मंदिर

मंदिर (English: Mandir, Gujarati: મંદિર, Bengali: মন্দির, Telugu: మందిరం, Malayalam: ക്ഷേത്രം, Kannada: ದೇವಸ್ಥಾನ) and gurudwara is the Hindu, Buddhist and Jain name for a place of worship or prayer. A space and structure designed to bring human beings and Gods together, infused with symbolism to express the ideas and beliefs. Bhakti Bharat Celebrating 301+ Temples.

श्री महालक्ष्मी मंदिर @Mumbai Maharashtra

श्री महालक्ष्मी मंदिर मुख्‍यतया तीन देवियों श्री महाकाली, श्री महालक्ष्मी और श्री महासरस्वती को समर्पित है। मंदिर के पीछे की ओर समुद्र दर्शन किया जा सकता है, तथा मंदिर के चारों तरफ बैठने की व्यवस्था है।

श्री महालक्ष्मी मंदिर मुख्‍यतया तीन देवियों श्री महाकाली, श्री महालक्ष्मी और श्री महासरस्वती को समर्पित है। मंदिर के पीछे की ओर समुद्र दर्शन किया जा सकता है, तथा मंदिर के चारों तरफ बैठने की व्यवस्था है।


श्री केदार गौरी मंदिर @Bhubaneswar Odisha

श्री केदार गौरी मंदिर (Shri Kedar Gouri Temple) दो मंदिरों का समूह है श्री केदारेश्वर मंदिर और श्री केदारगौरी मंदिर है, मुक्तेश्वर मंदिर के मंदिर के पास स्थित है। यह भुवनेश्वर के आठ अस्तसंबु मंदिरों में से एक है।

श्री केदार गौरी मंदिर (Shri Kedar Gouri Temple) दो मंदिरों का समूह है श्री केदारेश्वर मंदिर और श्री केदारगौरी मंदिर है, मुक्तेश्वर मंदिर के मंदिर के पास स्थित है। यह भुवनेश्वर के आठ अस्तसंबु मंदिरों में से एक है।


मोहन नगर माँ दुर्गा मंदिर @Ghaziabad Uttar Pradesh

मोहन नगर मंदिर में माँ दुर्गा एवं उनके नौ रूप अपने आशीर्वाद से अपने भक्तों का कल्याण कर रहें हैं। मंदिर में बड़ी संख्या में भक्तजन आने के कारण सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया है, अतः मुख्य मंदिर में अग्नि सुरक्षा प्रणाली को भी स्थापित किया गया है।

मोहन नगर मंदिर में माँ दुर्गा एवं उनके नौ रूप अपने आशीर्वाद से अपने भक्तों का कल्याण कर रहें हैं। मंदिर में बड़ी संख्या में भक्तजन आने के कारण सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया है, अतः मुख्य मंदिर में अग्नि सुरक्षा प्रणाली को भी स्थापित किया गया है।


श्री कालकाजी मंदिर @Kalkaji New Delhi

माँ आदिशक्ति के काली रूप को समर्पित यह श्री कालकाजी मंदिर, जिसे जयंती पीठ या मनोकामना सिद्ध पीठ भी कहा जाता है।

माँ आदिशक्ति के काली रूप को समर्पित यह श्री कालकाजी मंदिर, जिसे जयंती पीठ या मनोकामना सिद्ध पीठ भी कहा जाता है।


श्री चंद्रभागा शक्ति पीठ @Somnath Gujarat

गुजरात के प्रभास क्षेत्र में त्रिवेणी संगम के निकट माँ सती के ५२ शक्तिपीठों में से एक चंद्रभागा शक्ति पीठ का वर्णन पुराणों में भी उल्लेखित किया गया है।

गुजरात के प्रभास क्षेत्र में त्रिवेणी संगम के निकट माँ सती के ५२ शक्तिपीठों में से एक चंद्रभागा शक्ति पीठ का वर्णन पुराणों में भी उल्लेखित किया गया है।


श्री विमलाम्बा शक्ति पीठ @Puri Odisha

श्री विमलम्बा शक्ति पीठ गोवर्धन मठ के गुरु शंकराचार्य द्वारा प्रतिस्थापन मंदिर है। इस स्थान पर माँ सती की नाभि का रूप में जाना जाता है।

श्री विमलम्बा शक्ति पीठ गोवर्धन मठ के गुरु शंकराचार्य द्वारा प्रतिस्थापन मंदिर है। इस स्थान पर माँ सती की नाभि का रूप में जाना जाता है।


गुह्येश्वरी शक्ति पीठ @Kathmandu Nepal

गुह्येश्वरी मंदिर में माता के दोनों घुटने गिरे होने के कारण यह श्री गुह्येश्वरी शक्तिपीठ कहलाया जाता है। यह मंदिर गुह्येश्वरी (गुप्त ईश्वरी) को समर्पित है, देवी को गुह्यकाली भी कहा जाता है।

गुह्येश्वरी मंदिर में माता के दोनों घुटने गिरे होने के कारण यह श्री गुह्येश्वरी शक्तिपीठ कहलाया जाता है। यह मंदिर गुह्येश्वरी (गुप्त ईश्वरी) को समर्पित है, देवी को गुह्यकाली भी कहा जाता है।


