Download Bhakti Bharat APP

भारतीय ऋतुएँ (Indian Ritus/Seasons)

हर साल समय के चक्र के अनुसार मौसम, जलवायु और तापमान में परिवर्तन के चक्र को हिंदी में ऋतु(season) कहते हैं। सूर्य के चारों ओर पृथ्वी के परिक्रमण का परिमाण पृथ्वी की सतह तक पहुँचने वाले सूर्य के प्रकाश की तीव्रता को बदल देता है और इस परिवर्तन के कारण पृथ्वी पर विभिन्न ऋतुएँ आती हैं। जीवों के लिए ऋतुओं का परिवर्तन आवश्यक माना जाता है। आज यहां हम आपको सभी ऋतुओं के नाम और उनके बारे में विस्तार से बताएंगे।

ऋतुएँ कुल कितनी होती हैं?
सभी ऋतुओं की बात करें तो एक वर्ष में कुल छह ऋतुएँ होती हैं। इस मामले में, प्रत्येक मौसम की अवधि दो महीने है। तो आइए अब आपको बताते हैं कि ये कौन से मौसम हैं और इन ऋतुओं को अंग्रेजी और हिंदी में किस नाम से पुकारा जाता है।

छह मौसम/ऋतु
◉ वसंत ऋतु - Spring (चैत्र और वैशाख)
◉ ग्रीष्म ऋतु - Summer (ज्येष्ठ और आषाढ़)
◉ वर्षा ऋतु - Monsoon (श्रवण और भाद्रपद)
◉ शरद ऋतु - Autumn (अश्विन और कार्तिका)
◉ हेमंत ऋतु - Pre-winter (मार्गशिरा और पुष्य/पौष)
◉ शिशिर ऋतु - Winter (माघ और फाल्गुन)

ऋतुओं के बारे में विस्तृत जानकारी।
1. वसंत ऋतु | Spring Season
Spring Season जिसे हिन्दी में वसंत ऋतु कहते हैं। इसका समय फरवरी के मध्य से अप्रैल के मध्य तक रहता है। हिन्दू मास के अनुसार फाल्गुन या चैत्र से वैशाख तक यह समय रहता है। वसंत ऋतु में सर्दी धीरे-धीरे बीत रही है और गर्मी धीरे-धीरे आ रही है। इस अवधि के दौरान मौसम सबसे सुखद होता है, इसलिए वसंत ऋतु को ऋतुओं का राजा भी कहा जाता है।

वसंत में त्योहार
◉ उगादी
◉ गुडी पडवा
◉ होली
राम नवमी
◉ हनुमान जयंती

2. ग्रीष्म ऋतु | Summer Season
Summer को हिंदी में ग्रिश्म रितु कहते हैं। यह ऋतु अप्रैल के मध्य से जून के मध्य तक रहती है। हिन्दू मास के अनुसार यह समय वैशाख या जेष्ठ से आषाढ़ तक रहता है। गर्मी के मौसम में मौसम बहुत गर्म होता है और दोपहर में गर्मी की लहरें अक्सर आती हैं। यही कारण है कि इस मौसम में बच्चों के स्कूल बंद रहते हैं। इस अवधि में दिन रात से बड़े हो जाते हैं।

ग्रीष्म ऋतु में त्यौहार
◉ अक्षय तृतीया
◉ भगवान परशुराम जयंती
◉ श्री बुद्ध जयंती
◉ गंगा दशहरा

3. वर्षा ऋतु | Monsoon Season
Monsoon के मौसम का मतलब है कि बारिश के मौसम में गर्मी जा रही है और बारिश का मतलब बारिश आ रही है। इस मौसम में पेड़-पौधे एक बार फिर खिल जाते हैं। सूखी नदियों में पानी फिर से पानी में बहने लगता है। वर्षा ऋतु जून के मध्य से अगस्त के मध्य तक रहती है। हिन्दू मास के अनुसार यह समय आषाढ़ से सावन तक का होता है।

वर्षा ऋतु के त्यौहार
◉ संत कबीर जयंती
◉ रथ यात्रा उत्सव जगन्नाथपुरी
◉ गुरु पूर्णिमा
◉ संक्रांति (वर्ष का सबसे लंबा दिन), जिसे हिंदी में दक्षिणायन भी कहा जाता है, वर्षा ऋतु की शुरुआत और गर्मी के मौसम के अंत का प्रतीक है।

4. शरद ऋतु | Autumn Season
Autumn Season जिसे हिंदी में शरद ऋतु कहते हैं, अगस्त के मध्य से अक्टूबर के मध्य तक रहती है। हिंदी माह के अनुसार यह समय भादों से अश्विन तक रहता है। शरद ऋतु में मौसम शरद ऋतु है। कहा जाता है कि इस मौसम में पेड़ों से पुराने पत्ते झड़ते हैं और उन पर नए पत्ते आते हैं।

