Live - श्री खाटू श्याम भजन संध्या, सिरसागंज (Khatu Shyam Bhajan Sandhya)

Live - श्री खाटू श्याम भजन संध्या, सिरसागंज

श्री खाटू श्याम जी भजन संध्या - Shri Khatu Shyam Ji Bhajan Sandhya
द्वितीय विशाल भजन संध्या एवं भव्य शोभा यात्रा
Lead Singer: उमा लहरी
Organized By: श्री श्याम सेवा समिति #सिरसागंज
Date & Time: गुरुवार, 30 दिसम्बर 2021 सायं 6:00 बजे से
Place: सुमंगलम मैरिज होम इटावा रोड, सिरसागंज

Khatu Shyam Bhajan Sandhya in English

Live - Shri Khatu Shyam Ji Bhajan Sandhya | Uma Lahari | Shri Shyam Sewa Samiti, Sirsaganj | Thursday, 30 December 2021 6:00 PM onwards
यह भी जानें

Blogs Live BlogsKhatu BlogsShyam BlogsKhatushyamji BlogsKhatu Shyam BlogsShyam Baba BlogsKhatu Naresh BlogsKhatu Shyam Baba BlogsKhatu Dham BlogsKrishna BlogsKhatuji BlogsKhatu Wale BlogsBaba Shyam BlogsRadhe Radhe BlogsKhatu Shyam Darshan BlogsRadhe Shyam BlogsBaba BlogsRadhe Krishna BlogsBhajan Sandhya BlogsUma Lahari Blogs

अगर आपको यह ब्लॉग पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस ब्लॉग को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

चुनाव में मंदिर, मठ एवं आश्रमों का महत्व

माना जाता है कि सनातन प्रेमी हर चुनाव में जीत का एक निर्णायक पहलू होते हैं। और इन सनातन प्रेमियों(सनातन प्रेमी वोटर) का केंद्र होते हैं ये मंदिर, मठ एवं आश्रम। राजनीतिक उम्मीदवारों की जीत संख्याबल पर निर्धारित होती है। अतः चुनाव आते ही राजनैतिक उम्मीदवार हिंदू मंदिरों, मठों एवं आश्रमों की तरफ स्वतः ही खिचे चले आते हैं।

महा शिवरात्रि विशेष 2022

1 मार्च 2022 को संपूर्ण भारत मे महा शिवरात्रि का उत्सव बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाएगा। महा शिवरात्रि क्यों, कब, कहाँ और कैसे? | आरती: | चालीसा | मंत्र |नामावली | कथा | मंदिर | भजन

ISKCON एकादशी कैलेंडर 2022

यह एकादशी तिथियाँ केवल वैष्णव सम्प्रदाय इस्कॉन के अनुयायियों के लिए मान्य है | Friday, 28 January 2022 षटतिला एकादशी व्रत कथा - Sat-tila Ekadasi Vrat Kath

ISKCON

ISKCON संप्रदाय के भक्त भगवान श्री कृष्ण को अपना आराध्य मानते हैं। इनके द्वारा गाये जाने वाले भजन, मंत्र एवं गीतों का कुछ संग्रह यहाँ सूचीबद्ध किया गया है, सभी सनातनी परम्परा के भक्त इसका आनंद लें।

ब्रज के भावनात्मक 12 ज्योतिर्लिंग

ब्रजेश्र्वर महादेव: (बरसाना)श्री राधा रानी के पिता भृषभानु जी भानोखर सरोवर मे स्नान करके नित्य ब्रजेश्वर महादेव की पूजा करते थे।

महाशिवरात्रि को महासिद्धिदात्री क्यों कहा जाता है?

महाशिवरात्रि व्रत अत्यंत शुभ और दिव्य है। इससे अनित्य भोग और मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस शिवरात्रि व्रत को व्रतराज के नाम से जाना जाता है। 11 March 2021

क्या है यह मासिक शिवरात्रि?

हिंदू कैलेंडर के अनुसार, मासिक शिवरात्रि व्रत हर महीने कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है।

Download BhaktiBharat App