श्री मनन धाम - Shree Manan Dham


Jan 25, 2020 13:43 PM 🔖 बारें में | 🕖 समय सारिणी | ♡ मुख्य आकर्षण | 📜 इतिहास | 📷 फोटो प्रदर्शनी | ▶ वीडियो प्रदर्शनी | ✈ कैसे पहुचें | 🌍 मानचित्र | 🖋 कॉमेंट्स


श्री मननधाम परमपूजनीय श्री वैष्णो देवा माँ जी की प्रेरणा से शास्त्रअनुसार अती उतम वास्तुकला से बना मन्दिर है जिसे शंख वाला मन्दिर के नाम से ख्याति प्राप्त है। मन्दिर के शीर्ष पर 31 फुट ऊँचा शंख बडे बडे वास्तुकारो और इंजीनियर को हैरत मे डाल देता है जिसकी भूमीतल से कुल ऊँचाई 108 फुट है शंख के नीचे की संरचना अष्टकोण मे है। वर्षा होने पर शंख पर गिरी बारिश की बूदे शिवलिग का अभिषेक करती है।

Divya Maha Mahotsav: 21-31 January 2020
21 January 2020: Shri Durga Stuti Path
22 January 2020: Shri Akhand Naam Jap Shubharambh
23 January 2020: Samapan Akhand Naam Jap And Maha Aarti
24-30 January 2020: Shrimad Bhagwat Katha Gyan Yagya
31 January 2020: Shri Maharani Ji Choki

बड़ा पवित्र मननधाम अति पावन सुंदर प्यारा।
ज्ञान ध्यान भक्ती वैराग्य का यहाँ पर ये भंडारा।

इस घरती के कण-कण में है ममतामई सुगन्घ।
माँ देवी के मननधाम में आनंद ही आनंद।


श्री राधा कृष्ण मंदिर
मुख्यद्वार में प्रवेश करते ही सामने श्री राधा कृष्ण मंदिर है जहां सीढ़ियों में लगा कादम्ब का पेड़ इसकी दिव्यता को दर्शाता है। अंदर पहुँचते ही श्री राधा कृष्ण के दर्शन करके वृन्दावन में बांके बिहारी मंदिर में होने का एहसास होता है। मंदिर में दोनों तरफ श्री लक्ष्मी नारायण के साथ साथ दशावतार के भी दर्शन होते है।

माँ वैष्णों देवी दरबार
श्री मननधाम के मुख्य मंदिर माँ पिंडिराणी के दरबार, यहाँ पर माँ सरस्वती, माँ काली व माँ लक्ष्मी के स्वरुप पिंडी रूप में विराजमान है जो हिमअचल में माँ ज्वाला देवी जी के धाम से लाकर जम्मू के श्री वैष्णों देवी मंदिर से प्रतिष्टित हो कर आए हैं। इसलिए इस दरबार में माथा टेकने से माँ वैष्णों देवी की यात्रा का पूरा फल मिलता है। इस दरबार की अंदरूनी दीवारों पर पूरा काम चांदी से हुआ है। श्री वैष्णों माँ के दर्शन करने के बाद पूज्य माता राम प्यारी जी व शिरडी के साईं बाबा के साथ साथ गुरु नानक देव जी का भी आशीर्वाद प्राप्त होता है।

श्री राम मंदिर व शिव मंदिर
श्री राम मंदिर मे राम दरबार व शिव परिवार विराजमान है। इनके अलौकिक स्वरुप के दर्शन करते ही श्रद्धालु भाव विभोर हो जाता है और आत्मा तृप्त हो जाती है। इसी मंदिर में ग्यारह रूद्र के स्वरुप भी स्थापित है जो भारत में बहुत कम स्थानों पर है।

नवग्रह मंदिर
श्री मननधाम मंदिर परिसर में ही नवग्रह मंदिर है जहाँ नौ ग्रहों के अलग अलग स्वरुप के दर्शन किये जा सकते है। साथ में ही हवन यज्ञशाला है जिसका निर्माण शास्त्रीय विधि में हुआ है।

शिव शक्ति मंदिर
श्री राम एवं शिव परिवार के दर्शन करके हम शिव शक्त्ति मंदिर के द्वार पर पहुँच जाते है। मंदिर के तल में शिवालय स्थापित है। इसके ऊपरी तल पर शक्त्ति मंदिर व गायत्री मंदिर निर्माणधीन है। (Source: shreemanandham.org)

प्रचलित नाम: शंख वाला मंदिर

समय सारिणी - Timings

दर्शन समय
5:00 AM - 9:00 PM

फोटो प्रदर्शनी - Photo Gallery

Photo in Full View
A Beautiful full back sided shankh view from near by Shri Rishabh Anchal Jain Temple.

