चावल की पारंपरिक खीर बनाने की विधि (Traditional Chawal Ki Kheer)

बनाने की विधि:
सबसे पहले चावलों को अच्छी तरह धोने के बाद आधा घण्टे के लिए भिगोने रख देते हैं। इसी बीच बर्तन/भगौने में दूध को मध्यम आंच पर गर्म करने के लिए रख देते हैं। एक चमचे की सहायता से दूध को बीच-बीच में चलाते रहते हैं, ताकि दूध बर्तन की तली में न लग जाए।

जब दूध में अच्छी तरह उबाल आजाए तब आंच को धीमा कर लेते हैं, और दूध में भीगे हुए चावलों को डाल देते हैं। और अब एक दो मिनट के बाद चावलों को चमचे की सहायता से चलाते रहते हैं।

१५-२० मिनट के बाद चावल नरम हो जाएँगे, तब इसमें कटी हुई मेवा (काजू, बादाम, किसमिस, चिरौंजी, गरी आदि) डाल कर अच्छी तरह मिला लेते हैं, एवं १०-१५ मिनट और पकने देते हैं। १०-१५ मिनट पकने के बाद जब खीर गाढ़ी हो जाए तब इसमें चीनी मिला देते हैं और लगातार चलाते हुए २-३ मिनट चीनी घुलने तक और पकाते हैं।

अब गैस को बन्द कर देते हैं और खीर में इलाइची पाउडर डाल कर अच्छी तरह मिला लेते हैं। अब खीर को किसी अन्य बर्तन में निकाल कर इसमें कटे हुए पिस्ता व केसर को डाल देते हैं। इस प्रकार भोग के लिए चावल की पारंपरिक खीर बन कर तैयार हो जाती है।

आवश्यक सामग्री:
चावल, दूध, चीनी,
मेवा: काजू, बादाम, किसमिस, चिरौंजी, गरी, पिस्ता, इलाइची, केसर

Traditional Chawal Ki Kheer in English

First, wash the rice gently and soak it for half an hour in a container...
यह भी जानें

Bhog-prasad Kheer Bhog-prasad

अगर आपको यह bhog-prasad पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस bhog-prasad को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

बेसन के लड्‍डू बनाने की विधि

बेसन के लड्‍डू गजानन श्री गणेश को अति प्रिय हैं, अतः इनका प्रयोग गणेशोत्सव के दौरान खूब होता है, आइए जानते हैं इन्हें बनाने की सरल विधि...

साबूदाने की खीर बनाने की विधि

...इस प्रकार भोग के लिए आपकी साबुदाने की खीर बन कर तैयार हो गई।

सिंघाड़े का हलवा बनाने की विधि

सिंघाड़े का हलवा बन कर तैयार हो जाता है। कतलियों को अपने स्वादानुसार काजू अथवा बादाम 1-1 चम्मच से सजा लेते हैं।

पंचामृत बनाने की विधि

हिंदू / जैन समाज में पूजा के बाद पंचामृत प्रसाद के रूप में दिया जाता है। आइये जानते हैं! रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने मे सहायक पंचामृत बनाने की सरल विधि..

चूरमा के लड्‍डू बनाने की विधि

इस प्रकार भोग के लिए चूरमा के लड्डू तैयार हो जाते हैं...

सूजी का हलवा बनाने की विधि

भोग लगाने के लिए सूजी का हलवा तैयार करने के सरल विधि...

मथुरा के पेड़े बनाने की विधि

आइए जानें मथुरा के प्रसिद्ध पेड़ों को घर मे बनाने की विधि...

🔝