Hanuman ChalisaSawan 2022

गुलमोहर शिवालय - Gulmohar Shivalay

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • मंदिर परिसर में विभिन्न प्रकार के पवित्र पेड़ और पौधे लगे हुए हैं।
  • प्रत्येक मंगलवार और गुरुवार को मंदिर द्वारा भंडारा जाता है।
🔔 Today Special: Thursday, 11 Aug 2022
A small bhoj in the form of Prasad of Guru Brihaspati Dev has been organized from 6 pm in the holy premises of the temple, the devotees are invited to get Prasadi.

वैशाली सेक्टर 5 का सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिर गुलमोहर शिवालय है। यह शिव मंदिर, गुलमोहर लेन में स्थित होने के कारण गुलमोहर शिवालय कहलाया। मंदिर का शांतिपूर्ण तथा स्वच्छ वातावरण इसकी महत्ता को और भी बढ़ाता है।

नवरात्रि के उपलक्ष्य पर, पिछले दो वर्ष के उपरांत गुलमोहर शिवालय नवमी भंडारे का पुनः आयोजन कर रहा है। भोग पाने हेतु आप स-परिवार सादर आमन्त्रित हैं।
समय: रविवार 10 अप्रैल 2022, दोपहर 12:00 बजे से उपलब्धता तक।

मंदिर के प्रमुख महंत श्री लवकुश शास्त्री जी (98185 81904), यहाँ होने वाले सभी आयोजनों तथा धार्मिक अनुष्ठानों में बढ़-चढ़ कर अपनी भागीदारी सुनिश्चित करते हैं। तथा रूचि के साथ सभी भक्तों को त्यौहारों की महिमा का गुणगान भी करते है। मंदिर परिसर में पूजा करने के लिए वट वृक्ष/बरगद, केला, कल्पवृक्ष, रुद्राक्ष तथा आंवला जैसे विभिन्न प्रकार के पवित्र पेड़/पौधे उपलब्ध है।

प्रत्येक मंगलवार एवं गुरुवार को मंदिर द्वारा भंडारे का आयोजन किया जाता है, इसके साथ ही वार्षिक भंडारों में नवरात्रि, हनुमान जयंती (सवा-मनी भंडारा) तथा श्री कृष्ण छठी महोत्सव के भंडारे प्रमुख हैं। प्रत्येक मंगलवार तथा शनिवार को मंदिर में सुंदरकाण्ड का पाठ किया जाता है।

दोनों नवरात्रि पर्व के दौरान प्रतिदिन माता-रानी के भजन-कीर्तन का आयोजन किया जाता है, उसके पश्चात नवमी के दिन विशाल भंडारे का आयोजित किया जाता है। तथा शारदीय नवरात्रि के प्रथम रविवार को भक्ति-भारत द्वारा मंदिर मे भंडारे का आयोजन भी किया जाता है।

दीवाली उत्सव मे आने वाली गोवर्धन पूजा मे अन्नकूट का भोग लगाकर, भोग को भक्तों के बीच प्रसाद रूप मे वितरण किया जाता है। मंदिर के सभी भंडारों तथा भोग प्रसाद मे पवित्रता एवं सुद्धता का विशेष ध्यान रखा जाता है।

भक्तजन मंदिर के निर्माण, विकाश और सौंदर्यीकरण के लिए अपनी सामर्थ के अनुरूप अपना योगदान विभिन्न प्रकार से (चेक, अकाउंट ट्रान्स्फर या मंदिर द्वार रशीद कटा कर) कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए नीचे दानपात्र सेक्शन में देखें..

समय - Timings

दर्शन समय
Summer: 5.00 AM - 12.00 PM, 5.00 PM - 9:00 PM, Winter: 6.00 AM - 1.00 PM, 5.00 PM - 9:00 PM
त्यौहार

