Sawan 2022Download Bhakti Bharat APP

बटेश्वर मंदिर, मुरैना - Bateshwar Temple, Morena

मुख्य आकर्षण - Key Highlights

  • भगवान शिव, विष्णु और शक्ति को समर्पित लगभग 200 मंदिर।
  • भग्नावशेष अवस्था में मंदिर।
  • मंदिर राष्ट्रीय संरक्षित स्मारक के अंतर्गत आता है।

बटेश्वर मंदिर परिसर मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में स्थित है। मंदिर को बटेसरा या बटेश्वर के नाम से भी जाना जाता है और यह ग्वालियर शहर से लगभग 30 किमी दूर पढ़ावली गांव के पास एक पहाड़ी श्रृंखला पर स्थित है। ऐसा माना जाता है कि 25 एकड़ के क्षेत्र में भगवान शिव, विष्णु और शक्ति को समर्पित लगभग 200 मंदिर हैं। माना जाता है कि बटेश्वर नाम भूतेश्वर से लिया गया है, जो भगवान शिव का दूसरा नाम है।

बटेश्वर स्थल पर आपको कुछ खंडहर और पुनर्स्थापित मंदिर मिलते हैं, जो 8वीं और 10वीं शताब्दी के बीच बनाए गए थे। 2005 में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा शुरू की गई एक परियोजना में, मंदिरों के रूप में वे अब दिखाई देते हैं, कई मामलों में पत्थरों के खंडहरों के साथ पुनर्निर्माण किया गया है।

बटेश्वर मंदिर का इतिहास
कहा जाता है कि मंदिरों का निर्माण 6वीं से 9वीं शताब्दी के दौरान गुर्जर-प्रतिहार वंश द्वारा किया गया था, जिन्होंने आठवीं शताब्दी के मध्य से 11वीं शताब्दी तक उत्तर भारत के एक बड़े हिस्से पर शासन किया था। प्रतिहार खुद को सूर्यवंशी मानते थे और उन्हें रामायण महाकाव्य से लक्ष्मण के वंशज कहा जाता है।

ऐसा माना जाता है कि इस परिसर में 400 छोटे और बड़े मंदिर थे लेकिन कोई नहीं जानता कि ये मंदिर कैसे खंडहर बन गए। वर्तमान सिद्धांत यह है कि 13वीं शताब्दी के कुछ समय बाद आए भूकंप ने परिसर को पूरी तरह से नष्ट कर दिया।

ध्यान दें: इन मंदिरों को दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की जन्मस्थली बटेश्वर, जो कि उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में यमुना नदी के किनारे बसा है, से बिल्कुल भी भ्रमित ना हों। बाबा बटेश्वर नाथ मंदिर भगवान शिव के अलग-अलग रूपों के 108 मंदिरों की श्रंखला है।

बटेश्वर मंदिर परिसर तक कैसे पहुंचे
बटेश्वर मंदिर परिसर मुरैना जिले के पड़ावली गांव के पास स्थित है। यह स्थान ग्वालियर से लगभग 35 किमी और मुरैना रेलवे स्टेशन से 30 किमी दूर है। ग्वालियर से कार किराए पर लेना और बटेश्वर मंदिर परिसर, पड़ावली और मितावली एक साथ जाना सबसे अच्छा है। यदि समय मिले तो आप काकनमठ और मितौली में चौसठ योगिनी मंदिर भी जा सकते हैं।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा शिलालेख | किसने बनवाया? | बटेश्वर मंदिर कहाँ है?
मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में पढ़ावली ग्राम के दक्षिण में स्थित बटेसर में मंदिरों के भग्नावशेष एक पहाड़ी के पश्चिम तलहटी के एक विस्तृत भूभाग पर फैले हुए हैं। पाषाण निर्मित इन मंदिरों के अवशेषों में मुख्य रूप से द्वार, सोपानयुक्त तालाब, मंदिर स्थापत्य कला के भाग, हिंदू देवी-देवताओं की प्रतिमाएँ एवं स्तंभों के अवशेष हैं, जिनको स्थापत्य कला की दृष्टि से परवर्ती गुप्तकाल से प्रतिहारकाल के मध्य रखा जा सकता है, जिसका समयकाल छतवीं छठवीं सदी ई. से नौ सदी ई. तक है।

बटेसर में स्थित मंदिरों के ये अवशेष मंदिर कला के क्रमिक विकास की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। प्राचीन मंदिरों में केवल एक गर्भग्रह व छत सपाट है। जबकि कालांतर में गर्भग्रह के ऊपर एक शिखर का भी निर्माण होने लगा था। यहाँ स्थित भूतेश्वर महादेव मंदिर प्रतिहार कालीन मंदिर निर्माण कला के समस्त लक्षणों को प्रदर्शित करता है।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अथक प्रयासों से यहाँ हाल ही में कुछ मंदिरों का पुनर्निर्माण कर उन्हें वास्तविक स्वरूप प्रदान किया गया है।

प्रचलित नाम: बटेश्वर ग्रूप ऑफ टेंपल, बटेश्वर मंदिर, बटेश्वर हिंदू मंदिर

यह भी जानें - Read Also

समय - Timings

दर्शन समय
सूर्योदय से सूर्यास्त तक।
त्यौहार

Bateshwar Temple, Morena in English

Bateshwar Group of Temples, Bateshwar Temple Morena, Bateshwar Hindu Temple Complex is located in Morena district of Madhya Pradesh. Around 200 temples dedicated to Bhagwan Shiva, Vishnu and Shakti.

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

भूतेश्वर महादेव शिवलिंग

भूतेश्वर महादेव शिवलिंग

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

बटेश्वर मंदिर, मुरैना

जानकारियां - Information

संस्थापक
गुर्जर-प्रतिहार वंश
स्थापना
8वीं से 10वीं शताब्दी के बीच
देख-रेख संस्था
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण
समर्पित
भगवान शिव
क्षेत्रफल
25 Acres
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)
नि:शुल्क प्रवेश
हाँ जी

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
Padhavali Morena Madhya Pradesh
सड़क/मार्ग 🚗
Bateswar Temple Road
रेलवे 🚉
Morena
हवा मार्ग ✈
Gwalior Airport, Pandit Deen Dayal Upadhyay Airport Agra
नदी ⛵
Asan
सोशल मीडिया
Download App
निर्देशांक 🌐
26.425934°N, 78.196535°E
बटेश्वर मंदिर, मुरैना गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/bateshwar-morena

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

अगर आपको यह मंदिर पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस मंदिर को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

श्री बृहस्पति देव की आरती

जय वृहस्पति देवा, ऊँ जय वृहस्पति देवा । छिन छिन भोग लगा‌ऊँ..

श्री सत्यनारायण जी आरती

जय लक्ष्मी रमणा, स्वामी जय लक्ष्मी रमणा। सत्यनारायण स्वामी, जन पातक हरणा॥

ॐ जय जगदीश हरे आरती

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे। भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट, क्षण में दूर करे॥

Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App