⛏️हल षष्ठी - Hal Sashti

Hal Sashti Date: 28 August 2021
पारंपरिक हिंदू पंचांग में हल षष्ठी एक महत्वपूर्ण त्यौहार है। यह भगवान श्रीकृष्ण के बड़े भाई बलराम को समर्पित है।

पारंपरिक हिंदू पंचांग में हल षष्ठी एक महत्वपूर्ण त्यौहार है। यह भगवान श्रीकृष्ण के बड़े भाई बलराम को समर्पित है। भगवान बलराम माता देवकी और वासुदेव जी के सातवें संतान थे। हल षष्ठी का त्योहार भगवान बलराम की जयंती के रूप में मनाया जाता है।

रक्षा बंधन और श्रवण पूर्णिमा के छह दिनों के बाद बलराम जयंती मनाई जाती है। इसे राजस्थान जैसे अन्य राज्यों में विभिन्न नामों से जाना जाता है, इसे गुजरात में चंद्र षष्ठी के रूप में जाना जाता है, और ब्रज क्षेत्र में बलदेव छठ को रंधन छठ के रूप में जाना जाता है। भगवान बलराम को शेषनाग के अवतार के रूप में पूजा जाता है, जो क्षीर सागर में भगवान विष्णु के हमेशा साथ रहिने वाली शैया के रूप में जाने जाते हैं।

संबंधित अन्य नाम
बलराम जयन्ती, ललही छठ, बलदेव छठ, रंधन छठ, हलछठ, हरछठ व्रत, चंदन छठ, तिनछठी, तिन्नी छठ

Hal Sashti in English

Hal Sashti is an important festival in the traditional Hindu calendar. It is dedicated to Lord Balaram who is an elder brother of Shri Krishna.

संबंधित जानकारियाँ

भविष्य के त्यौहार
17 August 20225 September 202324 August 202424 August 2025
आवृत्ति
वार्षिक
समय
1 दिन
सुरुआत तिथि
भाद्रपद कृष्ण षष्ठी
समाप्ति तिथि
भाद्रपद कृष्ण षष्ठी
महीना
अगस्त / सितंबर
कारण
भगवान बलराम की जयंती
उत्सव विधि
प्रार्थना, भजन, कीर्तन
महत्वपूर्ण जगह
मथुरा, वृंदावन, ब्रजभूमि, श्री कृष्ण मंदिर, इस्कॉन मंदिर
अगर आपको यह त्यौहार पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस त्यौहार को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

🔝