विवाह पंचमी | आज का भजन!

वंदना

भगवान बुद्ध वन्दना

नमो तस्स भगवतो अरहतो सम्मा सम्बुद्धस्स। नमो तस्स भगवतो अरहतो सम्मा सम्बुद्धस्स।...

Vandana

श्री राम स्तुति: नमामि भक्त वत्सलं

नमामि भक्त वत्सलं । कृपालु शील कोमलं ॥ भजामि ते पदांबुजं...

Vandana

हाथ जोड़ विनती करू तो सुनियो चित्त लगाये!

हाथ जोड़ विनती करू तो सुनियो चित्त लगाये, दस आ गयो शरण में रखियो इसकी लाज...

Vandana

प्रार्थना: हम को मन की शक्ति देना

हम को मन की शक्ति देना, मन विजय करें। दूसरों की जय से पहले...

Vandana

नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे!

नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे, त्वया हिन्दुभूमे सुखं वर्धितोऽहम्...

Vandana

ब्रह्मन्! स्वराष्ट्र में हों...

ब्रह्मन्! स्वराष्ट्र में हों, द्विज ब्रह्म तेजधारी। क्षत्रिय महारथी हों, अरिदल विनाशकारी॥...

Vandana

श्री बजरंग बाण पाठ।

निश्चय प्रेम प्रतीति ते, बिनय करैं सनमान। तेहि के कारज सकल शुभ, सिद्ध करैं हनुमान॥

vandana

श्री हनुमान बाहुक

असहनीय कष्टों से हताश होकर अन्त में उसकी निवृत्ति के लिये गोस्वामी तुलसीदास जी ने हनुमानजी की वन्दना आरम्भ की जो कि ४४ पद्यों के हनुमानबाहुक प्रसिद्ध स्तोत्र लिखा।

vandana

श्री हनुमान साठिका

जय जय जय हनुमान अडंगी। महावीर विक्रम बजरंगी॥ जय कपीश जय पवन कुमारा। जय जगबन्दन सील अगारा॥

vandana

हे जग स्वामी, अंतर्यामी, तेरे सन्मुख आता हूँ!

हे जग स्वामी, अंतर्यामी, तेरे सन्मुख आता हूँ। सन्मुख आता, मैं शरमाता...

Vandana

top