Hanuman Chalisa

नर्मदा यात्रा में डिजिटल बाबा (Digital Baba in Narmada Yatra)

नर्मदा यात्रा में डिजिटल बाबा

डिजिटल बाबा स्वामी राम शंकर क्षेत्र में सबसे प्रसिद्ध नर्मदा परिक्रमा कर रहे हैं। नर्मदा परिक्रमा के दौरान इस कार्य से जुड़े लोगों के बीच जाकर डिजिटल बाबा सोशल मीडिया के जरिए अपनी पहचान बनाने की कोशिश कर रहे हैं। देवउठनी एकादशी पर गोमुख घाट पर विधिवत पूजन, कन्या भोज के बाद डिजिटल बाबा ने ओंकारेश्वर से नर्मदा परिक्रमा की शुरुआत की।

कौन हैं डिजिटल बाबा?
प्रसिद्ध डिजिटल बाबा एक युवा संन्यासी हैं जिनका वास्तविक नाम स्वामी राम शंकर है। जो सोशल मीडिया के माध्यम से युवाओं को आध्यात्मिक भारतीय संस्कृति से अवगत कराते रहते हैं। वह युवाओं को जीवन में अध्यात्म का महत्व समझाते रहते हैं।

डिजिटल बाबा का जन्म 1 नवंबर 1987 को उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के खजूरी भट्ट गांव में हुआ था। वर्ष 2008 में लोमश ऋषि आश्रम, अयोध्या के महंत स्वामी शिवचरण दास महाराज से दीक्षा प्राप्त कर उन्होंने अपना जीवन वैरागी परम्परा के भक्ति मार्ग को समर्पित कर दिया। आठ वर्षों में उन्होंने वेद, उपनिषद, रामायण, भगवद गीता, योगशास्त्र और संगीत का गहन अध्ययन किया। छात्र जीवन में स्वामीजी फिल्म अभिनेता बनना चाहते थे परन्तु अंत में आध्यात्मिक पथ में अग्रसर हुए।

किस डिजिटल प्लेटफॉर्म में स्वामी जी प्रसिद्ध हैं:
डिजिटल बाबा के फेसबुक पेज पर देश-दुनिया के डेढ़ लाख लोग डिजिटल बाबा को फॉलो करते हैं। डिजिटल बाबा ने कहा कि मां नर्मदा की परिक्रमा मेरे जीवन के बेहद निजी अनुभव की बात है। सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के बीच इसे दर्शाने का उद्देश्य परिक्रमा के महत्व को समाज की युवा पीढ़ी तक पहुंचाना है। ताकि अधिक से अधिक संख्या में युवा प्रेरित होकर नर्मदा परिक्रमा में भाग लें।

नर्मदा यात्रा के बारे में क्या कहते हैं डिजिटल बाबा:
परिक्रमा के माध्यम से साधक के भीतर भगवान की कृपा के प्रति भक्ति बढ़ती है। साथ ही समाज की भौतिक स्थिति, सांस्कृतिक स्थिति और जीवन दर्शन के अनुभव दृष्टिगोचर होते हैं। यह किसी अन्य माध्यम से कदापि संभव नहीं है। जब हम विपरीत परिस्थितियों में जीवन जीने का अभ्यास करते हैं। जो युवाओं को अंतर्मुखता प्रदान करेगा। सांसारिक उन्नति के साथ-साथ युवा पीढ़ी आत्मकल्याण के प्रति जागरूक होगी।


डिजिटल बाबा और इनकी नर्मदा यात्रा के बारे मे विस्तार से जानने के लिए हमारे न्यूज़ पार्ट्नर Ultranews TV से जाने

Digital Baba in Narmada Yatra in English

The famous Digital Baba is a young monk whose real name is Swami Ram Shankar. Those who keep the youth informed about the spiritual Indian culture through social media. He keeps on explaining to the youth the importance of spirituality in life. Digital Baba Swami Ram Shankar is doing the most famous Narmada Parikrama in the region. During the Narmada Parikrama, Digital Baba is trying to create his identity through social media by going among the people associated with this work.
यह भी जानें

Blogs Digital Baba BlogsDigital Baba In Narmada Yatra BlogsNarmada Parikrama BlogsNarmada River BlogsNarmada Yatra BlogsPanchkroshi Yatra BlogsNarmada Yatra Marg BlogsMadhyapradesh Blogs

अगर आपको यह ब्लॉग पसंद है, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

इस ब्लॉग को भविष्य के लिए सुरक्षित / बुकमार्क करें Add To Favorites
* कृपया अपने किसी भी तरह के सुझावों अथवा विचारों को हमारे साथ अवश्य शेयर करें।

** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर साझा करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ साझा करें

लता मंगेशकर जी - शत् शत् नमन

भारत की कोकिला लता मंगेशकर जी के निधन पर उन्हें शत् शत् नमन। उनके द्वारा गाये हुए भजनों को सुनकर भक्त अक्सर भाव विभोर हो जाते हैं। आइये उनके द्वारा गाये हुए कुछ भजनों को सुनते हैं। यही उनकी सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

राम मंदिर के राम: शालिग्राम पहुँचा अयोध्या

बहु प्रतीक्षित भब्य राम मंदिर अयोध्या में स्थापित होने वाले प्रभु राम की मूर्ति का पत्थर अयोध्या आ गयी है। यह शालिग्राम शिला, नेपाल की बड़ी गंडक नदी से अयोध्या लाया गया है जिस पर भगवान राम की मूर्ति उकेरी जाएगी और गर्भगृह में स्थापित किया जाएगा। इस 7 फुट लंबे और 5 फुट चौड़े आकार के दो शालिग्राम शिला को मूर्तिकार जल्द ही भगवान राम और माता सीता की मूर्ति का आकार देंगे।

ISKCON

ISKCON संप्रदाय के भक्त भगवान श्री कृष्ण को अपना आराध्य मानते हैं। इनके द्वारा गाये जाने वाले भजन, मंत्र एवं गीतों का कुछ संग्रह यहाँ सूचीबद्ध किया गया है, सभी सनातनी परम्परा के भक्त इसका आनंद लें।

भगवान श्री विष्णु के दस अवतार

भगवान विष्‍णु ने धर्म की रक्षा हेतु हर काल में अवतार लिया। भगवान श्री विष्णु के दस अवतार यानी दशावतार की प्रामाणिक कथाएं।

महा शिवरात्रि 2023: कैसे करें भोलेनाथ को प्रसन्न?

महाशिवरात्रि, फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार इस दिन माता पार्वती और भगवान शिव का विवाह सम्पन्न हुआ था। इस अवसर पर अगर आप भगवान शिव को प्रसन्न करना चाहते हैं तो कुछ बातों का ख़याल कीजिये और भोले बाबा का असीम कृपा प्राप्त करें।

महा शिवरात्रि विशेष 2023

शनिवार, 18 फरवरी 2023 को संपूर्ण भारत मे महा शिवरात्रि का उत्सव बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जाएगा। महा शिवरात्रि क्यों, कब, कहाँ और कैसे? | आरती: | चालीसा | मंत्र |नामावली | कथा | मंदिर | भजन

ISKCON एकादशी कैलेंडर 2023

यह एकादशी तिथियाँ केवल वैष्णव सम्प्रदाय इस्कॉन के अनुयायियों के लिए मान्य है | Wednesday, 1 February 2023 जया / भैमी एकादशी व्रत कथा - Jaya / Bhaimi Ekadasi Vrat Kath

Hanuman Chalisa - Shiv Chalisa -
Subscribe BhaktiBharat YouTube Channel
Download BhaktiBharat App