मंदिर

मंदिर (English: Mandir, Gujarati: મંદિર, Bengali: মন্দির, Telugu: మందిరం, Malayalam: ക്ഷേത്രം, Kannada: ದೇವಸ್ಥಾನ) and gurudwara is the Hindu, Buddhist and Jain name for a place of worship or prayer. A space and structure designed to bring human beings and Gods together, infused with symbolism to express the ideas and beliefs. Bhakti Bharat Celebrating 301+ Temples.

श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर @Nashik Maharashtra

श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर नाशिक पंचवटी के तपोवन का एक महत्वपूर्ण मंदिर है। कुम्भ मेले के दौरान प्रशासन द्वारा भी सर्व प्रथम संत, महंतो और महामंडलेश्वरों के रुकने की व्यवस्था इसी मंदिर में की जाती है।

श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर नाशिक पंचवटी के तपोवन का एक महत्वपूर्ण मंदिर है। कुम्भ मेले के दौरान प्रशासन द्वारा भी सर्व प्रथम संत, महंतो और महामंडलेश्वरों के रुकने की व्यवस्था इसी मंदिर में की जाती है।


हनुमान बरी @Sirsaganj Uttar Pradesh

हनुमान बरी, स्वयंभू श्री हनुमान अवतरित पवित्र बरगद वृक्ष। ग्राम नगला खुशहाली में स्थित है बरगद का पवित्र पेड़ आज से लगभग 300 साल पुराना है।

हनुमान बरी, स्वयंभू श्री हनुमान अवतरित पवित्र बरगद वृक्ष। ग्राम नगला खुशहाली में स्थित है बरगद का पवित्र पेड़ आज से लगभग 300 साल पुराना है।


श्री भड़केश्वर महादेव मंदिर @Dwarka Gujarat

लगभग पाँच हजारों साल पहिले अरब सागर मे स्वयं से प्रगट हुआ यह शिवलिंग आज श्री भड़केश्वर महादेव मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है।

लगभग पाँच हजारों साल पहिले अरब सागर मे स्वयं से प्रगट हुआ यह शिवलिंग आज श्री भड़केश्वर महादेव मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है।


श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग मंदिर @Somnath Gujarat

श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग मंदिर भारत के बारह(12) आदि ज्योतिर्लिंगों में से सबसे प्रथम है। सोमनाथ मे सोम का अर्थ है चंद्र देव (चंद्रमा), तथा नाथ का अर्थ भगवान है।

श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग मंदिर भारत के बारह(12) आदि ज्योतिर्लिंगों में से सबसे प्रथम है। सोमनाथ मे सोम का अर्थ है चंद्र देव (चंद्रमा), तथा नाथ का अर्थ भगवान है।


श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर @Jaipur Rajasthan

श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर लक्ष्मण डुंगरी की तली पर स्थित जाग्रत श्री हनुमान धाम है। श्री हनुमान जन्मोत्सव को 11 हजार दीपकों के साथ हनुमान जी की महाआरती की जाती है।

श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर लक्ष्मण डुंगरी की तली पर स्थित जाग्रत श्री हनुमान धाम है। श्री हनुमान जन्मोत्सव को 11 हजार दीपकों के साथ हनुमान जी की महाआरती की जाती है।


शंख मंदिर @Ghandhinagar Gujarat

श्री संतोषी माता मंदिर, मोहन भाई रामी और हीरा बहिन का लोकप्रिय एवं रचनात्मक सपना है, यह मंदिर लोगों के बीच मे शंख वाले मंदिर के नाम से लोकप्रिय है।

श्री संतोषी माता मंदिर, मोहन भाई रामी और हीरा बहिन का लोकप्रिय एवं रचनात्मक सपना है, यह मंदिर लोगों के बीच मे शंख वाले मंदिर के नाम से लोकप्रिय है।


मौसी माँ मंदिर, पुरी @Puri Odisha

मौसी माँ मंदिर, माँ अर्धासिनी को समर्पित है, इसलिए इसे अर्धासिनी मंदिर भी कहा जाता है। भक्तों का मानना ​​था कि देवी अर्धासिनी, कपालमोचन शिव के साथ मिलकर पुरी के संरक्षक के रूप में कार्य करतीं हैं।

मौसी माँ मंदिर, माँ अर्धासिनी को समर्पित है, इसलिए इसे अर्धासिनी मंदिर भी कहा जाता है। भक्तों का मानना ​​था कि देवी अर्धासिनी, कपालमोचन शिव के साथ मिलकर पुरी के संरक्षक के रूप में कार्य करतीं हैं।


श्री कालकाजी मंदिर @Kalkaji New Delhi

माँ आदिशक्ति के काली रूप को समर्पित यह श्री कालकाजी मंदिर, जिसे जयंती पीठ या मनोकामना सिद्ध पीठ भी कहा जाता है।

