धनतेरस | तुलसी विवाह | आज का भजन!

हनुमान बरी - Hanumaan Bari


updated: Apr 17, 2019 08:12 AM 🔖 बारें में | 🕖 समय सारिणी | ♡ मुख्य आकर्षण | 📷 फोटो प्रदर्शनी | ✈ कैसे पहुचें | 🌍 मानचित्र | 🖋 कॉमेंट्स


हनुमान बरी, स्वयंभू श्री हनुमान अवतरित पवित्र बरगद वृक्ष। ग्राम नगला खुशहाली में स्थित है बरगद का पवित्र पेड़ आज से लगभग 300 साल पुराना है, जिसके नीचे स्वयं प्रकट हुए श्री हनुमान। बरगद को स्थानीय भाषा में बरी कहा जाता है, अतः श्री हनुमंत लाल और पवित्र बरगद के पेड़ को मिलाकर हनुमान बरी के नाम से पुकारा जाता है।

गाँव मे होने वाले सभी शुभकार्यों की शुरूआत इसी पवित्र स्थल से होती है। सप्ताह के प्रत्येक मंगलवार को यहाँ चालीसा, आरती का पाठ करने के लिए बहुत संख्या में श्रद्धालु आते हैं। काफी भक्त यहां हनुमान जी पर चोला तथा प्रसाद चढ़ाते हैं।

बूढ़े मंगल अर्थात भादौं माह का अंतिम मंगलवार यहाँ का सबसे प्रसिद्ध त्यौहार है, जो बहुत ही धूम-धाम से ग्राम वासियों तथा आस-पास के लोगों द्वारा मनाया जाता है। बूढ़े मंगल के दिन पवित्र विशाल वट वृक्ष पर झंडा चढ़ाने का विधान है, जिसे यहाँ की बोल-चाल की भाषा में नेंजा भी कहा जाता है। झंडे की महिमा उसकी पवित्रता के साथ उसकी उँचाई तथा विशालता से भी जोड़ी जाती है।

हनुमान बरी पर हनुमान जी को हनुमान बाबा कहा जाता है और यहाँ का प्रसिद्ध व पसंदीदा जयकारा \"हनुमान बाबा की जय हो\" है! आज-कल मंदिर के इस पवित्र परिसर में एक नये शिव-पार्वती मंदिर का भी निर्माण किया जा चुका है।

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • 300 साल पुराना, स्वयंभू श्री हनुमान अवतरित पवित्र बरगद वृक्ष।
  • बूढ़े मंगल और होली सबसे प्रसिद्ध त्यौहार हैं।

समय सारिणी - Timings

दर्शन समय
चारों पहर खुला है यह मंदिर।
त्यौहार
hanuman-jayanti|Hanuman Janmotsav, Holi, Budhawa Mangal | Read Also: नवरात्रि

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
हनुमान बरी का पास का एक फोटो

हनुमान बरी का पास का एक फोटो

हनुमान बरी का पूर्ण द्रश्य

हनुमान बरी का पूर्ण द्रश्य

सुबह की धूप का एक नजारा

सुबह की धूप का एक नजारा

सुबह की धूप का एक नजारा

सुबह की धूप का एक नजारा

चारों ओर हरियाली के साथ हनुमान बरी के पास नवनिर्मित श्री शिव -पार्वती मंदिर

चारों ओर हरियाली के साथ हनुमान बरी के पास नवनिर्मित श्री शिव -पार्वती मंदिर

बूढ़े मंगलवार यानी भादौ माह के अंतिम मंगलवार को धार्मिक कार्यक्रमों में, गाँव वासी हनुमान जी की मूर्ति पर झंडे चढ़ते हैं

बूढ़े मंगलवार यानी भादौ माह के अंतिम मंगलवार को धार्मिक कार्यक्रमों में, गाँव वासी हनुमान जी की मूर्ति पर झंडे चढ़ते हैं

हनुमान बरी के पास नवनिर्मित श्री शिव -पार्वती मंदिर

हनुमान बरी के पास नवनिर्मित श्री शिव -पार्वती मंदिर

मानसून में पूर्ण दृश्य

मानसून में पूर्ण दृश्य

Hanumaan Bari in English

Hanuman Bari can also be defined as Self Manifested Shri Hanuman Incarnated Holy Banyan Tree.

जानकारियां - Information

मंत्र
हनुमान बाबा की जय हो!
देख-रेख संस्था
ग्राम नगला खुशहाली
समर्पित
श्री हनुमान
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Village Nagla Khushhali, Post Karhara Sirsaganj Uttar Pradesh
सड़क/मार्ग 🚗
NH 2 >> Paigu Road
रेलवे 🚉
Shikohabad(J), Aron
वेबसाइट 📡
www.hanumanbari.com
निर्देशांक 🌐
27.08929°N, 78.724725°E
हनुमान बरी गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/hanumaan-bari

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती: तुलसी महारानी नमो-नमो!

तुलसी महारानी नमो-नमो, हरि की पटरानी नमो-नमो। धन तुलसी पूरण तप कीनो, शालिग्राम बनी पटरानी।

आरती: ॐ जय जगदीश हरे!

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे। भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

भगवान श्री चित्रगुप्त जी की आरती!

ॐ जय चित्रगुप्त हरे, स्वामी जय चित्रगुप्त हरे। भक्तजनों के इच्छित, फल को पूर्ण करे॥

top