करवा चौथ | अहोई अष्टमी | आज का भजन!

श्री नीलम माता वैष्णो मंदिर - Shri Neelam Mata Vaishno Mandir


updated: Sep 28, 2019 11:30 AM 🔖 बारें में | 🕖 समय सारिणी | ♡ मुख्य आकर्षण | 📜 इतिहास | 📷 फोटो प्रदर्शनी | ✈ कैसे पहुचें | 🌍 मानचित्र | 🖋 कॉमेंट्स


गाजीपुर से अक्षरधाम जाते हुए लेफ्ट साइड मे पेट्रोल पंप को पार करते हुए, आपकी नजर को सुकून देने वाली भगवान शिव की एक विशाल प्रतिमा आपको दिखाई देगी। यह पूर्वी दिल्ली का सबसे बड़ा, वही माँ वैष्णो का पवित्र धाम श्री नीलम माता वैष्णो मंदिर है, जिसकी कल्पना देवी नीलम ने की है।

Guru Purnima Mahotsav - Tuesday, July 16, 2019
Guru Puja, Guru Vandana, Bhajan-Kirtan 8:00AM
Bhandara: 10:30 AM


मंदिर की लोकेशन दो सड़कों के मिलने वाले कॉर्नर पर होने की वजह से, मंदिर मे काफी भक्तों की संख्या को मेनेज करने की सुविधा उनके दो प्रवेश द्वारों की सहयता से किया जा सकता है। मंदिर के बेसमेंट मे भक्त पवित्र गुफा के दर्शन लाभ शरद ऋतु मे शाम 5 बजे से और गर्मियों मे शाम 6 बजे से उठा सकते हैं। मंदिर मे समय-समय पर गरीब स्कूली बच्चों की सहयता हेतु, पाठ्यक्रम समीग्री का वितरण किया जाता है। मंदिर मे हर मंगलवार को माता की चौकी व्यवस्था के साथ भंडारे का आयोजन भी किया जाता है।

मुख्य आकर्षण

  • पूर्वी दिल्ली का सबसे बड़ा माता मंदिर।
  • शाम को माता वैष्णो गुफा के दर्शन होते हैं।
  • मंगलवार को माता की चौकी और भंडारे का आयोजन होता है।

समय सारिणी

दर्शन समय
Summer: 4:00 AM - 12:00 PM, 4:00 - 10:30 PMWinter: 5:00 AM - 12:00 PM, 4:00 - 9:00 PM
5:00-7:00 AM: मंगला आरती
6:00-8:00 PM: संध्या आरती
5:00-7:00 PM: सर्दी: गुफा खुलने का समय
6:00-9:00 PM: गर्मी: गुफा खुलने का समय
त्यौहार
Navratri, Shivaratri, Janmashtami, Diwali, Sarswati Pooja, Valmiki Jayanti|Sharad Purnima, Guru Purnima | Read Also: नवरात्रि

फोटो प्रदर्शनी

Photo in Full View
Main murti of Maa Sherawali at the centre of all dham as well as in front of entrance.

Main murti of Maa Sherawali at the centre of all dham as well as in front of entrance.

Inner main prarthana hall, most of the dham are attached with this hall.

Inner main prarthana hall, most of the dham are attached with this hall.

Main entrance is looking as, five loins are eager to ride and waiting their chance.

Main entrance is looking as, five loins are eager to ride and waiting their chance.

Mata darshan can be visible from outside and opposite side of road.

Mata darshan can be visible from outside and opposite side of road.

Bhagwan Shri Shiv in dhyan mudra with kamdhenu ot the top most floor.

Bhagwan Shri Shiv in dhyan mudra with kamdhenu ot the top most floor.

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

Bhagirathi Ganga avtaran visual representation by considering Mahadev as centre of creator.

Bhagirathi Ganga avtaran visual representation by considering Mahadev as centre of creator.

Beautiful lotus standing saptarishi on these flowers on both side of entrance

Beautiful lotus standing saptarishi on these flowers on both side of entrance

Shri Neelam Mata Vaishno Mandir - Available in English

Going from Ghazipur to Akshardham, cross the left sided petrol pump, you will see a huge vigrah of Lord Shiv which gives comfort to your eyes. It is the largest temple of eastern Delhi, the holy shrine Shri Neelam Mata Vaishno Mandir, which is imagined by Devi Neelam.

जानकारियां

धाम
First Floor: Shri Shivling with GanMaa KaliShri Lakxmi Narayan
Shri Sinduri HanumanShri Panchmukhi HanumanShri Ram DarwarShri GaneshShri Radha KrishnaMaa Sherawali(c)Maa SaraswatiMaa LakxmiMaa KaliShri Sai Maharaj
Outer Boundary:
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Drinking Water, Water Cooler, Office, Shose Store, CCTV Security, Sitting Benches, Prasad Shop, Washrooms
स्थापना
1997
समर्पित
Maa Vaishno
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

क्रमवद्ध

1997

मंदिर की प्रारंभिक नीव रखने का समारोह।

2000

मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा समारोह।

कैसे पहुचें

पता 📧
Mayur Vihar Phase II Delhi New Delhi
सड़क/मार्ग 🚗
Gurjar Samrat Mihir Bhoj Marg >> Ram Kumar Gautam Marg / Neelm Maata Road
निर्देशांक 🌐
28.620131°N, 77.302509°E
श्री नीलम माता वैष्णो मंदिर गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/neelam-mata-mandir

अगला मंदिर दर्शन

अपने विचार यहाँ लिखें

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती: तुलसी महारानी नमो-नमो!

तुलसी महारानी नमो-नमो, हरि की पटरानी नमो-नमो। धन तुलसी पूरण तप कीनो, शालिग्राम बनी पटरानी।

आरती: जय जय तुलसी माता

जय जय तुलसी माता, मैया जय तुलसी माता। सब जग की सुख दाता, सबकी वर माता॥

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥ गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला।...

top