श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र (Shri Ram Janmabhoomi Teerth Kshetra)


भगवान राम के भक्तों के लिए 24 मार्च का दिन बहुत खास होने जा रहा है। अयोध्या में सन 1992 से त्रिपालमें रह रहे रामलला, 24 मार्च को अस्थाई मंदिर में प्रतिष्ठित होंगे। इस मंदिर को फाइवर से निर्मित किया जा रहा है तथा बुलेट प्रूफ शीशे लगाए जा रहे हैं।

अक्षरधाम मंदिर तीन वर्षों में बनाया गया था और स्टैच्यू ऑफ यूनिटी भी. इसलिए हम भी तीन / साढ़े-तीन साल में अयोध्या में भगवान श्री राम का भव्य मंदिर बनाने की सोच रहे हैं - गिरिजी महाराज।

अयोध्या मे श्री राम मंदिर का कार्य देखने के लिए मंदिर समिति का नामकरण हुआ, स्वतंत्र समिति का नाम श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र है। स्वतंत्र समिति बनाए जाने की औपचारिक घोषणा 5 फरवरी 2020 की सुवह 11 बजे, देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने संसद में दी।

अनुमान लगाया जा रहा है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रामनवमी अर्थात 2 अप्रैल 2020 के दिन मंदिर निर्माण कार्य का शिलान्यास कर सकते हैं।

Shri Ram Janmabhoomi Teerth Kshetra in English

Ramlala, who has been living in tant since 1992 in Ayodhya, will be revered in the temporary temple on March 24.
यह भी जानें

BlogsAyodhya BlogsRam Mandir BlogsJanmbhoomi BlogsRam Janmbhoomi Blogs


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

सावन शिवरात्रि विशेषांक 2020

जानें! सावन की शिवरात्रि से जुड़ी कुछ जानकारियाँ एवं सम्वन्धित प्रेरक तथ्य..

महा शिवरात्रि विशेष 2021

11 मार्च 2021 को संपूर्ण भारत मे महा शिवरात्रि का उत्सव बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाएगा। महा शिवरात्रि क्यों, कब, कहाँ और कैसे? | आरती: | चालीसा | मंत्र |नामावली | कथा | मंदिर | भजन

ISKCON एकादशी कैलेंडर 2020

यह एकादशी तिथियाँ केवल वैष्णव सम्प्रदाय इस्कॉन के अनुयायियों के लिए मान्य है | Wednesday, 1 July 2020
देवशयनी एकादशी व्रत कथा - Devshayani Ekadashi Vrat Katha

Suna Besha - Bhagwan Jagannath's Golden Avatar

Suna Besha (Gold Costume) is one of the special event of Jagannath rath yatra. This year Suna Besha will happen on Thursday, 02 July 2020.

भगवान अलारनाथ की कहानी: श्री जगन्नाथ कथा

अनासार के दौरान जब भगवान जगन्नाथ बीमार हो जाते हैं, तब अलारनाथ मंदिर परिसर मे भगवान को खीर का भोग लगाया जाता है तथा साथ ही साथ भक्तों को भी यही भोग भेंट किया जाता है।

करोना क्वारंटाइन वैसे ही है, जैसे जगन्नाथ रथयात्रा मे अनासार

भक्ति भारत सरल तर्क द्वारा भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा के दौरान अनासार को COVID-19 के स्व-क्वारंटाइन(self-quarantine) से लिंक करके देख रहा है।

Jagannath Rath Yatra 2020: The victory of devotees faith

Faith victory over Corona, SC gives strong permission to perform rath yatra 2020 only in Puri with some restrictions.

🔝