close this ads

शिवरात्रि २०१९


Updated: Dec 08, 2018 21:03 PM About | Dates | Shivterash | Sawan Shivaratri | Maha Shivaratri


आने वाले त्यौहार: Shivterash: 3 January 2019
शिवरात्रि साल मे 12/13 बार आने वाला मासिक त्योहार है, जो पूर्णिमा से एक दिन पहिले त्रियोदशी के दिन आता है।

शिवरात्रि साल मे 12/13 बार आने वाला मासिक त्योहार है, जो पूर्णिमा से एक दिन पहिले त्रियोदशी के दिन आता है। शिवरात्रियों में से दो सबसे अधिक प्रसिद्ध हैं, फाल्गुन त्रियोदशी महा शिवरात्रि के नाम से प्रसिद्ध है और दूसरी सावन शिवरात्रि के नाम से जानी जाती है। यह त्यौहार भगवान शिव-पार्वती को समर्पित है, इस दिन भक्तभगवान शिव के प्रतीक शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाते हैं।

संबंधित अन्य नाम
महा शिवरात्रि, काँवर यात्रा, शिवतेरश, भोला उपवास, त्रयोदशी
Available in English - Shivaratri
There are usually twelve or thirteen Shivaratri in a year that falls on the day of Triyodashi before the full moon.

शिवतेरश

हिंदू पंचांग के अंतर्गत प्रत्येक माह के तेरहवें दिन को संकृत भाषा में त्रियोदशी कहा जाता है। और प्रत्येक माह में कृष्ण और शुक्ल दो पक्ष होते हैं अतः त्रियोदशी एक माह में दो वार आती है। परंतु कृष्ण पक्ष के तेरहवें दिन आने वाली त्रियोदशी भगवान शिव की अति प्रिय है। भगवान शिव के प्रिय होने के कारण इस तिथि को शिव के साथ जोड़ कर साधारण भाषा में शिवतेरश कहा जाने लगा।

महा शिवरात्रि

2019-03-04
महाशिवरात्रि, भगवान शिव की पार्वती देवी से शादी का दिन है, इसलिए भक्तगण महा शिवरात्रि को गौरी-शंकर की शादी की सालगिरह के रूप में मानते हैं। इस दिन ब्रत में, कुछ भक्तों को बिना पानी के ब्रत रहिते देखा गया है। आज के दिन भक्त शिवलिंग को दूध, दही, शहद, गुलाब जल, आदि के साथ हर तीन घंटे के अंतराल मे सारी रात पूजा करते हैं।

आज का दिन दो महान प्राकृतिक शक्तियों, रजस एवं तमस के एक साथ आने का दिन है। शिवरात्रि व्रत इन दोनों शक्तियों का सही नियंत्रण है। वासना, क्रोध, और ईर्ष्या जैसे बुराइयों को नियंत्रण कर सकते हैं। हर तीन घंटे शिवलिंग की पूजा के एक दौर आयोजित किया जाता है। सदगुरु के अनुसार, इस रात को ग्रहों की स्थिति कुछ ऐसी होती है कि मानव तंत्र में ऊर्जा का प्रवाह प्राकृतिक रूप से ऊपर की ओर होता है। अतः योगी साधक भक्त शरीर को सीधी स्थिति में रखते हैं, और सारी रात सोते नहीं हैं।

पृथ्वी की रचना पूरी होने के बाद, पार्वती जी ने भगवान शिव से पूछा कि भक्तों के कौनसे अनुष्ठानों से आपको सबसे ज़्यादा प्रशन्नता होती है। भगवान ने कहा है कि, फाल्गुन के महीने के दौरान शुक्लपक्ष की 14वीं रात मेरा पसंदीदा दिन है।

सावन शिवरात्रि

2019-07-30
सावन शिवरात्रि को काँवर यात्रा भी कहा जाता है, जो मानसून के श्रावण (जुलाई-अगस्त) के महीने मे आता है। कंवर (काँवर), एक खोखले बांस को कहते हैं इस अनुष्ठान के अंतर्गत, भगवान शिव के भक्तों को कंवरियास या काँवाँरथी के रूप में जाने जाता है। हिंदू तीर्थ स्थानों हरिद्वार, गौमुख व गंगोत्री, सुल्तानगंज में गंगा नदी, काशी विश्वनाथ, बैद्यनाथ, नीलकंठ और देवघर सहित अन्य स्थानो से गंगाजल भरकर, अपने - अपने स्थानीय शिव मंदिरों में इस पवित्र जल को लाकर चढ़ाया जाता है।

हिन्दू पुराणों में कांवड़ यात्रा समुद्र के मंथन से संबंधित है। समुद्र मंथन के दौरान भगवान शिव ने जहर का सेवन किया, जिससे नकारात्मक ऊर्जा से पीड़ित हुए। त्रेता युग में रावण ने शिव का ध्यान किया और वह कंवर का उपयोग करके, गंगा के पवित्र जल को लाया और भगवान शिव पर अर्पित किया, इस प्रकार जहर की नकारात्मक ऊर्जा भगवान शिव से दूर हुई।

जल कब चढ़ाए? जल चढ़ाने का समय?
भगवान शिव का सबसे प्रवित्र दिन शिवरात्रि, सकारात्मक उर्जा का श्रोत है, इसलिए जल चढ़ाने के लिए पूरा दिन ही पवित्र और शुभ माना गया है। पर जल चढ़ाते समय आगे और पीछे की तिथि के संघ को ध्यान में रखें।

संबंधित जानकारियाँ

आगे के त्यौहार(2018)
Shivterash: 3 January 2019Shivterash: 2 February 2019Maha Shivaratri: 4 March 2019Shivterash: 3 April 2019Shivterash: 2 May 2019Shivterash: 1 Jun 2019Shivterash: 30 Jun 2019Sawan Shivaratri: 30 July 2019Shivterash: 28 August 2019Shivterash: 27 September 2019Shivterash: 26 October 2019Shivterash: 24 November 2019Shivterash: 24 December 2019
आवृत्ति
Monthly
समय
1 Days
महीना
Trayodashi of Every Month
Maha Shivaratri: February / March
Sawan Shivaratri: July / August
मंत्र
ॐ नमः शिवायः - Om Namah Shivaya, Bol Bam - बोल बम, Bam Bam - बम बम, Bam Bam Bhole - बम बम भोले, Har Har Mahadev - हर हर महादेव
कारण
Favorite day of Lord Shiv, Marriage Anniversary.
उत्सव विधि
Fast, Bhajan/Kirtan, Prayers in Gauri-Shankar Temple, रुद्राभिषेक - Rudrabhishek.
महत्वपूर्ण जगह
All Jyotirling, Rishikesh, Pashupatinath, Shri Shiv Mandir
पिछले त्यौहार
Shivterash: 5 December 2018, Shivterash: 5 November 2018, Shivterash: 7 October 2018, Shivterash: 7 September 2018, Sawan Shivaratri: 9 August 2018, Maha Shivaratri: 13 February 2018, Sawan Shivaratri: 21 July 2017, Maha Shivaratri: 24 February 2017

वीडियो प्रदर्शनी

Why Should You Stay Awake All Night This February 13th? The benefits of the natural upsurge of energy on this night.

The Mahashivratri sadhana preparation by Isha Foundation.


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!
* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें
^
top