भारत के चार धाम (Char Dham In India)


भारत के चार धाम

आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा परिभाषित चार वैष्णव तीर्थ हैं। जहाँ हर हिंदू को अपने जीवन काल मे अवश्य जाना चाहिए, जो हिंदुओं को मोक्ष प्राप्त करने में मदद करेंगे। इसमें उत्तर दिशा मे बद्रीनाथ, पश्चिम की ओर द्वारका, पूर्व दिशा मे जगन्नाथ पुरी और दक्षिण मे रामेश्वरम धाम है।

हिंदू पुराणों में हरि यानी विष्णु और हर या शिव को शाश्वत मित्र कहा जाता है। ऐसा माना गया है कि जहाँ भगवान विष्णु का निवास करते हैं वहीं भगवान शिव भी पास में रहते हैं। ये चार धाम भी इसके अपवाद नहीं माने गये हैं। अतः केदारनाथ को बद्रीनाथ की जोड़ी, रंगनाथ स्वामी को रामेश्वरम की, सोमनाथ को द्वारका, लिंगराज को पुरी की जोड़ी के रूप में माना जाता है। हालांकि यहां एक बात भी है..

ध्यान देने वाला तथ्य यह है कि, भारत के चार धाम और उत्तराखंड राज्य के चार धाम अलग-अलग है। उत्तराखंड के चार धाम यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम के रूप में माना जाता है।

द्वारका धाम @द्वारका, गुजरात
मठ: शारदा मठ | महावाक्य: तत्त्वमसि | वेद: सामवेद | सन्यासी नाम: सरस्वती, तीर्थ, आश्रम | प्रथम मठाधीश: हस्तामलक (पृथ्वीधर) | दिशा: पश्चिम | सहायक शिव मंदिर: सोमनाथ ज्योतिर्लिंग | कुंभ: उज्जैन

जगन्नाथ धाम, @पुरी, ओडिशा
मठ: गोवर्धन मठ | महावाक्य: प्रज्ञानं ब्रह्म | वेद: ऋग्वेद | सन्यासी नाम: आरण्य | प्रथम मठाधीश: पद्मपाद | दिशा: पूर्व | सहायक शिव मंदिर: लिंगराज मंदिर | कुंभ: प्रयागराज

रामेश्वरम धाम @रामेश्वरम, तमिलनाडु
मठ: वेदान्त ज्ञानमठ | महावाक्य: अहं ब्रह्मास्मि | वेद: यजुर्वेद | सन्यासी नाम: भारती, पुरी | प्रथम मठाधीश: आचार्य सुरेश्वरजी | दिशा: दक्षिण | सहायक शिव मंदिर: रंगनाथ स्वामी मंदिर | कुंभ: नाशिक

बद्रीनाथ धाम @उत्तराखण्ड
मठ: ज्योतिर्मठ | महावाक्य: अयमात्मा ब्रह्म | वेद: अथर्ववेद | सन्यासी नाम: गिरि,पर्वत, सागर | प्रथम मठाधीश: आचार्य तोटक | दिशा: उत्तर | सहायक शिव मंदिर: केदारनाथ ज्योतिर्लिंग | कुंभ: हरिद्वार

भगवान विष्णु के अलग अलग अवतार में, वह रामेश्वरम में स्नान करते हैं, बद्रीनाथ में ध्यान, पुरी में भोज तथा द्वारिका में शयन पसंद करते हैं।

Char Dham In India in English

There are four Vaishnava pilgrims defined by Guru Shankaracharya and every Hindu must visit there once in life which will help them to attain peace for the soul.
यह भी जानें

ListChar Dham TemplesSanatan Dham TemplesHindu Dham TemplesChar Dham Name Temples


अगर आपको यह ग्रूप ऑफ टेंपल्स पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस ग्रूप ऑफ टेंपल्स को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

दिल्ली के प्रसिद्ध हनुमान बालाजी मंदिर

हनुमान जी श्री राम के बहुत बड़े भक्त हैं और भगवान शिव के अवतार हैं। हनुमान जी के माता-पिता का नाम अंजना और केसरी है इसलिए उन्हें अंजनी-पुत्रा और केसरी-नंदन कहा जाता है।

दिल्ली के प्रसिद्ध शिव मंदिर

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रमुख भगवान शिव मंदिर:

महाभारत के समय से दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर

कलयुग प्रारंभ होने से पहिले, महाभारत युद्ध के समय से या उससे भी पहिले से बने दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर हैं।

दिल्ली के प्रसिद्ध श्री शनिदेव मंदिर

सूर्य देव के पुत्र श्री शनिदेव, नवग्रह के सदस्यों में से एक शनि ग्रह है। भक्त, साप्ताहिक दिन शनिवार को मुख्यतया इनकी पूजा-अर्चना करते हैं।

नोएडा के प्रसिद्ध मंदिर

नोएडा भारत की धार्मिक आस्था के काफी नजदीक जान पड़ता है, आइए जानते हैं यहाँ के प्रसिद्ध मंदिरों के बारे में...

सिरसागंज के प्रसिद्ध मंदिर!

सिरसागंज तथा उसके आस-पास के प्रसिद्ध मंदिरों की सूची नीचे देखी जा सकती है।

पुणे शहर के प्रसिद्ध मंदिर

मराठा पेशवा विस्तार के दौरान, पुणे में मंदिरों का निर्माण नहीं हुआ। पूणे शहर में मां लक्ष्मी, श्री गणेश और दत्तात्रेय भगवान के मंदिर अत्यधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

🔝