सकट चौथ - Sakat Chauth


Updated: Jan 05, 2020 10:19 AM बारें में | संबंधित जानकारियाँ | यह भी जानें


आने वाले त्यौहार: 31 January 2021
प्रत्येक माह की चतुर्थी श्री गणेश की पूजा का दिन माना गया है। माघ चतुर्थी को सकट चौथ के रूप में मनाया जाता है।

प्रत्येक माह की चतुर्थी श्री गणेश की पूजा का दिन माना गया है। माघ चतुर्थी को सकट चौथ के रूप में मनाया जाता है। इस दिन स्त्रियां अपने संतान की दीर्घायु और सफलता के लिये व्रत करतीं है। तथा विघ्न हरण श्री गणेश उनके संतान को रिद्धि-सिद्धि प्रदान करते हैं।

व्रत की दिनचर्या के दौरान स्त्रियां पूरे दिन निर्जला व्रत रखती है तथा शाम होने पर श्री गणेश पूजन कर चंद्रमा को अर्घ्य देने के पश्चात् ही जल ग्रहण करती है।

राजस्थान में सकट चौथ व्रत माता सकट को समर्पित किया जाता है। संकट चौथ माता का मंदिर, अलवर से 60 किमी दूर सकट गाँव में स्थित है।

नैवेद्य के रूप में तिल तथा गुड़ से बने हुए लड्डू, ईख, शकरकंद (गंजी), अमरूद, गुड़ तथा घी को अर्पित करने की महिमा है।

संबंधित अन्य नाम
तिल चौथ, तिलकुट चौथ, माही चौथ, तिलकुटा चौथ, संकट चौथ, वक्र तुण्डी चतुर्थी

Sakat Chauth in English

Magh Chaturthi is celebrated as Sakat Chauth. Sankat Chauth Mata Temple is located in village Sakat, 60 km from Alwar.

सकट चौथ पौराणिक व्रत कथा

प्रथम कथा
कहते हैं कि सतयुग में राजा हरिश्चंद्र के राज्य में एक कुम्हार था। एक बार तमाम कोशिशों के बावजूद जब उसके बर्तन कच्चे रह जा रहे थे तो उसने यह बात एक पुजारी को बताई। ...सकट चौथ की पूरी कथा जानने के लिए यहाँ क्लिक करें!

द्वतीय कथा
एक साहूकार और एक साहूकारनी थे। वह धर्म पुण्य को नहीं मानते थे। इसके कारण उनके कोई बच्चा नहीं था। एक दिन साहूकारनी पडोसी के घर गयी। उस दिन सकट चौथ था, वहाँ पड़ोसन सकट चौथ की पूजा कर के कहानी सुना रही थी। ...सकट चौथ की पूरी कथा जानने के लिए यहाँ क्लिक करें!

तृतीय कथा
एक बार महादेवजी पार्वती सहित नर्मदा के तट पर गए। वहाँ एक सुंदर स्थान पर पार्वतीजी ने महादेवजी के साथ चौपड़ खेलने की इच्छा व्यक्त की। ...सकट चौथ की पूरी कथा जानने के लिए यहाँ क्लिक करें!

संबंधित जानकारियाँ

भविष्य के त्यौहार
21 January 202210 January 202329 January 2024
आवृत्ति
वार्षिक
समय
1 दिन
सुरुआत तिथि
मार्गशीर्ष कृष्णा चतुर्थी
समाप्ति तिथि
मार्गशीर्ष कृष्णा चतुर्थी
महीना
दिसंबर / जनवरी
उत्सव विधि
व्रत, पूजा, श्री गणेश मंत्र, व्रत कथा, भजन-कीर्तन
महत्वपूर्ण जगह
घर एवं श्री गणेश मंदिर
पिछले त्यौहार
13 January 2020, 24 January 2019

अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!
* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें
🔝