Download Bhakti Bharat APP

श्री कृष्ण जन्मभूमि - Shri Krishna Janmabhoomi

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • Electronic items, keys, weapons, electronic car keys are prohibited in temple.
  • Cloak room facility available with the cost of Rs 2.
  • Birth Place of Lord Shri Krishna.

श्री कृष्ण जन्मभूमि (Shri Krishna Janmabhoomi) is birth place Lord Shri Krishna, a prison house of the king Kansa.

प्रचलित नाम: कृष्णा जन्मस्थान, केशव देव मंदिर

समय - Timings

दर्शन समय
Summer : 5:00 AM – 9:00 PM
Winter : 6:00 AM – 8:00 PM
त्योहार

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
श्री कृष्ण जन्मभूमि

श्री कृष्ण जन्मभूमि

श्री कृष्ण जन्मभूमि

श्री कृष्ण जन्मभूमि

श्री कृष्ण जन्मभूमि

श्री कृष्ण जन्मभूमि

श्री कृष्ण जन्मभूमि

श्री कृष्ण जन्मभूमि

जानकारियां - Information

मंत्र
Hare Krishna, Hare Krishna Krishna Krishna Hare Hare, Hare Rama, Hare Rama Rama Rama Hare Hare
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Drinking Water, Parking
धर्मार्थ सेवाएं
Gaushala
देख-रेख संस्था
Shri Krishna Janmasthan Seva Sansthan
समर्पित
Shri Krishna
फोटोग्राफी
🚫 नहीं (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

क्रमवद्ध - Timeline

Before 5000 AD

First build by Vajranabha grandson of Lord Shri Krishna.

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Janam Bhumi Mathura, Uttar Pradesh - 281001 Mathura Uttar Pradesh
सड़क/मार्ग 🚗
Mandi Ramdas Road / Daresi Road / NH2-Bhuteshwar Road >> Mathura Vrindavan Road (Near Deeg Gate Chouraha)
रेलवे 🚉
Kosi Kalan
वेबसाइट 📡
सोशल मीडिया
निर्देशांक 🌐
27.504858°N, 77.669709°E
श्री कृष्ण जन्मभूमि गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/shri-krishna-janmabhoomi

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री सूर्य देव - ऊँ जय सूर्य भगवान

ऊँ जय सूर्य भगवान, जय हो दिनकर भगवान। जगत् के नेत्र स्वरूपा, तुम हो त्रिगुण स्वरूपा।

हनुमान आरती

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ आरती कीजै हनुमान लला की । दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥..

अन्नपूर्णा आरती

बारम्बार प्रणाम, मैया बारम्बार प्रणाम । जो नहीं ध्यावे तुम्हें अम्बिके, कहां उसे विश्राम । अन्नपूर्णा देवी नाम तिहारो..

Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App