close this ads

श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर


updated: Jan 18, 2019 15:31 PM About | Timing | Highlights | History | Photo Gallery


श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर () - Laxman Dungri Jaipur Rajasthan

श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर लक्ष्मण डुंगरी की तली पर स्थित जाग्रत श्री हनुमान धाम है। प्रत्येक वर्ष भाद्रपद माह में वामन जयंती के दिन भव्य सन्त सम्मेलन व भंडारे का आयोजित किया जाता है, जिसमें 20 से 25 हजार श्रद्धालु पंगत परसादी में शामिल होते हैं, जिसे नानी बाई का मायरा के नाम से भी जाना जाता है। श्री हनुमान जन्मोत्सव को 11 हजार दीपकों के साथ हनुमान जी की महाआरती की जाती है। हनुमान शक्ति को हर समय जाग्रत रखने हेतु, सन् 1997 से मंदिर परिसर में श्री राम नाम अखंड संकीर्तन का निरंतर पाठ किया जाता है।

हर मंगलवार को सायंकाल 7:00 बजे सामुहिक श्री हनुमान चालिसा का पाठ किया जाता है, और महीने में एक बार सुन्दरकांड का पाठ आयोजित किया जाता है। मंदिर परिसर में साधू - संतों के रुकने की व्यवस्था रखी गई है, जिसके अंतर्गत मंदिर में 20-25 साधुओं का हमेशा सनिद्ध्य प्राप्त किया जा सकता है। मंदिर प्रबन्धन समिति द्वारा एक छोटी गौशाला का भी संचालन किया जाता है। शिव का पवित्र महिना सावन, जिसमें सवा-लाख बेलपत्र की झाँकी सजाई जाती है। मंदिर में गुरु पूणिमा को गुरु पूजन किया जाता है जिसमे 5-7 हजार शिष्यगण गुरु पूजन करने आते हैं।

समय सारिणी

दर्शन समय
5:30 AM - 10:30 PM, 11:00 PM (Tuesday, Saturday)
त्यौहार
Diwali|Annakut, Guru Purnima, Paush Bada, Janmashtami, Valmiki Jayanti|Sharad Purnima, Hanuman Jayanti|Hanuman Janmotsav, Shivaratri, Savan, Vamana Jayanti | Read Also: मकर संक्रांति 2019

फोटो प्रदर्शनी

Photo in Full View
BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

जानकारियां

धाम
Shri Panchmukhi Hanuman2-Shivling with GanYagyashalaMaa TulsiPeepal TreeVat Vriksh
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Drinking Water, Shose Store, Solar Panel, Sitting Benches
धर्मार्थ सेवाएं
Gaushala
देख-रेख संस्था
Shri Panchmukhi Hanuman Seva Samiti
समर्पित
Shri Panchmukhi Hanuman

क्रमवद्ध

1961

मंदिर का निर्माण कार्य।

1981

श्री श्री 1008 श्री सीताराम दास जी महाराज द्वारा मंदिर का जीर्णोद्धार।

1997

सन् 1997 से चौबीस घंटे श्री राम संकीर्तन।

कैसे पहुचें

पता
Laxman Dungri Jaipur Rajasthan
http://www.bhaktibharat.com/mandir/panchmukhi-hanuman-mandir-laxman-dungri

अगला मंदिर दर्शन

अपने विचार यहाँ लिखें

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती: ॐ जय जगदीश हरे!

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे। भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

श्री भैरव देव जी आरती

जय भैरव देवा, प्रभु जय भैरव देवा, जय काली और गौर देवी कृत सेवा॥

आरती: श्री गंगा मैया जी

ॐ जय गंगे माता श्री जय गंगे माता। जो नर तुमको ध्याता मनवांछित फल पाता॥हर हर गंगे, जय माँ गंगे...

^
top