हम को मन की शक्ति देना - प्रार्थना (Hum Ko Mann Ki Shakti Dena)


हम को मन की शक्ति देना - प्रार्थना

हम को मन की शक्ति देना,
मन विजय करें ।
दूसरों की जय से पहले,
खुद को जय करें ।

भेदभाव अपने दिल से,
साफ कर सकें ।
दोस्तों से भूल हो तो,
माफ कर सकें ।
झूठ से बचे रहें,
सच का दम भरें ।
दूसरों की जय से पहले,
खुद को जय करें ।

हम को मन की शक्ति देना,
मन विजय करें ।
दूसरों की जय से पहले,
खुद को जय करें ।

मुश्किलें पड़े तो हम पे,
इतना कर्म कर ।
साथ दे तो धर्म का,
चलें तो धर्म पर ।
खुद पे हौसला रहे,
बदी से ना डरें ।
दूसरों की जय से पहले,
खुद को जय करें ।

हम को मन की शक्ति देना,
मन विजय करें ।
दूसरों की जय से पहले,
खुद को जय करें ।

हम को मन की शक्ति देना,
मन विजय करें ।
दूसरों की जय से पहले,
खुद को जय करें ।

Hum Ko Mann Ki Shakti Dena in English

Ham Ko Mann Ki Shakti Dena, Mann Vijai Karain। Dusaron Ki Jai Se Pahale, Khud Ko Jai Karain।
यह भी जानें

Bhajan Arya Samaj BhajanVed BhajanVedic BhajanHawan BhajanYagya BhajanMotivational BhajanMorning BhajanDainik BhajanDaily BhajanPrarthana BhajanVandana BhajanJain BhajanJainism BhajanSchool BhajanCollage BhajanGurukul BhajanInspirational BhajanShanti Dham BhajanPrayer Bhajan

अगर आपको यह भजन पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस भजन को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

उड़े उड़े बजरंगबली, जब उड़े उड़े - भजन

उड़े उड़े बजरंगबली, जब उड़े उड़े, हनुमान उड़े उड़ते ही गये, सब देख रहे है..

रोम रोम में जिसके, श्री राम समाया है: भजन

रोम रोम में जिसके, श्री राम समाया है, आज उसी बजरंग का, ये उत्सव आया है ॥

रखवाला प्रतिपाला, मेरा लाल लंगोटे वाला: भजन

रखवाला प्रतिपाला, मेरा लाल लंगोटे वाला, कदम कदम पर रक्षा करता...

भजन: सालासर में जिसका, आना जाना हो गया

सालासर में जिसका, आना जाना हो गया, वो ही मेरी बाबा का, दीवाना हो गया...

नित रटूं नाम बाबा, नौकरी मिलज्या जै हनुमान: भजन

नित रटूं नाम बाबा, आज्या काम आज, दे दे ईसा वरदान...

संकट के साथी को हनुमान कहते हैं: भजन

दुनिया के मालिक को भगवान कहते हैं, संकट के साथी को हनुमान कहते हैं॥

अगर नाथ देखोगे अवगुण हमारे: भजन

अगर नाथ देखोगे अवगुण हमारे, तो हम कैसे भव से लगेंगे किनारे ॥..

मंदिर

Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel