श्री वनखण्डेश्वर मंदिर - Shri Vankhandeshwar Mandir

सिरसागंज शहर का सबसे प्रसिद्ध एवं पुरातन मंदिर, श्री वनखण्डेश्वर मंदिर, इस धार्मिक स्थल को स्थानीय समुदाय द्वारा साधारण बोल-चाल की भाषा में बरखंडी कहा जाता है। मंदिर में भगवान शिव के वनखण्डेश्वर स्वरूप की पूजा की जाती है। मंदिर में बाँकेविहारी जी एवं वनखण्डेश्वर स्वरूप शिवलिंगम सबसे प्राचीन विग्रह हैं।

मंदिर का विशाल हरा-भरा प्रांगण इसके वातावरण को और भी अधिक रमणीय बनता है। भगवान शिव की उपस्थिति के साथ-साथ यहाँ श्री राधा कृष्ण एवं श्री हनुमान जी महाराज के दर्शन शुलभ हैं।

कामदा एकादशी अर्थात चैत्र शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन श्री राधा वल्लभ जी की शोभा यात्रा सारे नगर मे डुलाई जाती है। इस विशेष उत्सव पर श्री राधा कृष्ण को बहुत ही मनमोहक ढंग से सजाया जाता है, उसके उपरांत शाम 7 बजे बेंड-बाजों के साथ सारे नगर मे शोभा यात्रा निकली जाती है, साथ ही साथ नगर के प्रतिष्ठित भक्त श्री युगल किशोर जी का पूजन तथा कीर्तन का आयोजन करते हैं। यह शोभायात्रा जन साधारण के बीच भगवान का डोला के नाम से प्रसिद्ध है. इस शोभायात्रा की भव्यता इसी से जानी जा सकती है कि, ये यात्रा 12 घंटे होने के पश्चात भी सुवह 8 बजे तक सम्पन नहीं हो पाती है।

जन्माष्टमी मंदिर का सबसे भव्य त्यौहार है, जिसके अंतर्गत श्रीमद्‍भगवद्‍ कथा का आयोजन किया जाता है। दीवाली के पश्चात गोवर्धन पूजा के दिन अननकूट का भोग एवं भंडारा किया जाता है।

चैत्र एवं शारदीय नवदुर्गा के दौरान प्रत्येक दिन सुवह 5 बजे मंगला आरती, 9 बजे हवन एवं प्रसाद वितरण एवं शाम को महाआरती का आयोजन किया जाता है। नवरात्रि के समापन अर्थात नवमी के दिन विशाल भंडारे का आयोजन भी किया जाता है। माह के प्रत्येक कृष्ण एवं शुक्ल की अष्टमी तिथि पर प्रातः 9 बजे हवन तथा उसके उपरांत प्रसाद वितरण किया जाता है।

सन् 1991 मे मंदिर परिसर मे स्थित शिव धाम के निकट व्यास गद्दी का निर्माण किया गया, जिसके फलस्वरूप मंदिर को सभी ऋतुओं मे सुगम एक स्थाई कथा वाचन की जगह मिली। मंदिर तक पहुँचने के लिए, मुख्य शहर से दूर, कौरारा रोड से अहमदपुर की ओर जाते हुए, सिरसा नदी से पहिले ही बाईं ओर जाते हुए रास्ते मे स्थित है।

प्रचलित नाम: बरखंडी

समय - Timings

दर्शन समय
6:00 AM - 1:00 PM, 4:00 PM - 8:00 PM
6:00 AM: गर्मी: प्रभात आरती
7:00 AM: शरद: प्रभात आरती
6:00 PM: गर्मी: संध्या आरती
5:00 PM: शरद: संध्या आरती
त्यौहार

About Sirsaganj

सिरसा(River Sirsa), गंज(a place where people trading) A large place of market on bank of river Sirsa. However the river has gone extinction and are only ruins of the river left in the town. Also called The city of Cold Storages. Primary economy source of this city is potato crop. Potato and chilli mandi are famous in UP and outside of the state. Teej Mela(तीज मेला) is organized on first teej after Holi in the month of March by Nagar Palika Parishad Sirsaganj.

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
Shiv Mandir and Hawan Shala And Resting Area

Shiv Mandir and Hawan Shala And Resting Area

Shri Hanuman Dham

Shri Hanuman Dham

Resting Area

Resting Area

Full view of two dham

Full view of two dham

Banyan Tree

Banyan Tree

Shri Radha Krishn Dham, Shikhar

Shri Radha Krishn Dham, Shikhar

Shiv Mandir and Peepal Tree

Shiv Mandir and Peepal Tree

Green Area

Green Area

Green Area

Green Area

Shri Radha Krishna Dham, Garbh Grahv

Shri Radha Krishna Dham, Garbh Grahv

Lord Shiv Dham

Lord Shiv Dham

Primary Entry Gate

Primary Entry Gate

Shri Vankhandeshwar Mandir in English

Shri Vankhandeshwar Mandir oldest and famous temple of Sirsaganj, popularly called as Barkhandi by local community.

जानकारियां - Information

मंत्र
जय वनखण्डेश्वर महादेव !
धाम
Shivling with GanShri Radha KrishnaShri Ganesh JiMaa Durga
Maa KaliShri Hanuman Ji
Hawan ShalaPeepal TreeBanyan TreeTulsi Plant
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Water Cooler, Drinking Water, Shoe Store, Washrooms, Sitting Benches, Music System, Parking
धर्मार्थ सेवाएं
Sant Niwas
देख-रेख संस्था
वनखण्डेश्वर कमिटी
समर्पित
भगवान शिव
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)
नि:शुल्क प्रवेश
हाँ जी

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Khemganj Sirsaganj Uttar Pradesh
सड़क/मार्ग 🚗
NH 2 >> Kaurara Road
रेलवे 🚉
Kaurara, Shikohabad(J)
हवा मार्ग ✈
Pandit Deen Dayal Upadhyay Airport, Agra
नदी ⛵
Sirsa Nadhi
निर्देशांक 🌐
27.056172°N, 78.680813°E
श्री वनखण्डेश्वर मंदिर गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/vankhandeshwar-mandir

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री हनुमान जी आरती

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ आरती कीजै हनुमान लला की । दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥..

जय शनि देवा - श्री शनिदेव आरती

जय शनि देवा, जय शनि देवा, जय जय जय शनि देवा। अखिल सृष्टि में कोटि-कोटि जन करें तुम्हारी सेवा।

जय सन्तोषी माता: आरती

जय सन्तोषी माता, मैया जय सन्तोषी माता। अपने सेवक जन की सुख सम्पति दाता..

🔝