✨कोजागरी पूजा - Kojagari Puja

Kojagari Puja Date: 19 October 2021
शरद कोजागरी पूजा भारतीय राज्य जैसे उड़ीसा, पश्चिम बंगाल और असम में अश्विन पूर्णिमा के दौरान देवी लक्ष्मी को समर्पित है। लक्ष्मी पूजा का यह दिन कोजागरी पूर्णिमा या बंगला लक्ष्मी पूजा के रूप में भी जाना जाता है।

शरद कोजागरी पूजा भारतीय राज्य जैसे उड़ीसा, पश्चिम बंगाल और असम में अश्विन पूर्णिमा के दौरान देवी लक्ष्मी को समर्पित है। लक्ष्मी पूजा का यह दिन कोजागरी पूर्णिमा या बंगला लक्ष्मी पूजा के रूप में भी जाना जाता है। हालांकि भारत में अधिकांश लोग दिवाली के दिन ही देवी लक्ष्मी की पूजा करते हैं।

कोजागरी पूजा के कारण इस त्यौहार को कोजागरी पूर्णिमा भी कहा जाता है। यह पूर्णिमा उत्तर भारत में शरद पूर्णिमा के नाम से प्रसिद्ध है। हिंदू धर्म के अनुसार इस रात लक्ष्मी माता यह देखने के लिए घूमती हैं कि कौन रात्रि जागरण कर रहा है। रात्रि जागरण करने वाले व्यक्ति का महालक्ष्मी कल्याण करती हैं।

कोजागरी पूर्णिमा की रात को दीपावली से भी ज्यादा खास माना जाता है क्योंकि इस रात स्वयं मां लक्ष्मी अपने भक्तों को संपत्ति देने के लिए आती हैं। कहा जाता है कि अगर इस रात आपको धन का खजाना पाना है तो देवी लक्ष्मी की पूजा अवश्य करनी चाहिए।

संबंधित अन्य नाम
कोजागरी पूर्णिमा, कोजागरी लक्ष्मी पूजा, लक्ष्मी पूजा, कोजागर पूर्णिमा

Kojagari Puja in English

Sharad Kojagara Puja is dedicated to worshipping Mata Laxmi during the Ashwin Purnima in the Indian states of Orissa, West Bengal and Assam. This day of Lakshmi Puja is also popularly known as Kojagari Purnima or Bengal Lakshmi Puja

संबंधित जानकारियाँ

भविष्य के त्यौहार
9 October 202228 October 202316 October 2024
आवृत्ति
वार्षिक
समय
1 दिन
सुरुआत तिथि
आश्विन शुक्ला पूर्णिमा
समाप्ति तिथि
आश्विन शुक्ला पूर्णिमा
महीना
अक्टूबर
कारण
लक्ष्मी पूजन दिवस
उत्सव विधि
व्रत, पूजा, व्रत कथा, भजन-कीर्तन, लक्ष्मी पूजा
महत्वपूर्ण जगह
घर एवं मंदिर
पिछले त्यौहार
30 October 2020, 13 October 2019
अगर आपको यह त्यौहार पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस त्यौहार को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

मंदिर

🔝