विवाह पंचमी | आज का भजन!

पूर्वो दिल्ली कालीबारी - Purbo Delhi Kalibari


Aug 20, 2019 23:27 PM 🔖 बारें में | 🕖 समय सारिणी | ♡ मुख्य आकर्षण | 📷 फोटो प्रदर्शनी | ✈ कैसे पहुचें | 🌍 मानचित्र | 🖋 कॉमेंट्स


दिल्ली की संजय झील के किनारे भगवान शिव अमरनाथ स्वरूप में तथा भगवान विष्णु बद्रीनाथ रूप में विद्यमान हैं। इन सभी रूपों के साथ माता सती, माँ काली रूप में पूर्वो दिल्ली कालीबारी में स्थापित हैं।

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • पूर्वी दिल्ली का प्रमुख मंदिर कालीबारी।
  • संजय झील की हरियाली क्षेत्र मे बना मंदिर।

समय सारिणी - Timings

दर्शन समय
8:30 / 9:00 AM - 12:30 PM, 6:00 / 5:30 PM - 9:00 / 8:30 PM (Summer / Winter)
5:30 AM: सुवह आरती
12:30 PM: भोग आरती
6:00 / 7:30 PM, as per sun set: संध्या आरती

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

Purbo Delhi Kalibari in English

Mata Sati, along with all these forms, is set in Purbo Delhi Kalibari in the form of Maa Kali.

जानकारियां - Information

धाम
Shiv DhamMaa KaaliPeepal TreeMaa Tulsi
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Power Backup, Shoe Store, Washrooms, Sitting Benches, Music System
देख-रेख संस्था
पूर्वो दिल्ली कालीबारी समिति
समर्पित
माँ काली
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Children Park, Pocket- F, Mayur Vihar, Phase 2 Delhi New Delhi
सड़क/मार्ग 🚗
Jail Road >> Santoshi Maata Roa
रेलवे 🚉
New Delhi
हवा मार्ग ✈
Indira Gandhi International Airport, New Delhi
नदी ⛵
Yamuna
निर्देशांक 🌐
28.616166°N, 77.302138°E
पूर्वो दिल्ली कालीबारी गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/purbo-delhi-kalibari

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री भैरव देव जी आरती

जय भैरव देवा, प्रभु जय भैरव देवा, जय काली और गौर देवी कृत सेवा॥

ॐ जय कलाधारी हरे - बाबा बालक नाथ आरती

ॐ जय कलाधारी हरे, स्वामी जय पौणाहारी हरे, भक्त जनों की नैया, दस जनों की नैया, भव से पार करे...

आरती: भगवान श्री कुबेर जी

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे, स्वामी जै यक्ष जै यक्ष कुबेर हरे। शरण पड़े भगतों के... धनतेरस के दिन देवी लक्ष्मी, भगवान कुबेर एवं श्री गणेश की पूजा-आरती प्रमुखता से की जाती है।

top