विवाह पंचमी | आज का भजन!

दुर्गा पूजा - Durga Puja


Updated: Oct 08, 2019 23:16 PM बारें में | संबंधित जानकारियाँ | यह भी जानें


आने वाले त्यौहार: 21 October 2020 - 25 October 2020
दुर्गा पूजा को माँ दुर्गा द्वारा दुष्ट राक्षस महिषासुर पर विजय प्राप्‍ति की खुशी में मनाया जाता है, इसलिए माँ को दुर्गतनाशिनी के रूप में पूजा जाता है।

दुर्गा पूजा को माँ दुर्गा द्वारा दुष्ट राक्षस महिषासुर पर विजय प्राप्‍ति की खुशी में मनाया जाता है, इसलिए माँ को दुर्गतनाशिनी (भक्तों के संरक्षक) के रूप में पूजा जाता है। बंगाल, असम और ओडिशा में पूजा को पूजो के रूप में प्रख्यातित है।

महालया से उत्सव प्रारंभ होता है, इस दिन से मूर्तियों का निर्माण कार्य प्रारंभ हो जाता है। परंतु वास्तविक पूजो महा षष्ठी, महा सप्तमी, महा अष्टमी, महा नवमी और विजयदशमी के रूप में परिभाषित की गयी है। दशहरे के दिन माँ दुर्गा की प्रतिमा के विसर्जन के साथ ही दुर्गा पूजा का समापन हो जाता है।

संबंधित अन्य नाम
दुर्गोत्सव, अकालबोधन (दुर्गा की असामयिक जागृति), शारदीय पुजो, शारदीयोत्सव (बंगाली: देवदेवब), महा पुजो, महापूजा, मायर पुजो (मां की पूजा), दुर्गतनाशिनी, शरदोत्सव, विजयदाशमी, दशहरा

Durga Puja in English

Durga Puja celebrates the victory of Goddess Durga over the evil demon Mahishasura therefore worshipped as Durgotinashini.

संबंधित जानकारियाँ

भविष्य के त्यौहार
10 October 2021 - 14 October 2021
आवृत्ति
वार्षिक
समय
6 दिन
सुरुआत तिथि
अश्विन शुक्ल षष्ठी
समाप्ति तिथि
अश्विन शुक्ल दशमी
महीना
सितंबर / अक्टूबर
उत्सव विधि
पंडाल, व्रत, मंत्र जाप।
महत्वपूर्ण जगह
माँ काली मंदिर, माँ काली पंडाल, कालीबाड़ी।
पिछले त्यौहार
3 October 2019 - 7 October 2019, 15 October 2018 - 19 October 2018, 26 September 2017 - 30 September 2017, 7 October 2016 - 11 October 2016

अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!
* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें
top