पितृ पक्ष | शारदीय नवरात्रि | शरद पूर्णिमा | आज का भजन!

श्री राम मंदिर - Shri Ram Mandir Coming Soon


updated: Aug 27, 2019 07:04 AM 🔖 बारें में | 🕖 समय सारिणी | 📷 फोटो प्रदर्शनी | ✈ कैसे पहुचें | 🌍 मानचित्र | 🖋 कॉमेंट्स


शिकोहाबाद के मेला वाले बाग में टुईयाँ वाले मंदिर के सामने स्थित है, यह नवनिर्मित श्री राम मंदिर जिसे टुईयाँ वाले राम मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

मंदिर के सत्संग भवन की दीवारों पर सम्पूर्ण रामायण, हनुमान चालीसा एवं हनुमान अष्टक लेख रूप मे अंकित किया गया है। सत्संग हॉल में प्रवेश करने हेतु, 7 (सात) प्रवेश द्वारों का निर्माण किया गया है, जोकि रामायण के सात काण्ड को दर्शाते हैं।

प्रतिवर्ष, पितृ पक्ष / श्राद्ध / कानागत के दौरान मंदिर में सप्त-दिवसीय राम कथा का आयोजन किया जाता है, जिसका आनंद लेने के लिए भक्त दूर-दूर से रामकथा में सम्लित होते हैं।

प्रचलित नाम: टुईयाँ वाला राम मंदिर

समय सारिणी

दर्शन समय
5:00 AM - 12:00 PM, 4:00 - 9:30 PM
7:00 AM: सुवह आरती
as per sun set: संध्या आरती
त्यौहार

फोटो प्रदर्शनी

Photo in Full View
BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

Shri Ram Mandir - Available in English

शिकोहाबाद के मेला वाले बाग में टुईयाँ वाले मंदिर के सामने स्थित है, यह नवनिर्मित श्री राम मंदिर जिसे टुईयाँ वाले राम मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

जानकारियां

समर्पित
श्री रामचंद्र जी
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

कैसे पहुचें

पता 📧
Mela Wala Bagh Shikohabad Uttar Pradesh
सड़क/मार्ग 🚗
Station Road >> Mela Wala Bagh Road
रेलवे 🚉
Shikohabad(J)
हवा मार्ग ✈
Pandit Deen Dayal Upadhyay Airport, Agra
नदी ⛵
Sirsa, Yamuna
निर्देशांक 🌐
27.099520°N, 78.577333°E
श्री राम मंदिर गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/ram-mandir-shikohabad

अगला मंदिर दर्शन

अपने विचार यहाँ लिखें

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती: श्री विश्वकर्मा जी

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु, जय श्री विश्वकर्मा। सकल सृष्टि के करता, रक्षक स्तुति धर्मा॥

आरती: श्री गणेश जी

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥...

आरती: श्री गणेश - शेंदुर लाल चढ़ायो!

शेंदुर लाल चढ़ायो अच्छा गजमुखको। दोंदिल लाल बिराजे सुत गौरिहरको।...

top