श्री गोविंद जी मंदिर - Shri Govind Ji Mandir

श्री राधा गोविंद जी मंदिर के मुख्य आराध्य, श्री गोविंदजी की मूर्ति पहले वृंदावन के मंदिर में स्थापित थी जिसको जयपुर के तब के राजा सवाई जय सिंह द्वितीय ने अपने परिवार के देवता के रूप में यहाँ पुनः स्थापित किया था। ठिकाना मंदिर श्री गोविंद देवजी महाराज के अधीन 20 से भी अधिक मंदिर आते हैं। श्री राधा गोविंद जी मंदिर गौड़िया संप्रदाय का मंदिर है, इस संप्रदाय का उदगम श्री चैतन्य महाप्रभु द्वारा हुआ था।

भगवान श्री कृष्ण के प्रपौत्र एवं मथुरा के राजा वज्रनाभ ने अपनी माता से सुने गए भगवान श्री कृष्ण के स्वरूप के आधार पर तीन विग्रहों का निर्माण करवाया इनमें से पहला विग्रह है गोविंद देव जी का है दूसरा विग्रह जयपुर के ही श्री गोपीनाथ जी का है तथा तीसरा विग्रह है श्री मदन मोहन जी करौली का है वजरनाभ के माता के अनुसार श्री गोविंद देव का मुख, श्री गोपीनाथ का वक्ष, श्री मदन मोहन के चरण श्री कृष्ण के स्वरूप से मेल खाते हैं।

पहले यह तीनों विग्रह मथुरा में स्थापित थे किंतु जब 11वीं शताब्दी मे मोहम्मद गजनवी के आक्रमण के भय से इन्हें जंगल में छिपा दिया गया था। 16 वी शताब्दी में चैतन्य महाप्रभु के आदेश पर उनके शिष्यों ने इन विग्रहों को खोज निकाला और मथुरा-वृंदावन में पुनः स्थापित किया।

सन 1669 में जब औरंगजेब ने मथुरा के समस्त मंदिरों को नष्ट करने का आदेश दिया तो गौड़ीय संप्रदाय के पुजारी इन विग्रहों को लेकर जयपुर भाग आए इन तीनों विग्रहों को जयपुर में ही स्थापित कर दिया गया।

भगवान कृष्ण का जयपुर का सबसे प्रसिद्ध बिना शिखर का मंदिर। मंदिर के दो गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड भी हैं।

महाराज सवाई जयसिंह ने जयपुर बसने के बाद गोविंद को जयपुर का स्वामी घोषित कर दिया था। जयपुर के इन महाराजा की मुद्रा पर अंकित था श्री गोविंद देव चरण, सवाई जयसिंह शरण। राजस्थान राज्य में जयपुर के विलय के बाद अपने प्रथम भाषण मे तत्कालीन महाराजा सवाई मानसिंह द्वतीय ने भी कहा की राज्य श्री गोविंद देव जी का ही है, एवं उन्हीं का रहेगा। हम तो इनके दीवान की तरह काम करते रहे हैं और आगे भी उनकी प्रेरणा से प्रजा हिट के काम मे लगे रहेंगे।

प्रचलित नाम: श्री राधा गोविंद जी मंदिर

समय - Timings

दर्शन समय
4:30 - 11:45 AM, 5:00 - 10:00 PM
4:30 AM: Mangala Arati
7:30 AM: Dhoop Aarti
9:30 AM: Shringar Aarti
11:00 AM: Rajbhog
5:45 PM: Gwal Aarti
6:45 PM: Sandhya Aarti
9:00 PM: Shayan Aarti
त्यौहार
Navratri, Ekadashi, Poornima, Gangaur Festival, Ram Navami, Phool Bangla, Akshaya Tritiya, Narasimha Chaturdashi|Narsingh Jayanti, Jalyatra, Snan Yatra, Jagannath Rath Yatra, Guru Purnima, The Festival Of Swings, Raksha Bandhan, Janmashtami, Nandotsava, Radhashtami, Shrimad Bhagwatotsava, Navratri, Durga Puja|Vijayadashami, Valmiki Jayanti|Sharad Poornima, Aakashi Deepak, Diwali, Diwali|Annakut, Gopashtami, Ras Poornima, Paush Khichdi, Paush Bada, Makar Sankranti, Vasant Panchami, Bhanu Saptami | यह भी जानें: एकादशी 2021

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
श्री गोविंद जी मंदिर

श्री गोविंद जी मंदिर

श्री गोविंद जी मंदिर

श्री गोविंद जी मंदिर

श्री गोविंद जी मंदिर

श्री गोविंद जी मंदिर

श्री गोविंद जी मंदिर

श्री गोविंद जी मंदिर

श्री गोविंद जी मंदिर

श्री गोविंद जी मंदिर

Shri Govind Ji Mandir in English

Shri Radha Govind Ji Mandir having original murti of Govindji shaped by Bajranabh Ji, The Great Grand Son of Lord Krishna. Temple also have two Guinness World Records.

जानकारियां - Information

धाम
YagyashalaMaa TulsiVat Vriksh
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Prasad Shop, Book Stall, Drinking Water, Shose Store, CCTV Security, Office, Solar Light, Garden, Children Park, Sitting Benches
धर्मार्थ सेवाएं
Satsang Hall
संस्थापक
राजा सवाई जय सिंह
देख-रेख संस्था
ठिकाना मंदिर श्री गोविंद देवजी महाराज
समर्पित
श्री राधा कृष्णा
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)
नि:शुल्क प्रवेश
हाँ जी

क्रमवद्ध - Timeline

1525

Shriji vigrah by divine dreams of Holiness Shri Roop Goswami on the GOMA TEELA Vrindaban in Vasant Panchami on the year 1525.

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Jai Niwas Garden Jaipur Rajasthan
सड़क/मार्ग 🚗
Ramganj Market Road >> Hawa Mahal Road >> Rajamal Ka Talab Road / Bramhpuri Road
रेलवे 🚉
Jaipur
हवा मार्ग ✈
Jaipur International Airport
वेबसाइट 📡
Facebook
Twitter
GovindMandir
Instagram
govinddevji_aaradhyadev
निर्देशांक 🌐
26.928828°N, 75.824053°E
श्री गोविंद जी मंदिर गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/govind-devji-mandir

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री हनुमान जी आरती

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ आरती कीजै हनुमान लला की । दुष्ट दलन रघुनाथ कला की ॥..

त्रिमूर्तिधाम: श्री हनुमान जी की आरती

जय हनुमत बाबा, जय जय हनुमत बाबा । रामदूत बलवन्ता..

श्री बालाजी आरती, ॐ जय हनुमत वीरा

ॐ जय हनुमत वीरा, स्वामी जय हनुमत वीरा। संकट मोचन स्वामी तुम हो रनधीरा॥

🔝