होलिका दहन | चैत्र नवरात्रि | आज का भजन! | भक्ति भारत को फेसबुक पर फॉलो करें!

बालूशाही बनाने की विधि


बालूशाही बनाने की विधि

बनाने की विधि:
बालूशाही बनाने के लिए सबसे पहले मैदा में खाना-सोडा (बेकिंग सोडा) डालकर एक बर्तन में छलनी की सहायता से छान लेते हैं। फिर, मैदा में घी को डाल कर अच्छी तरह मिला लेते हैं. घी मिल जाने के बाद थोड़ा पानी डाल कर आटे को बाँध लेते हैं, और आधा घण्टे के लिए ढक कर रख देते हैं. आधा घण्टे के बाद बँधे हुए मैदा को मामूली सा मसल लेते हैं। अब मैदा में से एक छोटे नीबू के बराबर लोई तोड़ लेते हैं और इस लोई को दोनों हाथों की हथेलियों के बीच में रख कर गोल कर लेते हैं। अब इस लोई के बीच में अगूंठे की सहायता से गढ्ढा कर देते हैं। इसी प्रकार से सारे आटे (मैदा) की लोइयाँ बना कर तैयार कर लेते हैं।

इस के बाद एक कड़ाई में घी डाल कर धीमी आंच पर गर्म करते हैं, जब घी हल्का गर्म हो जाए तब इसमें बनी हुई लोइयों को एक-एक करके डाल देते हैं। अब आधी-सिकी बालूशाहियों को कलछी की सहायता से दोनो तरफ सुनहरा (गोल्डन ब्राउन) होने तक पलट -पलट कर सेंक(तल) लते हैं।

इसके बाद, एक कढ़ाई में चीनी और पानी डालकर मध्यम आंच पर चाशनी बनाने के लिए रख देते हैं। कलछी की सहायता से चाशनी को थोड़ी-थोड़ी देर में चलाते रहते हैं। जब चाशनी एक तार की* बन जाए तब इसमें इलाइची पाउडर डाल कर गैस को बन्द कर देते हैं। अब चाशनी में पूर्ण सिकी हुई बालूशाईयों को डाल कर अच्छी तरह डुबो देते हैं। अब ५ मिनट तक बालूशाईयों को चाशनी में डूबा रहने के बाद एक थाली में निकाल लेते हैं, तथा ध्यान रखें कि, बालूशाईयों अलग-अलग कर फैला कर रखें, ताकि बालूशाही एक दूसरे से चिपक न जाएं। इस प्रकार भोग के लिए बालूशाही बन कर तैयार हो जाती हैं।

आवश्यक सामग्री:
मैदा, घी, खाना सोडा (बेकिंग सोडा), चीनी, इलाइची

* एक तार की चाशनी तैयार करने की विधि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

BhaktiBharat.com

ये भी जानें

Bhog-prasadBalushahi Bhog-prasad


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

मूंग दाल के मगौड़े बनाने की विधि

...डार्क ब्राउन हो जाने के बाद उन्हें एक प्लेट में निकाल लेते हैं इसी प्रकार मिश्रण से सारे मगौड़े बना लेते हैं।

तिल-गुड़ के लड्डू बनाने की विधि

...जब मिश्रण हल्का गरम हो तभी लड्डू बना लें ठंडा होने पर लड्डू नहीं बन पाएँगे।

साबूदाना खिचड़ी बनाने की विधि

साबूदाना को एक बर्तन में साफ पानी में डाल कर निकाल लेते है धुले हुए साबूदानों को आधा कप पानी डाल कर ५ से६ घंटे के लिए भिगोने रख देते हैं...

बाजरा की मङियाँ बनाने की विधि

...गूथे हुए आटे की टिक्की बना कर तैयार कर लेते हैं। इस प्रकार एक बार में तीन से चार टिक्की एक कढ़ाई में तली जा सकती हैं।

अनरसे बनाने की विधि

...अनरसे को तलने के लिए घी न ज्यादा गरम हो और न ज्यादा ठंडा।

रस खीर बनाने की विधि

...भारत के कुछ जगहों पर, रस खीर को दूध के साथ मिलाकर भी बनाया जाता है।

मीठे पुआ बनाने की विधि

जब घी अच्छी तरह गरम हो जाए* तब हाथ से पांच छह पुआ गरम घी में डाल देते हैं...

मीठे गुना बनाने की विधि

...पर इस बात का ध्यान अवश्य रखें की, गुना एक-एक करके ही कढ़ाई में तलें/सेके।

खोया-तिल के लड्डू बनाने की विधि

...तिल से चिट-चिट की आवाज आना बंद होज़ाये तो समझिए सारे तिल भुन गये हैं।

गुड़ की खीर बनाने की विधि

...इस प्रकार छ्ट पूजा में भोग के लिए गुड़ की खीर बन कर तैयार हो जाती है।

close this ads
^
top