Download Bhakti Bharat APP

मंदिर

मंदिर (English: Mandir, Gujarati: મંદિર, Bengali: মন্দির, Telugu: మందిరం, Malayalam: ക്ഷേത്രം, Kannada: ದೇವಸ್ಥಾನ) and gurudwara is the Hindu, Buddhist and Jain name for a place of worship or prayer. A space and structure designed to bring human beings and Gods together, infused with symbolism to express the ideas and beliefs. Bhakti Bharat Celebrating 301+ Temples.

गुलमोहर शिवालय @Vaishali Uttar Pradesh

वैशाली सेक्टर 5 का सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिर गुलमोहर शिवालय है। यह शिव मंदिर, गुलमोहर लेन में स्थित होने के कारण गुलमोहर शिवालय कहलाया।

वैशाली सेक्टर 5 का सबसे प्रसिद्ध शिव मंदिर गुलमोहर शिवालय है। यह शिव मंदिर, गुलमोहर लेन में स्थित होने के कारण गुलमोहर शिवालय कहलाया।


भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग @Bhimashankar Maharashtra

श्री भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। मंदिर के गर्भग्रह के सामने नंदी महाराज एवं कच्छप देव विराजमान हैं।

श्री भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। मंदिर के गर्भग्रह के सामने नंदी महाराज एवं कच्छप देव विराजमान हैं।


बाबा बटेश्वर धाम @Bateshwar Uttar Pradesh

बाबा बटेश्वरनाथ धाम, प्राचीन 101 भगवान शिव मंदिरों की एक श्रृंखला है, इसलिए इसे धाम कहा जाता है।

बाबा बटेश्वरनाथ धाम, प्राचीन 101 भगवान शिव मंदिरों की एक श्रृंखला है, इसलिए इसे धाम कहा जाता है।


नागेश्वर ज्योतिर्लिंग @Dwarka Gujarat

श्री नागेश्वर ज्योतिर्लिंग नागों के ईश्वर रूप में भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह गुजरात के द्वारका धाम से 17 किलोमीटर बाहरी क्षेत्र की ओर स्थित है।

श्री नागेश्वर ज्योतिर्लिंग नागों के ईश्वर रूप में भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह गुजरात के द्वारका धाम से 17 किलोमीटर बाहरी क्षेत्र की ओर स्थित है।


पागल बाबा मंदिर, लखनपुरा @Shikohabad Uttar Pradesh

श्री श्री 108 श्री स्वामी पागलदास जी महाराज के अविस्मरणीय समर्पित योगदान के कारण, स्थानीय समुदाय ने इस पवित्र स्थान को सम्मान से पागल बाबा मंदिर का नाम दिया।

श्री श्री 108 श्री स्वामी पागलदास जी महाराज के अविस्मरणीय समर्पित योगदान के कारण, स्थानीय समुदाय ने इस पवित्र स्थान को सम्मान से पागल बाबा मंदिर का नाम दिया।


सूर्य मंदिर, जयपुर @Jaipur Rajasthan

जयपुर की पहिली और आखिर 90 अंश की किरण इसी मंदिर पर पड़ती है, इसलिए महाराज सवाई जय सिंह के दूत श्री राव कृपा रामजी के द्वारा यहाँ मंदिर बनवाया गया था।

जयपुर की पहिली और आखिर 90 अंश की किरण इसी मंदिर पर पड़ती है, इसलिए महाराज सवाई जय सिंह के दूत श्री राव कृपा रामजी के द्वारा यहाँ मंदिर बनवाया गया था।


मोढेरा सूर्य मंदिर @Modhera Gujarat

मोढेरा सूर्य मंदिर गुजरात के मेहसाणा में पाटन से 30 किमी दक्षिण में मोढेरा नामक गाँव में स्थित है। ओडिशा के कोणार्क सूर्य मंदिर के बाद यह दूसरा सबसे प्रसिद्ध मंदिर है। यह सूर्य मंदिर गुजरात राज्य के प्रमुख पर्यटन स्थलों का प्रमुख केंद्र है।

मोढेरा सूर्य मंदिर गुजरात के मेहसाणा में पाटन से 30 किमी दक्षिण में मोढेरा नामक गाँव में स्थित है। ओडिशा के कोणार्क सूर्य मंदिर के बाद यह दूसरा सबसे प्रसिद्ध मंदिर है। यह सूर्य मंदिर गुजरात राज्य के प्रमुख पर्यटन स्थलों का प्रमुख केंद्र है।


ग्वालियर सूर्य मंदिर @Gwalior Madhya Pradesh

मंदिर का निर्माण इतिहास: इस मंदिर का निर्माण श्री घनश्याम दास जी बिरला की प्रेरणा से बसंत कुमार जी बिरला ने करवाया | सूर्य मंदिर का स्वरूप | मंदिर का गर्भगृह | सूर्य मंदिर का बाहरी स्वरूप | सूर्य मंदिर में अन्य मूर्तियाँ एवं मण्डपम्

मंदिर का निर्माण इतिहास: इस मंदिर का निर्माण श्री घनश्याम दास जी बिरला की प्रेरणा से बसंत कुमार जी बिरला ने करवाया | सूर्य मंदिर का स्वरूप | मंदिर का गर्भगृह | सूर्य मंदिर का बाहरी स्वरूप | सूर्य मंदिर में अन्य मूर्तियाँ एवं मण्डपम्


सूर्य मंदिर @Somnath Gujarat

सूर्य मंदिर गुजरात का सबसे पुराना सूर्य मंदिर है। मंदिर में सूर्य देव और छाया देवी मुख्य विग्रह हैं। यह माना जाता है कि अज्ञातवास के दौरान पंडवों ने यहां रहकर सूर्य देव की प्रार्थना किया करते थे।

सूर्य मंदिर गुजरात का सबसे पुराना सूर्य मंदिर है। मंदिर में सूर्य देव और छाया देवी मुख्य विग्रह हैं। यह माना जाता है कि अज्ञातवास के दौरान पंडवों ने यहां रहकर सूर्य देव की प्रार्थना किया करते थे।


स्टैच्यू ऑफ इक्वलिटी @Hyderabad Telangana

स्टैच्यू ऑफ इक्वलिटी (समानता की मूर्ति), संत श्री रामानुजाचार्य की मूर्ति, का उद्घाटन 12 दिवसीय श्री रामानुज मिलेनियम समारोह के अवसर पर किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हैदराबाद में महान संत रामानुजाचार्य की 216 फीट ऊंची प्रतिमा का उद्घाटन किया ।

स्टैच्यू ऑफ इक्वलिटी (समानता की मूर्ति), संत श्री रामानुजाचार्य की मूर्ति, का उद्घाटन 12 दिवसीय श्री रामानुज मिलेनियम समारोह के अवसर पर किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हैदराबाद में महान संत रामानुजाचार्य की 216 फीट ऊंची प्रतिमा का उद्घाटन किया ।


मैहर माता मंदिर @Maihar Madhya Pradesh

मैहर माता मंदिर के पीछे की पौराणिक कथा | मैहर माता मंदिर के पीछे चमत्कारी चमत्कार | कैसे पहुंचे मैहर माता मंदिर | मैहर माता का मंदिर कौन से जिले में पड़ता है?

मैहर माता मंदिर के पीछे की पौराणिक कथा | मैहर माता मंदिर के पीछे चमत्कारी चमत्कार | कैसे पहुंचे मैहर माता मंदिर | मैहर माता का मंदिर कौन से जिले में पड़ता है?


Hanuman Chalisa -
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App