करवा चौथ | अहोई अष्टमी | आज का भजन!

नृसिंह जयंती - Narasimha Jayanti


Updated: May 11, 2019 12:33 PM बारें में | संबंधित जानकारियाँ | यह भी जानें


आने वाले त्यौहार: 6 May 2020
नृसिंह चतुर्दशी के दिन भगवान विष्णु अपने भक्त प्रहलाद के रक्षण हेतु अर्ध सिंह व अर्ध मनुष्य रूप में प्रकट हुए, भगवान के इस रूप को नृसिंह कहा गया।

नृसिंह चतुर्दशी के दिन भगवान विष्णु अपने भक्त प्रहलाद के रक्षण हेतु अर्ध सिंह व अर्ध मनुष्य रूप में प्रकट हुए, भगवान के इस रूप को नृसिंह कहा गया। वैशाख शुक्ल चतुर्दशी त्योहार व उसके नियम, दिशानिर्देश और उपवास की प्रक्रिया एकादशी उपवास के समान ही हैं। नृसिंह जयंती से एक दिन पहिले भक्त केवल एक ही प्रहर भोजन खाते हैं। मान्यता के अनुसार सूर्यास्त के दौरान भगवान नृसिंह का प्राकट्य. हुआ था। इसलिए, यह सलाह दी जाती है कि रात को और अगले दिन सुबह विसर्जन पूजा करें। विसर्जन पूजा और दान-दक्षिणा करने के बाद अगले दिन उपवास तोड़ा जाना चाहिए।

संबंधित अन्य नाम
नृसिंह चतुर्दशी

Narasimha Jayanti - Available in English

On Narasimha Chaturdashi Lord Vishnu appeared as Lord Narasimha in the form of a half lion and half man, to save His Bhakt Prahlad.

संबंधित जानकारियाँ

भविष्य के त्यौहार
25 May 2021
आवृत्ति
Yearly / Annual
समय
1 दिन
सुरुआत तिथि
Vaishakha Shukla Chaturdashi
समाप्ति तिथि
Vaishakha Shukla Chaturdashi
महीना
April / May
कारण
Avtaran/Birth Anniversary of Lord Shri Narasimha.
उत्सव विधि
Fast, Bhajan/Kirtan, Dan-Punya
महत्वपूर्ण जगह
Shri Vishnu Temple, Shri Laxmi Narayan Temple, ISKCON.
पिछले त्यौहार
17 May 2019, 29 April 2018, 9 May 2017

अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!
* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें
top