होलिका दहन | चैत्र नवरात्रि | आज का भजन! | भक्ति भारत को फेसबुक पर फॉलो करें!

बाबा धवलेश्वर मंदिर Coming Soon


updated: May 28, 2018 07:41 AM About | Timing | Highlights | Photo Gallery | How to Reach | Comments


बाबा धवलेश्वर मंदिर (Baba Dhabaleswar Temple) - Dhauli, Odisha - 752104 Bhubaneswar Odisha

बाबा धवलेश्वर मंदिर (Baba Dhabaleswar Temple) is a miracle place of Lord Shiv, meaning of Dhabaleswar (Dhabala + Eeswar) is brighten God. The temple is situated on the top of Dhauligiri hill.

मुख्य आकर्षण

  • 18 km Away From The Capital of Odisha.
  • Behind The Dhauli Shanti Stupa.

समय सारिणी

त्यौहार

फोटो प्रदर्शनी

Photo in Full View
Baba Dhabaleswar Temple

जानकारियां

प्रचलित नाम
धौलीगिरि शिव मंदिर , Dhauligiri Shiv Mandir
बुनियादी सेवाएं
Sitting Benches, CCTV Security, Solor Panel, Washroom, Garden, Parking
स्थापना
11th Century
देख-रेख संस्था
Bhubaneswar Development Authority
समर्पित
Lord Shiv
वास्तुकला
Kalinga Buddhist Architecture
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

कैसे पहुचें

कैसे पहुचें
सड़क/मार्ग: Lewis Road / Garage Road >> Dhauli Road
रेलवे: Bhubaneswar Railway Station
हवा मार्ग: Biju Patnaik International Airport
नदी: Mahanadhi, Bhargabi River, Daya River
पता
Dhauli, Odisha - 752104 Bhubaneswar Odisha
निर्देशांक
20.192284°N, 85.840173°E
बाबा धवलेश्वर मंदिर गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/baba-dhabaleswar-temple

अगला मंदिर दर्शन

अपने विचार यहाँ लिखें

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती युगलकिशोर की कीजै!

आरती युगलकिशोर की कीजै। तन मन धन न्योछावर कीजै॥ गौरश्याम मुख निरखन लीजै।...

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥ गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला।...

माता श्री गायत्री जी की आरती

जयति जय गायत्री माता, जयति जय गायत्री माता। सत् मारग पर हमें चलाओ, जो है सुखदाता॥

close this ads
^
top