माँ आदिशक्ति के काली रूप को समर्पित यह श्री कालकाजी मंदिर, जिसे जयंती पीठ या मनोकामना सिद्ध पीठ भी कहा जाता है।


वैशाली कालीबाड़ी @Vaishali Uttar Pradesh

वैशाली कल्चरल एसोसिएशन द्वारा किए गये दिव्य प्रयासों का परिणाम है वैशाली कालीबाड़ी। प्रत्येक अमावस्या दान के लिए एक विशेष दिन है, अतः यह अमावस्या के दिन मंदिर में विभिन्न आयोजन किए जाते हैं।

वैशाली कल्चरल एसोसिएशन द्वारा किए गये दिव्य प्रयासों का परिणाम है वैशाली कालीबाड़ी। प्रत्येक अमावस्या दान के लिए एक विशेष दिन है, अतः यह अमावस्या के दिन मंदिर में विभिन्न आयोजन किए जाते हैं।


बाबड़ी मंदिर लभौआ @Shikohabad Uttar Pradesh

लभौआ स्टेट के शाही परिवार द्वारा बनाई गई बाबड़ी के साथ ही बना यह शिव-शक्ति मंदिर, आज बाबड़ी मंदिर लभौआ के नाम से प्रसिद्ध है। मंदिर की स्थापना लगभग 400 बर्ष पुरानी है।

लभौआ स्टेट के शाही परिवार द्वारा बनाई गई बाबड़ी के साथ ही बना यह शिव-शक्ति मंदिर, आज बाबड़ी मंदिर लभौआ के नाम से प्रसिद्ध है। मंदिर की स्थापना लगभग 400 बर्ष पुरानी है।


नोयडा कालीबाड़ी @Noida Uttar Pradesh

नोयडा कालीबाड़ी की परिकल्पना से स्थापना तक पहुँचाने का श्रेय नोएडा बंगाली कल्चरल एसोसिएशन की अथक प्रयासों को ही जाता है। कालीबाड़ी की स्थापना के बाद शिवधाम एवं श्री राधा कृष्णा धाम की भी स्थापना हुई।

नोयडा कालीबाड़ी की परिकल्पना से स्थापना तक पहुँचाने का श्रेय नोएडा बंगाली कल्चरल एसोसिएशन की अथक प्रयासों को ही जाता है। कालीबाड़ी की स्थापना के बाद शिवधाम एवं श्री राधा कृष्णा धाम की भी स्थापना हुई।


दिल्ली के प्रमुख कालीबाड़ी मंदिर!

नीचे दिए गये हैं, दिल्ली और आस-पास के राज्यों के सबसे ज्यादा प्रसिद्ध दुर्गा पूजा पंडाल मे आपको जरूर जाना चाहिए...

दिल्ली के आस-पास माता के प्रसिद्ध मंदिर!

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और गुरुग्राम के शीर्ष मा आदि शक्ति, मां दुर्गा और मां काली मंदिरों की सूची...

पिंक सिटी जयपुर के प्रमुख प्रसिद्ध मंदिर

दुनियाँ में पिंक सिटी के नाम से प्रसिद्ध राजस्थान राज्य की राजधानी जयपुर राजा-रजवाड़ों के लिए जानी जाती है। आइए देखते हैं इस विश्व विख्यात शहर का धार्मिक पहलू...

भारत मे बिरला के प्रसिद्ध मंदिर!

बिड़ला मंदिर भारत के पुराने प्रमुख उद्योगपति बिड़ला परिवार द्वारा निर्मित हिंदू मंदिर हैं। बिड़ला मंदिरों की सूची निम्न प्रकार है...

सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर!

विश्व प्रसिद्ध श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, भगवान शिव के शिवलिंग रूप की नगरी है जो वैरावल क्षेत्र में आती है।

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी: आरती

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी, तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी॥

विन्ध्येश्वरी आरती: सुन मेरी देवी पर्वतवासनी

स्तुति श्री हिंगलाज माता और श्री विंध्येश्वरी माता सुन मेरी देवी पर्वतवासनी...

श्री हनुमान जी आरती

मनोजवं मारुत तुल्यवेगं, जितेन्द्रियं,बुद्धिमतां वरिष्ठम्॥ वातात्मजं वानरयुथ मुख्यं, श्रीरामदुतं शरणम प्रपद्धे॥

भजन: तुने मुझे बुलाया शेरा वालिये!

साँची ज्योतो वाली माता, तेरी जय जय कार। तुने मुझे बुलाया शेरा वालिये, मैं आया मैं आया शेरा वालिये।

नवरात्रि मे माता रानी के भजन

नवरात्रि, माता की चौकी, देवी जागरण, अष्टमी तथा शुक्रवार को गाए जाने वाले प्रसिद्ध माता के भजन..

मैं परदेशी हूँ पहली बार आया हूँ!

मैं परदेशी हूँ पहली बार आया हूँ, दर्शन करने मइया के दरबार आया हूँ...

🔝