Hanuman Chalisa

👫🏻भाई दूज - Bhai Dooj

Bhai Dooj Date: Tuesday, 14 November 2023
Bhai Dooj

त्योहार का अंतिम दिन भाई दूज, भैया दूजी या भाई टीका के रूप मे मनाया जाता है। यह बहन-भाई के प्यारे रिश्ते से जुड़े रक्षाबंधन की तरह, लेकिन कुछ विभिन्न अनुष्ठानों के साथ मनाया जाता है। यह धार्मिक दिन भाई - बहन के प्रेम की घनिष्ठता को जीवंत करता है।

इस दिन को यम द्वितीया भी कहते हैं। भाई दूज के दिन से ही पांच दिवसीय दीवाली उत्सव का समापन हो जाता है। यह पर्व कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाता है। इस दिन बहनें रोली एवं अक्षत से अपने भाई का तिलक कर उसके उज्ज्वल भविष्य के लिए आशीष देती हैं। साथ ही भाई अपनी बहन को कुछ उपहार या दक्षिणा देता है। भैया दूज पर्व को मनाने की विधि हर जगह एक जैसी नहीं है। उत्तर भारत में, इस दिन बहनें भाई को अक्षत व तिलक लगाकर नारियल देती हैं वहीं पूर्वी भारत में बहनें शंखनाद के बाद भाई को तिलक लगाती हैं और भेंट स्वरूप कुछ उपहार देती हैं।

मान्यता है कि, इस दिन शाम के समय बहनें यमराज के नाम से चौमुख दीया जलाकर घर के बाहर रखती हैं। इस समय ऊपर आसमान में चील उड़ता दिखाई दे तो बहुत ही शुभ माना जाता है। माना जाता है कि बहनें भाई की आयु के लिए जो दुआ मांग रही हैं उसे यमराज ने स्वीकार कर लिया है या चील जाकर यमराज को बहनों का संदेश सुनाएगा।

भाई दूज 2022 तिथि और शुभ समय
इस साल भाई दूज 26 अक्टूबर 2022 को मनाया जाएगा
भाई दूज पर तिलक का समय: 12:14 से 12:47 तक तिलक अवधि: 0 घंटे 33 मिनट

भाई दूज के दिन भाई को तिलक लगाने का सही बिधि
❀ प्रात:काल स्नान कर स्वच्छ वस्त्र धारण कर भगवान की आराधना करें।
❀ मुहूर्त से पहले भाई के तिलक के लिए थाली सजाएं जैसे थाली में कुमकुम, सिंदूर, चंदन, फल, फूल, मिठाई, अक्षत और सुपारी रखें।
❀ पिसे हुए चावल के आटे या बैटर से चौकोर बना लें और शुभ मुहूर्त में भाई को इस चौक पर बिठा दें।
❀ यह सब बिधि के बाद भाई को तिलक करें और उसके बाद भाई को फूल, सुपारी, बताशे और काले चने दें और उनकी आरती करें।
❀ तिलक और आरती के बाद भाई को मिठाई खिलाएं और अपने हाथों से बना हुआ खाना खिलाएं।
❀ भाई दूज पर टीका करते समय, बहन को भाई के लिए इस मंत्र का जाप करना चाहिए: गंगा पूजे यमुना को, यमी पूजे यमराज को। सुभद्रा पूजे कृष्ण को, गंगा यमुना नीर बहे मेरे भाई आप बढ़ें, फूले-फलें।

संबंधित अन्य नामभैया दूज, भैया दूजी, भाई टीका, यम द्वितीया
सुरुआत तिथिकार्तिक शुक्ला द्वितीया

Bhai Dooj in English

Bhai Dooj is celebrated like the Rakshabandhan associated with the dear relationship of sister-brother but with some different rituals. This religious day brings alive the intimacy of brotherly love.

भाई दूज 2022 मुहूर्त

इस वर्ष भाई दूज दो दिन अर्थात 26 एवं 27 अक्टूबर को कार्तिक कृष्ण द्वितीया तिथि लग रही है। 26 अक्टूबर को दिन में 2 बजकर 42 मिनट से द्वितीया तिथि प्रारंभ होकर 27 अक्टूबर को दोपहर 12 बजकर 45 तक रहेगी।

26 अक्टूबर को भाई दूज पूजा करने वालों के लिए शुभ मुहूर्त 1 बजकर 12 मिनट से 3 बजकर 27 रहेगा। ऐसे में 26 अक्टूबर को ही भाई दूज का पर्व मनाना शास्त्र के अनुकूल रहेगा।

अधिकतर लोग उदया तिथि के अनुसार त्योहार मानते हैं। इस स्थिति में 27 अक्टूबर को भी भाई दूज की पूजा की जा सकती है. अतः 27 अक्टूबर को जो लोग भाई दूज का पर्व मनाएंगे, उनके लिए शुभ मुहूर्त 11 बजकर 07 मिनट से 12 बजकर 46 मिनट तक ही रहेगा।

संबंधित जानकारियाँ

भविष्य के त्यौहार
3 November 202423 October 202511 November 202631 October 2027
आवृत्ति
वार्षिक
समय
1 दिन
सुरुआत तिथि
कार्तिक शुक्ला द्वितीया
महीना
अक्टूबर / नवंबर
पिछले त्यौहार
27 October 2022, 26 October 2022

फोटो प्रदर्शनी

फुल व्यू गैलरी
Diwali 2022 Schedule

Diwali 2022 Schedule

अगर आपको यह त्योहार पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस त्योहार को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

Hanuman Chalisa - Aditya Hridaya Stotra -
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App