धनतेरस | तुलसी विवाह | आज का भजन!

बाबड़ी मंदिर लभौआ - Babadi Mandir Labhaua


updated: Feb 14, 2019 09:24 AM 🔖 बारें में | 🕖 समय सारिणी | ♡ मुख्य आकर्षण | 📜 इतिहास | 📷 फोटो प्रदर्शनी | ✈ कैसे पहुचें | 🌍 मानचित्र | 🖋 कॉमेंट्स


लभौआ स्टेट के शाही परिवार द्वारा बनाई गई बाबड़ी के साथ ही बना यह शिव-शक्ति मंदिर, आज बाबड़ी मंदिर लभौआ के नाम से प्रसिद्ध है। मंदिर की स्थापना लगभग 400 बर्ष पुरानी है। भक्तों की मनोकामनाएँ पूर्ण होने पर, भक्त अपनी इच्छा अनुसार मंदिर में घंटा अथवा झंडा चढ़ाते हैं। आज के मंदिर परिसर की नवीनतम रचना श्री राम दरवार है। मंदिर समिति द्वारा नये तालाब की खुदाई का कार्य भी प्रगती पर चल रहा है। प्रत्येक चैत्र, अषाढ़ व कार्तिक की पूर्णिमा को मंदिर में मेले का आयोजन होता है।

प्रचलित नाम: लभौआ मंदिर, राजा लायक सिंह शिव शक्ति मंदिर

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • लभौआ स्टेट के शाही परिवार द्वारा निर्मित बबाड़ी।
  • लगभग 400 साल पुराना शिव मंदिर।

समय सारिणी - Timings

दर्शन समय
4:00 AM - 10:00 PM
त्यौहार
Shivaratri, Navratri, Holi, Diwali, Hanuman Jayanti|Hanuman Janmotsav, Ganeshotsav|Ganesha Chaturthi, Shani Jayanti|Shanishchari Amavasya, Janmashtami | Read Also: नवरात्रि

बावड़ी - Babadi

Old formation of stepwells are called Babadi. In Hindi speaking regions, it includes distinct names based on local appearence as baudi or bawdi or bawri or baoli or bavadi or bavdi or बावली, vav or vaav or વાવ (Gujarati), kalyani or pushkarani(Kannada) and barav or बारव (Marathi).

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

Babadi Mandir Labhaua in English

The Shiv-Shakti temple attached with the Babadi built by the royal family of Labhaua Estate is known as Babadi Mandir Labhaua. Establishment of the temple is approximately 400 years old.

जानकारियां - Information

धाम
Shri Ram FamilyShivling with GanShri Sanduri HanumanMaa ShailputriMaa BrahmacharinidMaa ChandraghantaMaa KushmandaMaa DurgaMaa SkandamataMaa KatyayaniMaa KalratriMaa MahagauriMaa SiddhidatriBaba Bhairav NathShri Sani MaharajAkhand JyotiYagyashalaMaa TulsiPeepal TreeBanana TreeVat Vriksh
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Drinking Water, Hand Pump, Shose Store, Sitting Benches, Baabadi, Pond / Taalab / Sarowar, Yagyashala, Satsang Hall, Office
संस्थापक
लभौआ स्टेट का शाही परिवार
देख-रेख संस्था
बाबड़ी मंदिर सर्वांगीन विकास समिति
समर्पित
भगवान शिव
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

क्रमवद्ध - Timeline

24 May 2013

बाबड़ी मंदिर सर्वंगिन विकास समिति की स्थापना।

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Mohammadpur Labhaua Shikohabad Uttar Pradesh
सड़क/मार्ग 🚗
NH19 / Agra Road >> Pratapur Road
रेलवे 🚉
Shikohabad
निर्देशांक 🌐
27.149644°N, 78.559282°E
बाबड़ी मंदिर लभौआ गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/babadi-mandir

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती: तुलसी महारानी नमो-नमो!

तुलसी महारानी नमो-नमो, हरि की पटरानी नमो-नमो। धन तुलसी पूरण तप कीनो, शालिग्राम बनी पटरानी।

आरती: ॐ जय जगदीश हरे!

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे। भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

भगवान श्री चित्रगुप्त जी की आरती!

ॐ जय चित्रगुप्त हरे, स्वामी जय चित्रगुप्त हरे। भक्तजनों के इच्छित, फल को पूर्ण करे॥

top