Shri Ram Bhajan
Hanuman Chalisa - Follow Bhakti Bharat WhatsApp Channel - Om Jai Jagdish Hare Aarti - Ram Bhajan -

आर्य समाज मंदिर, अशोक विहार - Arya Samaj Mandir

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

◉ श्री अक्षरपुरुषोत्तम मंदिर के सामने ही स्थित मंदिर।
◉ दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा से रजिस्टर मंदिर।

सभरवाल, भल्ला और श्री हंसराज मदान परिवारों के महान प्रयासों से, डीडीए ने वैदिक संस्कृति के प्रचार-प्रसार हेतु, आर्य समाज मंदिर अशोक विहार का उत्तरदायित्व तय करने के साथ-साथ मंदिर को 500 वर्ग मीटर का भूखंड आवंटित किया। इस भूमि पर आज यह आर्य समाज मंदिर, वैदिक धर्म के विस्तार हेतु बहुत ही कुशलता के साथ कार्य कर रहा है।

कुछ वर्षों के उपरांत सन् 1990 में मंदिर परिसर में एक यज्ञ शाला एवं सत्संग हॉल का निर्माण किया गया। यह मंदिर, दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा से रजिस्टर भी है, आर्य प्रतिनिधि सभा, हनुमान मंदिर कनॉट प्लेस के सामने ही स्थित है।

प्रचलित नाम: अशोक विहार आर्य समाज मंदिर

समय - Timings

त्योहार
Kartik Poornima | यह भी जानें: एकादशी

Arya Samaj Mandir in English

By the great efforts of Sabharwal family, Bhalla family and Shri Hansraj Madan, DDA allot a 500 square meter plot to increase vaidik sanskriti and this place named as आर्य समाज मंदिर (Arya Samaj Mandir) Ashok Vihar.

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
Hawan Shala having havan kund and Saskrit Mantra written on the wall.

Hawan Shala having havan kund and Saskrit Mantra written on the wall.

Full view of themple with green ara and yagyashala with OM wtitten on the shikhar.

Full view of themple with green ara and yagyashala with OM wtitten on the shikhar.

Photo and thoughts of the founder of Arya Samaj Swami Dayananda Saraswati in satsang hall which is also used for shok sabha

Photo and thoughts of the founder of Arya Samaj Swami Dayananda Saraswati in satsang hall which is also used for shok sabha

Entry gate of the temple and full inner view of Yagyashala from near by Shri Swaminarayan Temple.

Entry gate of the temple and full inner view of Yagyashala from near by Shri Swaminarayan Temple.

A square hawan kund build in middle of  ashtha bhuj structure of Hawanshal and supported by eight pillars. All eight walls decorated with vaidik mantras

A square hawan kund build in middle of ashtha bhuj structure of Hawanshal and supported by eight pillars. All eight walls decorated with vaidik mantras

जानकारियां - Information

मंत्र
ॐ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्यः धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात्॥
धाम
Yagya Shala (1990)Satsang Hall
बुनियादी सेवाएं
Drinking Water, Satsang Hall, Shoe Store, Wash Rooms
धर्मार्थ सेवाएं
Yatriniwas (Dharmashala), SANT Niwas, Homeopathy and Naturapathy Dispensaries, Library, Yoga Centre, Bengali language classes, Daridro Narayan Seva, Big Durga Puja Pandal, Musical Fountain
संस्थापक
श्रीमती. प्रेम सभरवाल और नवीन सभरवाल
स्थापना
2 अप्रैल 1981
देख-रेख संस्था
आर्य समाज मंदिर परिषद
समर्पित
वेद
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)
नि:शुल्क प्रवेश
हाँ जी

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Shakti Nagar Extension, Ashok Vihar Phase-3, Ashok Vihar New Delhi
सड़क/मार्ग 🚗
Vir Banda Bairagi Marg >> Swami Narayan Marg >> Kaka Ji Marg
रेलवे 🚉
New Delhi
हवा मार्ग ✈
Indira Gandhi International Airport, New Delhi
नदी ⛵
Yamuna
सोशल मीडिया
निर्देशांक 🌐
28.683945°N, 77.186863°E
आर्य समाज मंदिर, अशोक विहार गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/arya-samaj-mandir-ashok-vihar

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

भक्ति-भारत वॉट्स्ऐप चैनल फॉलो करें »
इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री बृहस्पति देव की आरती

जय वृहस्पति देवा, ऊँ जय वृहस्पति देवा । छिन छिन भोग लगा‌ऊँ..

श्री गणेश आरती

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥...

हनुमान आरती

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ आरती कीजै हनुमान लला की । दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥..

×
Bhakti Bharat APP