कपालेश्वरर मंदिर @Chennai Tamil Nadu

कपालेश्वरर मंदिर भगवान शिव को समर्पित है जो कि मायलापुर, चेन्नई, तमिलनाडु में स्थित है। इस मंदिर में भगवान शिव की तथा करपगंबल रूप माता पार्वती की पूजा की जाती है।

कपालेश्वरर मंदिर भगवान शिव को समर्पित है जो कि मायलापुर, चेन्नई, तमिलनाडु में स्थित है। इस मंदिर में भगवान शिव की तथा करपगंबल रूप माता पार्वती की पूजा की जाती है।


झंडेवालान @Delhi New Delhi

राजधानी दिल्ली के मध्य में स्थित झंडेवालान एक सिद्धपीठ है। अपने धाार्मिक एवं ऐतिहासिक महत्व के कारण राज्य सरकार ने भी दिल्ली के प्रासिद्ध दर्शनीय स्थलों में इसे शामिल किया है। वर्तमान में यह मंदिर झंडेवालान मेट्रो स्टेशन के पास है।

राजधानी दिल्ली के मध्य में स्थित झंडेवालान एक सिद्धपीठ है। अपने धाार्मिक एवं ऐतिहासिक महत्व के कारण राज्य सरकार ने भी दिल्ली के प्रासिद्ध दर्शनीय स्थलों में इसे शामिल किया है। वर्तमान में यह मंदिर झंडेवालान मेट्रो स्टेशन के पास है।


108 फुट संकट मोचन धाम @Jhandewalan New Delhi

108 फुट संकट मोचन धाम, श्री हनुमंत लाल की विश्‍व की दूसरी सबसे उँची मूर्ति के लिए प्रषिद्ध है। मंदिर का निर्माण ब्रह्मलीन नागाबाबा श्री सेवागिरी जी महाराज ने कराया था, झंडेवालान मेट्रो स्टेशन, दिल्ली..

108 फुट संकट मोचन धाम, श्री हनुमंत लाल की विश्‍व की दूसरी सबसे उँची मूर्ति के लिए प्रषिद्ध है। मंदिर का निर्माण ब्रह्मलीन नागाबाबा श्री सेवागिरी जी महाराज ने कराया था, झंडेवालान मेट्रो स्टेशन, दिल्ली..


प्राचीन श्री शिव शक्ति मंदिर @Ghaziabad Uttar Pradesh

भगवान शिव एवं माँ आदिशक्ति को समर्पित वैशाली का सबसे पुराना गौरी-शंकर मंदिर प्राचीन श्री शिव शक्ति मंदिर के नाम से जाना जाता है।

भगवान शिव एवं माँ आदिशक्ति को समर्पित वैशाली का सबसे पुराना गौरी-शंकर मंदिर प्राचीन श्री शिव शक्ति मंदिर के नाम से जाना जाता है।


दिल्ली के प्रसिद्ध वाल्मीकि मंदिर

आइए जानें नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और गुरुग्राम के प्रसिद्ध अग्रणी भगवान वाल्मीकि मंदिरों की सूची...

बृजभूमि के प्रसिद्ध मंदिर

बृजभूमि अथवा ब्रिजभूमि भगवान कृष्ण की बचपन से संबंधित गतिविधियों से जुड़ा क्षेत्र है।

दिल्ली के प्रसिद्ध हनुमान बालाजी मंदिर

हनुमान जी श्री राम के बहुत बड़े भक्त हैं और भगवान शिव के अवतार हैं। हनुमान जी के माता-पिता का नाम अंजना और केसरी है इसलिए उन्हें अंजनी-पुत्रा और केसरी-नंदन कहा जाता है।

दिल्ली के प्रसिद्ध शिव मंदिर

नई दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के प्रमुख भगवान शिव मंदिर:

सोमनाथ के प्रमुख सिद्ध मंदिर

विश्व प्रसिद्ध श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, भगवान शिव के शिवलिंग रूप की नगरी है जो वैरावल क्षेत्र में आती है।

आरती माँ लक्ष्मीजी - ॐ जय लक्ष्मी माता

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता। तुमको निसदिन सेवत, हर विष्णु विधाता॥

श्री कुबेर जी आरती - जय कुबेर स्वामी

जय कुबेर स्वामी, प्रभु जय कुबेर स्वामी, हे समरथ परिपूरन..

कार्तिकेय जी की आरती

जय जय आरती वेणु गोपाला, वेणु गोपाला वेणु लोला, पाप विदुरा नवनीत चोरा

बिनती सुनिए नाथ हमारी.. भजन

बिनती सुनिए नाथ हमारी, हृदयष्वर हरी हृदय बिहारी, हृदयष्वर हरी हृदय बिहारी, मोर मुकुट पीतांबर धारी..

काहे तेरी अखियों में पानी: भजन

मीरा दीवानी हो गयी रे, मीरा दीवानी हो गयी। मीरा मस्तानी हो गयी रे..

मीरा बाई भजन: ऐ री मैं तो प्रेम-दिवानी

ऐ री मैं तो प्रेम-दिवानी, मेरो दर्द न जाणै कोय । दर्द की मारी बन-बन डोलूं, बैद मिल्यो नही कोई ॥

Download BhaktiBharat App Go To Top