close this ads

भारत के चार धाम


आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा परिभाषित चार वैष्णव तीर्थ हैं। जहाँ हर हिंदू को अपने जीवन काल मे अवश्य जाना चाहिए, जो हिंदुओं को मोक्ष प्राप्त करने में मदद करेंगे। इसमें उत्तर दिशा मे बद्रीनाथ, पश्चिम की ओर द्वारका, पूर्व दिशा मे जगन्नाथ पुरी और दक्षिण मे रामेश्वरम धाम है। हिंदू पुराणों में हरि यानी विष्णु और हर या शिव को शाश्वत मित्र कहा जाता है। ऐसा माना गया है कि जहाँ भगवान विष्णु का निवास करते हैं वहीं भगवान शिव भी पास में रहते हैं। ये चार धाम भी इसके अपवाद नहीं माने गये हैं। अतः केदारनाथ को बद्रीनाथ की जोड़ी, रंगनाथ स्वामी को रामेश्वरम की, सोमनाथ को द्वारका, लिंगराज को पुरी की जोड़ी के रूप में माना जाता है हालांकि यहां एक बात भी है।

ध्यान देने वाला तथ्य यह है कि, भारत के चार धाम और उत्तराखंड राज्य के चार धाम अलग-अलग है। उत्तराखंड के चार धाम यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम के रूप में माना जाता है।

द्वारका धाम
मठ: शारदा मठ | महावाक्य: तत्त्वमसि | वेद: सामवेद | सन्यासी नाम: तीर्थ, आश्रम | प्रथम मठाधीश: हस्तामलक (पृथ्वीधर) | दिशा: पश्चिम | सहायक शिव मंदिर: सोमनाथ ज्योतिर्लिंग
@Dwarka, Gujrat

जगन्नाथ धाम
मठ: गोवर्धन मठ | महावाक्य: प्रज्ञानं ब्रह्म | वेद: ऋग्वेद | सन्यासी नाम: आरण्य | प्रथम मठाधीश: पद्मपाद | दिशा: पूर्व | सहायक शिव मंदिर: लिंगराज मंदिर
@Puri, Odisha

रामेश्वरम धाम
मठ: वेदान्त ज्ञानमठ | महावाक्य: अहं ब्रह्मास्मि | वेद: यजुर्वेद | सन्यासी नाम: सरस्वती, भारती, पुरी | प्रथम मठाधीश: आचार्य सुरेश्वरजी | दिशा: दक्षिण | सहायक शिव मंदिर: रंगनाथ स्वामी मंदिर
@Rameswaram, Tamil Nadu

बद्रीनाथ धाम
मठ: ज्योतिर्मठ | महावाक्य: अयमात्मा ब्रह्म | वेद: अथर्ववेद | सन्यासी नाम: गिरि,पर्वत, सागर | प्रथम मठाधीश: आचार्य तोटक | दिशा: उत्तर | सहायक शिव मंदिर: केदारनाथ ज्योतिर्लिंग
@Uttarakhand

भगवान विष्णु के अलग अलग अवतार में, वह रामेश्वरम में स्नान करते हैं, बद्रीनाथ में ध्यान, पुरी में भोज तथा द्वारिका में शयन पसंद करते हैं।

Available in English - Char Dham In India
In His different incarnations, Lord Vishnu take bath in Rameswaram, meditate in Badrinath, feast in
ये भी जानें

ListBy BhaktiBharat


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

दिल्ली के प्रसिद्ध बाबा श्री भैरव नाथ मंदिर!

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के लगभग सभी प्रमुख एवं प्रसिद्ध श्री बाबा भैरब नाथ मंदिर। 8 जनवरी 2019 को सारी दिल्ली भैरव जयंती माना रही है।

दिल्ली और आस-पास कहाँ मनाएँ इस बार की नवरात्रि?

List of leading, famous and popular Mata temples celebrating Chaitra Navratri [5 April 2019] in New Delhi, Noida, Faridabad, Gurugram and Ghaziabad...

दिल्ली के आस-पास माता के प्रसिद्ध मंदिर!

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और गुरुग्राम के शीर्ष मा आदि शक्ति, मां दुर्गा और मां काली मंदिरों की सूची...

जानें दिल्ली के कालीबाड़ी मंदिरों के बारे मे!

नीचे दिए गये हैं, दिल्ली और आस-पास के राज्यों के सबसे ज्यादा प्रसिद्ध दुर्गा पूजा पंडाल मे आपको जरूर जाना चाहिए...

ब्रजभूमि के प्रसिद्ध मंदिर

ब्रजभूमि अथवा ब्रिजभूमि भगवान कृष्ण की बचपन से संबंधित गतिविधियों से जुड़ा क्षेत्र है।

दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध शिव मंदिर

4 मार्च 2019 को आने वाली महा शिवरात्रि इन मंदिरों मे मनाई जाएगी। नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रमुख भगवान शिव मंदिर:

प्रसिद्ध जैन मंदिर!

नई दिल्ली, गाजियाबाद, फिरोज़ाबाद, वहेलना-मुजफ्फरनगर, शौरीपुर-बेटेश्वर और सासनी के प्रमुख जैन मंदिरों की सूची:

दिल्ली के प्रसिद्ध श्री झूलेलाल मंदिर!

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और गुरुग्राम के प्रसिद्ध भगवान श्री झूलेलाल जी मंदिरों की सूची निम्न लिखित है...

दिल्ली और आस-पास के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर।

दिल्ली और आस-पास के शहर नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रसिद्ध श्री कृष्ण मंदिर...

दिल्ली और आस-पास के मंदिरों मे शिवरात्रि की धूम-धाम!

4 मार्च 2019 को आने वाली महा शिवरात्रि इन मंदिरों मे मनाई जाएगी।...

^
top