भजन: कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी (Kab Darshan Denge Ram Param Hitkari)


भीलनी परम तपश्विनी,
शबरी जाको नाम ।
गुरु मतंग कह कर गए,
तोहे मिलेंगे राम ।

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी
कब दर्शन देंगे राम दीन हितकारी
रास्ता देखत शबरी की उम्र गयी सारी ॥

कही कोई कांटा प्रभु को नहीं चुभ जाये
पग तन्मग्चारे चुन चुन पुष्प बिछाए
मीठे फल चख कर नित्य सजाये थारी
रास्ता देखत शबरी की उम्र गयी सारी

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी
कब दर्शन देंगे राम दीन हितकारी
रास्ता देखत शबरी की उम्र गयी सारी ॥

श्री राम चरण मे प्राण बसे शबरी के
प्रभु दर्शन दे तो भाग जगे शबरी के
रघुनाथ प्राणनिधि पर जीवन बलिहारी
रास्ता देखत शबरी की उम्र गयी सारी

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी
कब दर्शन देंगे राम दीन हितकारी
रास्ता देखत शबरी की उम्र गयी सारी ॥

कब दर्शन देंगे राम परम हितकारी
कब दर्शन देंगे राम दीन हितकारी
रास्ता देखत शबरी की उम्र गयी सारी

Kab Darshan Denge Ram Param Hitkari in English

Kab Darshan Denge Ram Param Hitkari Kab Darshan Denge Ram Din Hitkari, Rasta Dekhat Shabari Ki Umr Gayi Sari
यह भी जानें

BhajanShri Ram BhajanShri Raghuvar BhajanRam Navmi BhajanSundarkand BhajanRamayan Path BhajanVijayadashami BhajanMata Sita BhajanRam Sita Vivah BhajanDidi Bhakti Prabha Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

बधाई भजन: लल्ला की सुन के मै आयी यशोदा मैया देदो!

नवजात शिशु के जन्म बधाई की खुशी मे यह गीत, भजन भारत मे बहुत लोकप्रिय हैं! लल्ला की सुन के मै आयी यशोदा मैया देदो बधाई,

मेरो छोटो सो लड्डू गोपाल सखी री बड़ो प्यारो है

मेरो छोटो सो लड्डू गोपाल, सखी री बड़ो प्यारो है। अँखियाँ मटकाये जब सुबह जागे..

कान्हा वे असां तेरा जन्मदिन मनावणा।

कान्हा वे असां तेरा जन्मदिन मनावणा, मोहना वे असां तेरा जन्मदिन मानवना...

जन्माष्टमी भजन: यगोविंदा आला रे आला...

गोविंदा आला रे आला, ज़रा मटकी सम्भाल बृजबाला, अरे एक दो तीन चार संग पाँच छः सात हैं ग्वाला...

जन्माष्टमी भजन: यशोमती मैया से बोले नंदलाला

यशोमती मैया से बोले नंदलाला, राधा क्यों गोरी मैं क्यों काला॥

जन्माष्टमी भजन: ढँक लै यशोदा नजर लग जाएगी

ढँक लै यशोदा नजर लग जाएगी, कान्हा को तेरे नजर लग जाएगी।

जेल में प्रकटे कृष्ण कन्हैया..

जेल में प्रकटे कृष्ण कन्हैया, सबको बहुत बधाई है, बहुत बधाई है...

🔝