शरद ऋतु में त्यौहार
◉ श्री कृष्ण जन्माष्टमी व्रत
◉ शरद नवरात्रि शुरू
विजया दशमी

5. हेमंत ऋतु | Pre-winter Season
पतझड़। सर्दी के आने से पहले के समय को हेमंत रितु कहते हैं। हेमंत ऋतु अक्टूबर के मध्य से दिसम्बर के मध्य तक रहती है। हिन्दू मास के अनुसार यह समय कार्तिक से पौष तक रहता है। इस मौसम में भारत में कई बड़े त्योहार जैसे दशहरा, दिवाली आदि मनाए जाते हैं। इस मौसम में सर्दी का आगमन धीरे-धीरे होने लगता है।

हेमंत ऋतु में त्यौहार
◉ अहोई अष्टमी व्रत
◉ नरक चतुर्दशी
◉ दीवाली, श्री महालक्ष्मी पूजा
◉ गोवर्धन पूजा
◉ भाई दूजी
◉ गोपाष्टमी
◉ तुलसी विवाह
◉ कार्तिक पूर्णिमा, श्री गुरु नानक जयंती

6. शिशिर ऋतु | Winter Season
Winter Season अर्थात शिशिर ऋतु में कड़ाके की सर्दी पड़ती है। घरों में कम्बल और रजाई निकल जाती है। अक्सर लोगों को रात में सिगरी पर हाथ थपथपाते देखा जाता है। सर्दी का मौसम दिसंबर के मध्य से फरवरी के मध्य तक रहता है। हिन्दू मास के अनुसार यह समय माघ से फाल्गुन तक का होता है।

शिशिर ऋतु में त्यौहार
◉ लोहड़ी का त्योहार, गुरु गोबिंद सिंह जयंती
◉ पुत्रदा एकादशी व्रत
◉ वसंत पंचमी

भक्ति भारत का आपसे यह अनुरोध है कि अगर आपको यह लेख पसंद आया तो आप अपना बहुमूल्य सुझाव दें और हमारे साथ बने रहें।

Indian Ritus/Seasons in English

Talking about all the seasons, there are a total of six seasons in a year. In this case, the duration of each season is two months.
यह भी जानें

Blogs Ritu BlogsSeason BlogsMonth BlogsMahina Blogs

अगर आपको यह ब्लॉग पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस ब्लॉग को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

विजयदशमी स्पेशल

शारदीय नवरात्रि वर्ष 2022 में 26 सितम्बर से प्रारंभ हो रही है। आइए जानें! ऊर्जा से भरे इस उत्सव के जुड़ी कुछ विशेष जानकारियाँ, आरतियाँ, भजन, मंत्र एवं रोचक कथाएँ त्वरित(quick) लिंक्स के द्वारा...

राम नवमी का महत्व क्या है?

राम नवमी को भगवान राम के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

मैसूर दशहरा

मैसूर दशहरा 10 दिनों तक चलने वाला त्योहार है जो बहुत ही धूमधाम के साथ मैसूर में मनाया जाता है | मैसूर दशहरा कैसे मनाया जाता है? | मैसूर दशहरा महोत्सव 2022 कब शुरू होगा

आयुध पूजा

आयुध पूजा बुराई पर अच्छाई की जीत और देवी दुर्गा द्वारा राक्षस महिषासुर के विनाश के उत्सव का प्रतीक है। इसे नवरात्रि उत्सव के हिस्से के रूप में मनाया जाता है। आयुध पूजा के लिए, देवी सरस्वती, पार्वती माता और लक्ष्मी देवी को पूजा जाता है। दक्षिण भारत में विश्वकर्मा पूजा के समान लोग अपने उपकरणों और शस्त्रों की पूजा करते हैं।

कोलकाता का दुर्गा पूजा समारोह

कोलकाता में दुर्गा पूजा उत्सव का माहौल कुछ अलग ही होता है। यहाँ की दुर्गा पूजा विश्व प्रसिद्ध है और इसे 2021 में मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की यूनेस्को की प्रतिनिधि सूची में भी शामिल किया गया था। हर साल, कोलकाता दुर्गा पूजा पंडालों में एक नई थीम लाता है, जो अपने तरीके से अद्वितीय और अभिनव हैं।

नवरात्रि में कन्या पूजन की विधि

नवरात्रि में विधि-विधान से मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। इसके साथ ही अष्टमी और नवमी तिथि को बहुत ही खास माना जाता है, क्योंकि इन दिनों कन्या पूजन का भी विधान है। ऐसा माना जाता है कि नवरात्रि में कन्या की पूजा करने से सुख-समृद्धि आती है। इससे मां दुर्गा शीघ्र प्रसन्न होती हैं।

दुर्गा पूजा धुनुची नृत्य

धुनुची नृत्य नाच दुर्गा पूजा के दौरान किया जाने वाला एक भक्ति नृत्य है और यह बंगाल की पारंपरिक नृत्य है। मां दुर्गा को धन्यवाद प्रस्ताव के रूप में पेश किया जाने वाला नृत्य शाम की दुर्गा आरती में ढाक बाजा, उलू ध्वनि की ताल पर किया जाता है।

Durga Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App