COVID-19 Guidelines

उभरती हुई COVID-19 (कोरोना वायरस) की स्थिति को देखते हुए, गुलमोहर मंदिर सेवा समिति के दिशा निर्देश:
❀ मंदिर मे उचित स्थान पर ही जूते उतारें।
❀ फेस कवर अथवा मास्क पहन कर ही मंदिर मे प्रवेश करें।
❀ हाथों को साबुन अथवा सैनीटैइजर से अवश्य साफ करें।
❀ 65 साल उम्र से अधिक भक्त, मंदिर आने से बचें।
❀ 10 साल से कम उम्र के छोटे भक्त भी, मंदिर आने से बचें।
❀ मधुमेह, उच्च रक्तचाप आदि बीमारियों वाले भक्त भी मंदिर आने से बचें।
❀ शरीर का अधिक तापमान होने पर, भक्त को मंदिर मे प्रवेश की अनुमति नहीं है।
❀ मंदिर मे किसी भी मूर्ति को स्पर्श न करें।
❀ भगवान को फल, फूल, प्रसाद इत्यादि अर्पण न करें।
❀ शिवलिंग पर केवल जल ही चढ़ाया जाएगा।
❀ अतः भक्त बेलपत्र, भाँग, धतूरा इत्यादि लेकर मंदिर ना आएँ।
❀ गर्भग्रह मे, एक समय पर केवल 4 भक्त की जाएँ।
❀ भक्त आपस मे उचित दूरी बनाए रखें।
❀ भक्त सफाई का विशेष ध्यान रखें।
❀ मंदिर मे दिए गये निर्देशों का सख्ती पालन से करें।

दान पात्र - Donate

FAVOUR OF CHEQUE: GULMOHAR SHIVALAI MANDIR SEWA SAMITI BANK: YES BANK LTD. BRANCH: VAISHALI SECTOR 3 A/C NO: 047094600000352 IFS CODE: YESB0000470 ज़्यादा जानकारी के लिए संपर्क करें - श्री राजीव सिंह कुशवाह: 98116 01936 or BhaktiBharat.com@gmail.com

Gulmohar Shivalay in English

Gulmohar Shivalay dedicated to Lord Shiv along with Shri Shani Dham near Vaishali metro station.

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

गुलमोहर शिवालय

Shri Bharat Charit Manas Katha by katha vachak Devi Rukmini Ji and her supporting team.

Shri Bharat Charit Manas Katha by katha vachak Devi Rukmini Ji and her supporting team.

Direct linking of sentimentality legend signifying attempt, and discribe Bharat - Ram milap with natural and poignant vision.

Direct linking of sentimentality legend signifying attempt, and discribe Bharat - Ram milap with natural and poignant vision.

Main Shikhar with Flag

Main Shikhar with Flag

Children Park with Fisal Patti (Playground Slide)

Children Park with Fisal Patti (Playground Slide)

Shri Shani Dham in Temple

Shri Shani Dham in Temple

Children Park with Jhula (Swing)

Children Park with Jhula (Swing)

जानकारियां - Information

धाम
Right - Left: Shri Ganesh JiMaa GayatriShri Ram FamilyMaa Shera WaliShri Radha KrishnShri Lakshmi Narayan JiShri Sai Ji MaharajShri Hanuman Ji MaharajShivling and Shiv FamilyShri Shani DhamPeepal TreeBanana TreeMaa TulasiBel Patr
बुनियादी सेवाएं
RO and Water Cooler, Prasad, CCTV Security, Children Park, Shoe Store
धर्मार्थ सेवाएं
Bhandara (Packed and Hygiene Food) Every Tuesday and Thursday Navami (Sukla Chaitra, Shukla Ashvin) Govardhan Puja (Annakut) Last Thursday of Every Month Bhajan / Kirtan: Tuesday, Thursday (3:00 PM - 6:00 PM)
संस्थापक
श्री ओमवीर सिंह कुशवाह
स्थापना
2001
देख-रेख संस्था
गुलमोहर शिवालय मंदिर सेवा समिति
महंत
श्री लवकुश शास्त्री जी 📞 98185 81904
समर्पित
भगवान शिव
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)
नि:शुल्क प्रवेश
हाँ जी

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Sector 5 Vaishali Uttar Pradesh
सड़क/मार्ग 🚗
Madan Mohan Malviya Marg (Mohan - Anand Vihar Road) > Kaling Marg (Near Shopprix Mall) > Gulmohar Lane
रेलवे 🚉
Ghaziabad Junction
हवा मार्ग ✈
Indira Gandhi International Airport
नदी ⛵
Hindon
सोशल मीडिया
Facebook
निर्देशांक 🌐
28.644213°N, 77.34289°E
गुलमोहर शिवालय गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/gulmohar-shivalay

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री बृहस्पति देव की आरती

जय वृहस्पति देवा, ऊँ जय वृहस्पति देवा । छिन छिन भोग लगा‌ऊँ..

श्री सत्यनारायण जी आरती

जय लक्ष्मी रमणा, स्वामी जय लक्ष्मी रमणा। सत्यनारायण स्वामी, जन पातक हरणा॥

ॐ जय जगदीश हरे आरती

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे। भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App