विवाह पंचमी | आज का भजन!

108 फुट संकट मोचन धाम - 108 Foot Sankat Mochan Dham


Jun 15, 2019 08:27 AM 🔖 बारें में | 🕖 समय सारिणी | ♡ मुख्य आकर्षण | 📷 फोटो प्रदर्शनी | ▶ वीडियो प्रदर्शनी | ✈ कैसे पहुचें | 🌍 मानचित्र | 🖋 कॉमेंट्स


108 फुट संकट मोचन धाम, श्री हनुमंत लाल की विश्‍व की दूसरी सबसे उँची मूर्ति के लिए प्रषिद्ध है। मंदिर का निर्माण ब्रह्मलीन नागाबाबा श्री सेवागिरी जी महाराज ने कराया था, दिल्ली मेट्रो निर्माण के बाद ये मंदिर झंडेवालान मेट्रो स्टेशन से आने-जाने के लिए काफी सुविधाजनक है।

मंदिर के बाएं ओर श्री शनि मंदिर है, जिसमे शनिवार के दिन भक्तों का ताँता लगा रहता है। हनुमान मंदिर का विस्तार तीसरी मंजिल तक है, जिसके सबसे उपर वाली मंजिन पर स्वयं पंचमुखी श्री हनुमान विराजमान हैं। हनुमान जी की गदा के पास, माँ वैष्णो अपनी सुंदर और पवित्र तीन पिंडियों के साथ गुफा मे विराजमान हैं। ब्रह्मलीन नागाबाबा जी ज्वालाजी मंदिर, कांगड़ा हिमाचल प्रदेश से पवित्र अखण्ड ज्योति को 30 सितंबर 2006 को हनुमान मंदिर लेकर आए थे, जो तब से अभी तक लगातार मंदिर मे प्रकाशित हो रही है। हर साल 25 जनवरी को भंडारा।

श्री हनुमान जन्मोत्सव शुक्रवार, 19 अप्रैल 2019 - 56 भोग एवं महाआरती सायं 7 बजे।

प्रचलित नाम: 108 फुट हनुमान मंदिर, 108 फीट हनुमान जी

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • दुनिया में दूसरा सबसे ऊंचा श्री हनुमान मूर्ति।
  • हनुमान जयंती के दौरान दिल्ली का सबसे प्रसिद्ध मंदिर।
  • हनुमान मूर्ति का निर्माण कार्य: 13 मई 1994 से 2 अप्रैल 2007

समय सारिणी - Timings

दर्शन समय
6:00 AM - 10:00 PM

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
Full view of second highest Hanuman statue in the world

Full view of second highest Hanuman statue in the world

108 Foot Chati Fad Hanuman Ji

108 Foot Chati Fad Hanuman Ji

The way of pray Shri Shani Dev Ji

The way of pray Shri Shani Dev Ji

Full view of second highest Hanuman statue along with temple shikhar

Full view of second highest Hanuman statue along with temple shikhar

Entry gate of temple simulates mouth of rakshasi Simhika.

Entry gate of temple simulates mouth of rakshasi Simhika.

Chitra katha on wall of temple

Chitra katha on wall of temple

Hanuman gada full of Ram name.

Hanuman gada full of Ram name.

Shri Ram Sita in the heart of Lord Hanuman

Shri Ram Sita in the heart of Lord Hanuman

Founder Brahamleen Nagababa Shri Sevagir Ji Maharaj

Founder Brahamleen Nagababa Shri Sevagir Ji Maharaj

Entry gate of Maa Vaishno Devi gufa. Complete view of 108 Foot Sankat Mochan Dham.

Entry gate of Maa Vaishno Devi gufa. Complete view of 108 Foot Sankat Mochan Dham.

Hanuman Janmotsav

Hanuman Janmotsav

108 Foot Sankat Mochan Dham in English

108 Foot Sankat Mochan Dham second highest Hanuman statue in the world founded by Brahamleen Nagababa Shri Sevagir Ji Maharaj (25 Jan, 2008) near Jhandewalan metro station.

जानकारियां - Information

धाम
Under Ground: Maa Vaishno Devi GufaGround Floor>> Hanuman JiShiv Parvati JiGanesh JiSherawali MaaShri Ram FamilyAkhand Ramayan PeethasanShri Shani Maharaj TempleFirst Floor>> Maa Jhande WaliSecond Floor>> Shri Sita-Ram JiShri Radhe Krishna JiPanchmukhi Hanuman JiShri Sai Baba
बुनियादी सेवाएं
Drinking Water, Prasad, Puja Samagri, Shoe Store, sitting chair
संस्थापक
ब्रह्मलीन नागाबाबा श्री सेवागिरी जी
स्थापना
1931
देख-रेख संस्था
108 फुट श्री संकट मोचन धाम ट्रस्ट
समर्पित
श्री हनुमान
फोटोग्राफी
🚫 नहीं (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

वीडियो प्रदर्शनी - Video Gallery

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
New Link Road, Karol Bagh Delhi New Delhi
सड़क/मार्ग 🚗
Dr. Bhimrao Ambedkar Marg >> Sir Bawa Lal Dyal Chowk
रेलवे 🚉
New Delhi
हवा मार्ग ✈
Indira Gandhi International Airport, New Delhi
नदी ⛵
Yamuna
निर्देशांक 🌐
28.64497°N, 77.19801°E
108 फुट संकट मोचन धाम गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/108-foot-hanumanji

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

ॐ जय कलाधारी हरे - बाबा बालक नाथ आरती

ॐ जय कलाधारी हरे, स्वामी जय पौणाहारी हरे, भक्त जनों की नैया, दस जनों की नैया, भव से पार करे...

आरती: भगवान श्री कुबेर जी

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे, स्वामी जै यक्ष जै यक्ष कुबेर हरे। शरण पड़े भगतों के... धनतेरस के दिन देवी लक्ष्मी, भगवान कुबेर एवं श्री गणेश की पूजा-आरती प्रमुखता से की जाती है।

आरती: रघुवर श्री रामचन्द्र जी।

आरती कीजै श्री रघुवर जी की, सत चित आनन्द शिव सुन्दर की॥

top