Hanuman Chalisa

✨भड़रिया नवमी - Bhadariya Navami

Bhadariya Navami Date: Tuesday, 27 June 2023
भड़रिया नवमी

भड़रिया नवमी एक अबूझ शुभ मुहूर्त है, इस दिन किसी भी प्रकार की सभी शुभ गतिविधियां आयोजित की जा सकती हैं। भड़रिया नवमी मुख्य रूप से विवाह जैसे शुभ कार्यों के लिए जन-मानस के बीच अधिक प्रसिद्ध है।

हिंदू मान्यताओं के अनुसार देवशयनी एकादशी के बाद चार महीने के लिए मांगलिक एवं शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। मान्यताओं के अनुसार देवशयनी एकादशी से भगवान विष्णु चातुर्मास के लिए गहरी योग निंद्रा मे चले जाते हैं। तत्पश्चात भगवान विष्णु सीधा देवउठनी एकादशी पर चातुर्मास समाप्ति के साथ योग निंद्रा से जाग्रत होते है। उसके पश्चात शुभ एवं मांगलिक कार्य फिर से प्रारंभ हो जाते हैं।

वैवाहिक जीवन का प्रारंभ बिना भगवान लक्ष्मीनारायण के आशीर्वाद से संपन्न नहीं होता है। इसी कारण भगवान श्री लक्ष्मीनारायण के योग निंद्रा में होने से कोई शुभ कार्य नहीं किया जाता है।

भड़रिया नवमी को विभिन्न बोली, भाषा एवं क्षेत्र के अनुसार भड़रिया नौमी, भड़ल्या नवमी, भढली नवमी, भड़ली नवमी, भादरिया नवमी, भदरिया नवमी, कन्दर्प नवमी एवं बदरिया नवमी नामो से भी जाना जाता है।

भड़रिया नवमी ही क्यों?
विवाह के साथ होने वाले अन्य शुभ कार्यों का समापन होने में 1-2 दिन का समय लग जाता है, तथा देवशयनी एकादशी तक सारे शुभ कार्य संपन्न होना भी आवश्यक है। अतः शुभ कार्य हेतु देवशयनी एकादशी से तुरंत पहिले सबसे शुभ तिथि भड़रिया नवमी ही मानी गई है।

अबूझ मुहूर्त क्या है?
सामान्य जन मे कुछ अबूझ मुहूर्त जैसे बसंत पंचमी, फुलेरा दूज, अक्षया तृतीया, भड़रिया नवमी तथा देवोत्थान को माना जाता है, परंतु अधिकतर ज्योतिष अबूझ मुहूर्त जैसी अवधारणा को नहीं मानते हैं।

संबंधित अन्य नामभड़रिया नौमी, भड़ल्या नवमी, भढली नवमी, भड़ली नवमी, भादरिया नवमी, भदरिया नवमी, कन्दर्प नवमी, बदरिया नवमी
सुरुआत तिथिआषाढ़ शुक्ल नवमी
कारणअबूझ शुभ विवाह मुहूर्त।
उत्सव विधिविवाह, गृह प्रवेश, भजन/कीर्तन, मंदिर में प्रार्थना।

Bhadariya Navami in English

Bhadaria Navami is an auspicious time, on this day all auspicious activities of any kind can be organized.

संबंधित जानकारियाँ

भविष्य के त्यौहार
15 July 2024
आवृत्ति
वार्षिक
समय
1 दिन
सुरुआत तिथि
आषाढ़ शुक्ल नवमी
समाप्ति तिथि
आषाढ़ शुक्ल नवमी
महीना
जून / जुलाई
कारण
अबूझ शुभ विवाह मुहूर्त।
उत्सव विधि
विवाह, गृह प्रवेश, भजन/कीर्तन, मंदिर में प्रार्थना।
महत्वपूर्ण जगह
घर, उत्तर भारत, मंदिर।
पिछले त्यौहार
8 July 2022, 18 July 2021
अगर आपको यह त्योहार पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस त्योहार को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

Hanuman Chalisa
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App