भजन: श्यामा तेरे चरणों की, गर धूल जो मिल जाए । (Shyama Tere Charno Ki, Gar Dhool Jo Mil Jaye)


श्यामा तेरे चरणों की,
राधे तेरे चरणों की,
गर धूल जो मिल जाए ।
सच कहता हूँ मेरी
तकदीर बदल जाए ॥

श्यामा तेरे चरणों की,
राधे तेरे चरणों की

सुनता हूँ तेरी रहमत,
दिन रात बरसती है ।
एक बूँद जो मिल जाए,
दिल की कली खिल जाए ॥

श्यामा तेरे चरणों की,
राधे तेरे चरणों की

यह मन बड़ा चंचल है,
कैसे तेरा भजन करूँ ।
जितना इसे समझाऊं,
उतना ही मचल जाए ॥

श्यामा तेरे चरणों की,
राधे तेरे चरणों की

नजरों से गिराना ना,
चाहे जितनी सजा देना ।
नजरों से जो गिर जाए,
मुश्किल ही संभल पाए ॥

श्यामा तेरे चरणों की,
राधे तेरे चरणों की

श्यामा इस जीवन की
बस एक तमन्ना है ।
तुम सामने हो मेरे और
प्राण निकल जाए ॥

श्यामा तेरे चरणों की,
राधे तेरे चरणों की,
गर धूल जो मिल जाए ।
सच कहता हूँ मेरी
तकदीर बदल जाए ॥

Shyama Tere Charno Ki, Gar Dhool Jo Mil Jaye in English

Shyama Tere Charno Ki, Radhe Tere Charno Ki, Gar Dhool Jo Mil Jaye । Sach Kahta Hoon Meri
यह भी जानें

BhajanShri Krishna BhajanBrij BhajanBaal Krishna BhajanBhagwat BhajanJanmashtami BhajanLaddu Gopal BhajanRadhashtami Bhajan


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन: बृन्दावन का कृष्ण कन्हैया

बृन्दावन का कृष्ण कन्हैया, सब की आँखों का तारा, मन ही मन क्यों जले राधिका, मोहन तो है सब का प्यारा...

भजन: घर में पधारो गजानन जी!

घर में पधारो गजाननजी, मेरे घर में पधारो, ग्रह प्रवेश के समय गाए जाने वाला पॉपुलर श्री गणेश भजन...

भभूती रमाये बाबा भोले नाथ आए!

भभूती रमाये बाबा भोले नाथ आए, भोले नाथ आए बाबा डमरू बजाए, भोले नाथ आए बाबा अलख जगाए..

भजन: तेरा पल पल बीता जाए!

तेरा पल पल बीता जाए, मुख से जप ले नमः शिवाय। ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय...

भजन: ॐ शंकर शिव भोले उमापति महादेव

ॐ शंकर शिव भोले उमापति महादेव, पालनहार परमेश्वर, विश्वरूप महादेव, महादेव, महादेव...

बाहुबली से शिव तांडव स्तोत्रम, कौन-है वो

कौन-है वो, कौन-है वो, कहाँ से वो आया, चारों दिशायों में, तेज़ सा वो छाया...

गोविंद चले चरावन धेनु

गोविंद चले चरावन धेनु । गृह गृह तें लरिका सब टेरे शृंगी मधुर बजाई बेनु ॥

🔝