शौरीपुर जैन मंदिर - Shauripur Jain Mandir

श्री शौरिपुर बटेश्वर दिगंबर जैन सिद्धक्षेत्र के अंतर्गत आने वाला शौरीपुर जैन मंदिर, जैन संप्रदाय के 22वें तीर्थंकर श्री नेमिनाथ भगवान का कल्याणक / अवतार स्थान है। भागवान नेमिनाथ को अरिष्टनेमि के नाम से भी जाना जाता है। शौरीपुर जैन मंदिर आगरा जिले के प्रसिद्ध तीर्थ बाबा बटेश्वर नाथ मंदिर से 3 किलोमीटर दूर यमुना नदी के बीहड़ में स्थापित है।

जैन समाज के 22वें तीर्थंकर भगवान नेमिनाथ, भगवान विष्णु के आठवें अवतार श्री कृष्ण के चचेरे भाई थे। नेमिनाथ जी का जन्म शौरीपुर मे ही हुआ था। अतः यह मंदिर जैन समाज के बीच एक तीर्थ स्थल के रूप मे पूजा जाता है।

दो अलग-अलग अवधारणा के अंतर्गत शौरीपुर सिद्धक्षेत्र अर्थात मुक्ति सिद्धक्षेत्र तथा बटेश्वर अतिशयक्षेत्र अर्थात चमत्कार का स्थान को मिलकर श्री शौरिपुर बटेश्वर दिगंबर जैन सिद्धक्षेत्र कहा गया है।

सहस्त्रों वर्ष पूर्व, पवित्र नदी यमुना के तट पर शौरीपुर एक विशाल नगरी हुआ करती थी। इस नगरी को महाराज शूरसेन ने बसाया था, इस कारण इसका नाम शौरीपुर हुआ। महाराज शूरसेन की पीढ़ी में ही महाराज समुद्र विजय हुए, जिनके दस भाई थे। जिनके छोटे भाई भगवान श्रीकृष्ण के पिता वसुदेव जी थे।

प्रचलित नाम: श्री शौरीपुर बटेश्वर दिगंबर जैन सिद्ध क्षेत्र, शौरीपुर सिद्ध क्षेत्र

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • श्री नेमिनाथ भगवान का जन्म कल्याणक।
  • श्री दिगंबर जैन सिद्धक्षेत्र।
  • पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म स्थान।

समय - Timings

दर्शन समय
6:00 AM - 1:00 PM, 4:00 PM - 8:00 PM
त्यौहार
Nirvanotsav of Bhagwan Shri Ajitnath (Chaitra Shukla 5), Annual Fair (Kartik Shukla 14 - Magh Sheersh Krishna) | यह भी जानें: शारदीय नवरात्रि

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
 Main Shikhar of Shauripur Jain Mandir / Temple

Main Shikhar of Shauripur Jain Mandir / Temple

Main Shikhar of Bateshwar Jain Mandir / Temple

Main Shikhar of Bateshwar Jain Mandir / Temple

Beautiful symmetric view

Beautiful symmetric view

Back side garden

Back side garden

Maximum Shikhar in a View

Maximum Shikhar in a View

Back side garden

Back side garden

Closeup of Shikhar

Closeup of Shikhar

Closeup of Shikhars and flag shows continuity

Closeup of Shikhars and flag shows continuity

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

Prachin Digambar Jain Mandir, Baruwa Math

Prachin Digambar Jain Mandir, Baruwa Math

Entry gate of main Temple

Entry gate of main Temple

Park Area

Park Area

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

Beautiful view of small math

Beautiful view of small math

Beginning of Chambal beehad towards temple

Beginning of Chambal beehad towards temple

Bateshwar Atishaya Kshetra

Bateshwar Atishaya Kshetra

Beautiful View

Beautiful View

White Temple

White Temple

Shauripur Jain Mandir in English

Shri Shauripur Bateshwar Digambar Jain Siddh Kshetra dedicated to Shri Neminath Bhagwan, kalyanaka/avtaran place of 22nd Teerthankara Bhagwan Neminath.

जानकारियां - Information

धाम
Baruva Matha: Bhagwan Shri NeminathBhagwan Shri RishabhnathBhagwan Shri VimalnathBhagwan Shri Chandraprabhu
Shankhdhwaj Jinalaya: Shri Neminath BhagwanShyam VarnPadmasanasthChetrapal
Panch Mathi
बुनियादी सेवाएं
Drinking Water, Park, Shoe Store, Water Cooler, Office, Shose Store, CCTV Security, Sitting Benches, Music System
धर्मार्थ सेवाएं
Dharmshala, Parking
स्थापना
1648
देख-रेख संस्था
श्री शौरीपुर - बटेश्वर दिगम्बर जैन सिद्धक्षेत्र समिति
समर्पित
श्री नेमिनाथ भगवान
फोटोग्राफी
🚫 नहीं (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Shauripur Bateshwar Uttar Pradesh
सड़क/मार्ग 🚗
SH 62, NH 2
रेलवे 🚉
Shikohabad(J)
हवा मार्ग ✈
Pandit Deen Dayal Upadhyay Airport Agra
नदी ⛵
Yamuna
निर्देशांक 🌐
26.946853°N, 78.538837°E
शौरीपुर जैन मंदिर गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/shauripur-jain-mandir

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री बालाजी आरती, ॐ जय हनुमत वीरा

ॐ जय हनुमत वीरा, स्वामी जय हनुमत वीरा। संकट मोचन स्वामी तुम हो रनधीरा॥

रघुवर श्री रामचन्द्र जी आरती

आरती कीजै श्री रघुवर जी की, सत चित आनन्द शिव सुन्दर की॥

श्री हनुमान जी आरती

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ वातात्मजं वानरयुथ मुख्यं, श्रीरामदुतं शरणम प्रपद्धे॥

🔝