कौशाम्बी मेट्रो स्टेशन उत्तर प्रदेश


बारें में | मंदिर दर्शन | सेवाएं और मार्ग


कौशाम्बी Metro StationIn Delhi metro’s blue line, Kaushambi metro station is located.

By departing from Kaushambi metro station devotees can visit Shri Jagannath Mandir, Balaji Mandir Vaishali and Prachin Shri Shiv Shakti Mandir. Other nearby temples are shani and hanuman mandir Sahibabad, Shri Ganesh and Hanuman Temple kaushambi, Hanuman temple, Guari Shankar Mandir, Old Sai mandir, Khera Devat Mandir, Jia Baba Mohan Ram Mandir, Devat Mandir, Sangh Mitra Buddha Vihar, Shri Radha Krishna mandir and Gaur Galaxy Sai temple.

Kaushambi the nearest locality of city Ghaziabad from state Delhi, 100 meters far from ISBT Anand Vihar, well connectivity with National Highway 24. Due to the nearby location of Kaushambi, this station is named as Kaushambi Metro Station. Convenient to connect with Kaushambi, Indirapuram, Vaishali, Sahibabad and other nearby areas. On the ground floor of the station, McDonald's and Domino Pizza like food options are available with the entrance from Anand Vihar Mohan Nagar roadside. #MandirDarshanViaDelhiMetro

कौशाम्बी के निकट मंदिर - Mandir Near Kaushambi Metro Station

श्री जगन्नाथ मंदिर @Vaishali Uttar Pradesh

वैशाली उप-महानगर में ओडिशा सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र श्री जगन्नाथ मंदिर सेक्टर-2 मुख्य बाजार क्षेत्र में वार्षिक गुंडिचा यात्रा के लिए प्रसिद्ध है।


बालाजी मंदिर, वैशाली @Vaishali Uttar Pradesh

सनवैली इंटरनेशनल स्कूल वैशाली के पास श्री हनुमंत लाल के बालाजी रूप को समर्पित श्री मनोकामना सिद्ध बालाजी मंदिर स्थित है।


प्राचीन श्री शिव शक्ति मंदिर @Ghaziabad Uttar Pradesh

भगवान शिव एवं माँ आदिशक्ति को समर्पित वैशाली का सबसे पुराना गौरी-शंकर मंदिर प्राचीन श्री शिव शक्ति मंदिर के नाम से जाना जाता है।


सेवाएं और मार्ग

एटीएम
HDFC BankRatnakar Bank (RBL)
पार्किंग
yes
Blue Line
elevated
2011
side

श्री गणेश आरती

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥...

रघुवर श्री रामचन्द्र जी आरती

आरती कीजै श्री रघुवर जी की, सत चित आनन्द शिव सुन्दर की॥

तुलसी आरती - महारानी नमो-नमो

तुलसी महारानी नमो-नमो, हरि की पटरानी नमो-नमो। धन तुलसी पूरण तप कीनो, शालिग्राम बनी पटरानी।

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी: आरती

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी, तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी॥

विन्ध्येश्वरी आरती: सुन मेरी देवी पर्वतवासनी

स्तुति श्री हिंगलाज माता और श्री विंध्येश्वरी माता सुन मेरी देवी पर्वतवासनी...

🔝