incarnation of Bhagwan Vishnu, He will take place at the end of Kali Yuga, this incarnation day of Bhagwan Kalki is known as Kalki Jayanti.

संबंधित जानकारियाँ

भविष्य के त्यौहार
22 August 202310 August 202430 July 202518 August 20267 August 2027
आवृत्ति
वार्षिक
समय
1 दिन
सुरुआत तिथि
श्रावण शुक्ल षष्ठी
समाप्ति तिथि
श्रावण शुक्ल षष्ठी
महीना
जुलाई / अगस्त
कारण
भगवान कल्कि का अवतरण दिवस
उत्सव विधि
भजन, कीर्तन
महत्वपूर्ण जगह
घर, भगवान विष्णु मंदिर
पिछले त्यौहार
13 August 2021, 25 July 2020
अगर आपको यह त्यौहार पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस त्यौहार को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

मंदिर

Download BhaktiBharat App Go To Top