close this ads

आरती: माँ सरस्वती जी


जय सरस्वती माता, मैया जय सरस्वती माता।
सदगुण वैभव शालिनी, त्रिभुवन विख्याता॥
॥ जय सरस्वती माता...॥

चन्द्रवदनि पद्मासिनि, द्युति मंगलकारी।
सोहे शुभ हंस सवारी, अतुल तेजधारी॥
॥ जय सरस्वती माता...॥

बाएं कर में वीणा, दाएं कर माला।
शीश मुकुट मणि सोहे, गल मोतियन माला॥
॥ जय सरस्वती माता...॥

देवी शरण जो आए, उनका उद्धार किया।
पैठी मंथरा दासी, रावण संहार किया॥
॥ जय सरस्वती माता...॥

विद्या ज्ञान प्रदायिनि, ज्ञान प्रकाश भरो।
मोह अज्ञान और तिमिर का, जग से नाश करो॥
॥ जय सरस्वती माता...॥

धूप दीप फल मेवा, माँ स्वीकार करो।
ज्ञानचक्षु दे माता, जग निस्तार करो॥
॥ जय सरस्वती माता...॥

माँ सरस्वती की आरती, जो कोई जन गावे।
हितकारी सुखकारी, ज्ञान भक्ति पावे॥
॥ जय सरस्वती माता...॥

जय सरस्वती माता, जय जय सरस्वती माता।
सदगुण वैभव शालिनी, त्रिभुवन विख्याता॥

Read Also:
» वसंत पंचमी - Vasant Panchami
» माँ सरस्वती चालीसा | माँ सरस्वती वंदना | माँ सरस्वती अष्टोत्तर-शतनाम-नामावली | श्री महासरस्वती सहस्रनाम स्तोत्रम्!
»दिल्ली NCR मे माता के प्रसिद्ध मंदिर!

Hindi Version in English

Jay Saraswati Mata, Maiya Jay Saraswati Mata।
Sadgun Vaibhav Shalini, Tribhuvan Vikhyata॥
॥ Jay Saraswati Mata...॥

Chandravadani Padmasini, Dyuti Mangalkari।
Sohe Shubh Hans Sawari, Atul Tejdhari॥
॥ Jay Saraswati Mata...॥

Bayen Kar Mein Veena, Dayen Kar Mala।
Sheesh Mukut Mani Sohe, Gal Motiyan Mala॥
॥ Jay Saraswati Mata...॥

Devi Sharan Jo Aaye, Unaka Uddhar Kiya।
Paithi Manthara Dasi, Ravan Sanhar Kiya॥
॥ Jay Saraswati Mata...॥

Vidya Gyan Pradayini, Gyan Prakash Bharo।
Moh Agyan Aur Timir Ka, Jag Se Naash Karo॥
॥ Jay Saraswati Mata...॥

Dhoop Deep Phal Meva, Maa Svikar Karo।
Gyanchakshu De Mata, Jag Nistar Karo॥
॥ Jay Saraswati Mata...॥

Maa Saraswati Ki Arati, Jo Koi Jan Gave।
Hitakari Sukhakari, Gyan Bhakti Pave॥
॥ Jay Saraswati Mata...॥

Jay Saraswati Mata, Maiya Jay Saraswati Mata।
Sadgun Vaibhav Shalini, Tribhuvan Vikhyata॥

AartiSaraswati Maa AartiMata Aarti


If you love this article please like, share or comment!

* If you are feeling any data correction, please share your views on our contact us page.
** Please write your any type of feedback or suggestion(s) on our contact us page. Whatever you think, (+) or (-) doesn't metter!

आरती: श्री गणेश - शेंदुर लाल चढ़ायो!

शेंदुर लाल चढ़ायो अच्छा गजमुखको। दोंदिल लाल बिराजे सुत गौरिहरको।...

आरती: श्री गणेश जी

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा। माता जाकी पार्वती पिता महादेवा॥...

भोग आरती: आओ भोग लगाओ प्यारे मोहन…

आओ भोग लगाओ प्यारे मोहन, भिलनी के बैर सुदामा के तंडुल, रूचि रूचि भोग लगाओ प्यारे मोहन…

आरती: श्री बाल कृष्ण जी

आरती बाल कृष्ण की कीजै, अपना जन्म सफल कर लीजै। श्री यशोदा का परम दुलारा...

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥

आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की॥ गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला।...

आरती युगलकिशोर की कीजै!

आरती युगलकिशोर की कीजै। तन मन धन न्योछावर कीजै॥ गौरश्याम मुख निरखन लीजै।...

आरती: श्री पार्वती माँ

जय पार्वती माता, जय पार्वती माता, ब्रह्मा सनातन देवी, शुभ फल की दाता...

आरती: श्री शिव, शंकर, भोलेनाथ

जय शिव ओंकारा, ॐ जय शिव ओंकारा। ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा॥

आरती: श्री बृहस्पति देव

जय वृहस्पति देवा, ऊँ जय वृहस्पति देवा। छिन छिन भोग लगा‌ऊँ...

आरती: जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी।

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी, तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवरी॥

Latest Mandir

^
top