श्री हनुमान-बालाजी भजन (Shri Hanuman-Balaji Bhajan)


श्री हनुमान-बालाजी भजन

सुंदरकांड, रामचरितमानस, मानस कथा, हनुमान जन्मोत्सव, हनुमान जयंती, मंगलवार व्रत, शनिवार, बूढ़े मंगलवार और अखंड रामायण के पाठ में गाए जाने वाले प्रसिद्ध श्री हनुमान-बालाजी के भजन।

Shri Hanuman-Balaji Bhajan in English

Famous Sri Hanuman-Balaji bhajans recitation in Sundarakand, Hanuman Jayanti, Tuesday Vrat, Saturday, Budhawa Mangal..
यह भी जानें

BhajanBajrangbali BhajanBalaji BhajanSundarkand BhajanRamayan Path Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

ना मन हूँ ना बुद्धि ना चित अहंकार: भजन

ना मन हूँ, ना बुद्धि, ना चित अहंकार, ना जिव्या नयन नासिका, करण द्वार..

शिव पूजा में मन लीन रहे मेरा: भजन

शिव पूजा में मन लीन रहे मेरा मस्तक हो और द्वार तेरा, मिट जाए जन्मों की तृष्णा मिले भोले शंकर प्यार तेरा।

तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे बलिहार: भजन

तेरी मंद-मंद मुस्कनिया पे, बलिहार संवारे जू । तेरी मंद-मंद मुस्कनिया पे..

सबसे ऊंची प्रेम सगाई: भजन

सबसे ऊंची प्रेम सगाई । दुर्योधन के मेवा त्याग्यो, साग विदुर घर खाई..

भजन: क्षमा करो तुम मेरे प्रभुजी!

क्षमा करो तुम मेरे प्रभुजी, अब तक के सारे अपराध। धो डालो तन की चादर को...

भजन: पूछ रही राधा बताओ गिरधारी

पूछ रही राधा बताओ गिरधारी, मैं लगु प्यारी या बंसी है प्यारी । गोकुल में छुप छुप के माखन चुरायो, ग्वाल वाल संग मिल बाँट के खायो...

भजन: ओ सांवरे हमको तेरा सहारा है

ओ सांवरे हमको तेरा सहारा है, तेरी रहमतो से चलता, तेरी रहमतो से चलता मेरा गुजारा है..

🔝