A Beautiful full back sided shankh view from near by Shri Rishabh Anchal Jain Temple.

A closeup frame of highest point of height 108 feet with golden chakra.

A closeup frame of highest point of height 108 feet with golden chakra.

Shri Navgrah dhan next to yagyashala and near to backup room.

Shri Navgrah dhan next to yagyashala and near to backup room.

Yagyashala a combination of modern and old architecture, having nearby Mango tree.

Yagyashala a combination of modern and old architecture, having nearby Mango tree.

 Corridor towards Shri Maa Vaishno Dharwad

Corridor towards Shri Maa Vaishno Dharwad

Shri Radha Krishna Mandir with Dashavta Bhagwan Vishnu.

Shri Radha Krishna Mandir with Dashavta Bhagwan Vishnu.

A central green park with fountain with element tank surrounded by temples and Mata ki rasoi.

A central green park with fountain with element tank surrounded by temples and Mata ki rasoi.

BhaktiBharat.com

BhaktiBharat.com

Two top shikhar one from Maa Vaishno Dham and secondone from Guru Mata Dham.

Two top shikhar one from Maa Vaishno Dham and secondone from Guru Mata Dham.

White shankha, pink lotus and golden chakra in front zoomed view from NH 58, outside the temple boundary.

White shankha, pink lotus and golden chakra in front zoomed view from NH 58, outside the temple boundary.

Shree Manan Dham in English

The inspiration of Maa Vaishno Devi, Shree Manan Dham beautifully crafted as per hindu shashtra and architecture, also known as the Shankh Wala Mandir.

जानकारियां - Information

धाम
Radha Krishna Mandir: Shri Laxmi NarayanShri Matsya AvtarShri Parashurama AvtarShri Narasimha AvtarShri Radha Krishna(c)Shri Kurma AvtarShri Buddha AvtarShri Kalki AvtarShri Varaha AvtarShri Vamana Avtar
Shri Ram and Shiv Mandir: Shri
बुनियादी सेवाएं
Prasad, Water Coolar, Power Backup, Office, 24x7 Guards, Reception, Shoe Store, Childrens Park, Free Parking, Washroom, Fountain, Solar Light, Sitting Benches
धर्मार्थ सेवाएं
Gaushala (Village: Duhai), Dispensary, Maharani Ki Rasoi(Langar Hall), Prasad Shop, Manandeep - Quarterly Magazine
स्थापना
2003
समर्पित
भगवान शिव
क्षेत्रफल
3 Acre
फोटोग्राफी
हाँ जी (मंदिर के अंदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें।)

क्रमवद्ध - Timeline

31 January 1992

मंदिर की नीव भारी गई।

20 January 2003

उप-राष्ट्रपति भैरों सिंह शेखावत द्वारा शंख का उद्घाटन।

वीडियो प्रदर्शनी - Video Gallery

कैसे पहुचें - How To Reach

पता 📧
NH 58, Village Morta Ghaziabad Uttar Pradesh
सड़क/मार्ग 🚗
Eastern Peripheral Expressway >> Delhi-Meerut Road (NH-58)
रेलवे 🚉
Ghaziabad
हवा मार्ग ✈
Indira Gandhi International Airport
नदी ⛵
Hindon River
वेबसाइट 📡
http://www.shreemanandham.org/
facebook
@ShreeMananDham
निर्देशांक 🌐
28.721069°N, 77.465272°E
श्री मनन धाम गूगल के मानचित्र पर
http://www.bhaktibharat.com/mandir/manan-dham

अगला मंदिर दर्शन - Next Darshan

अपने विचार यहाँ लिखें - Write Your Comment

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें साझा जरूर करें: यहाँ साझा करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

आरती: माँ दुर्गा, माँ काली

अम्बे तू है जगदम्बे काली जय दुर्गे खप्पर वाली। तेरे ही गुण गाये भारती...

आरती: माँ महाकाली

जय काली माता, मा जय महा काली माँ। रतबीजा वध कारिणी माता।...

माँ अन्नपूर्णा की आरती

बारम्बार प्रणाम, मैया बारम्बार प्रणाम । जो नहीं ध्यावे तुम्हें अम्बिके, कहां उसे विश्राम । अन्नपूर्णा देवी नाम तिहारो..

🔝