सत्य नारायण पूजा प्रसाद सिन्नी (Satya Narayan Puja Prasad Sinni)

सत्यनारायण पूजा के दौरान पश्चिमबेंगाल और ओडिशा में सिन्नी एक विशिष्ट प्रसाद है। नारायण पूजा की रस्में बहुत सरल हैं और सत्य नारायण को अर्पित करने वाला प्रसाद भी बहुत अशिष्ट है, कुछ ऐसा जो ग्रामीण बंगाल और ओडिशा के किसी भी घर में बिना किसी तैयारी के एक साथ रखा जा सकता है। सिन्नी बनाना, केवल थोड़ा माप की आवश्यकता थी, बस प्रत्येक सामग्री के साथ जाएं।

मुख्य सामग्री
❀ गेहूं का आटा (एटा): 2 कप
❀ दूध: 2 कप
❀ चीनी: 1 कप
❀ फल: 2 पका हुआ केला

गार्निशिंग के लिए:
❀काजू: 1 कप
❀ किशमिश: 1 कप
❀ नारियल: 1 कप grated

तैयारी विधि:
❀ एक बड़े कटोरे में, जिसमें आप सिन्नी की पेशकश कर रहे होंगे, पका हुआ केला लें और उन्हें अपनी उंगलियों से मैश करें।
❀ चीनी डालें और इसे केले के साथ अच्छी तरह से मिलाएं और एक पेस्ट बनाये।
❀ अब गेहूं का आटा डालें और धीरे-धीरे दूध डालें, एक चिकनी पेस्ट के लिए इसे पूरी तरह मिलाएं।
❀ इसमें काजू, किशमिश और कद्दूकस किया हुआ नारियल डालें।

अब सिन्नी भगवान को चढ़ाने के लिए तैयार है!

Satya Narayan Puja Prasad Sinni in English

Sinni is a typical Prashad made only during Satyanarayan Puja in Westbengal and Odisha.
यह भी जानें

Bhog-prasad Sinni Bhog-prasadSatya Narayan Puja Prasad Sinni Bhog-prasadStayanarayan Bhog Bhog-prasad

अगर आपको यह bhog-prasad पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस bhog-prasad को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

साबूदाने की खीर बनाने की विधि

...इस प्रकार भोग के लिए आपकी साबुदाने की खीर बन कर तैयार हो गई।

चूरमा के लड्‍डू बनाने की विधि

इस प्रकार भोग के लिए चूरमा के लड्डू तैयार हो जाते हैं...

सिंघाड़े का हलवा बनाने की विधि

सिंघाड़े का हलवा बन कर तैयार हो जाता है। कतलियों को अपने स्वादानुसार काजू अथवा बादाम 1-1 चम्मच से सजा लेते हैं।

मथुरा के पेड़े बनाने की विधि

आइए जानें मथुरा के प्रसिद्ध पेड़ों को घर मे बनाने की विधि...

सूजी का हलवा बनाने की विधि

भोग लगाने के लिए सूजी का हलवा तैयार करने के सरल विधि...

पंचामृत बनाने की विधि

हिंदू / जैन समाज में पूजा के बाद पंचामृत प्रसाद के रूप में दिया जाता है। आइये जानते हैं! रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने मे सहायक पंचामृत बनाने की सरल विधि..

मखाने की खीर बनाने की विधि

व्रत, कथा, भोज, रक्षाबंधन तथा जन्माष्टमी में प्रयोग आने वाली प्रमुख मिष्ठान, मखाने की खीर बनाने की सरल रेसिपी...

🔝