भजन: कुमार मैने देखे, सुंदर सखी दो कुमार! (Bhajan: Kumar Maine Dekhe, Sundar Sakhi Do Kumar)


कुमार मैने देखे,
सुंदर सखी दो कुमार ।
कुमार मैने देखे,
सुंदर सखी दो कुमार ।

हाथों में फूलों का दौना भी सोहे
सुंदर गले में सोहे हार,
कुमार मैने देखे ।
॥ कुमार मैने देखे, सुंदर...॥

सुंदर सलौने बांके रसीले
मोह लिए नर नारी,
कुमार मैने देखे ।
॥ कुमार मैने देखे, सुंदर...॥

मुनियों का यज्ञ इन्होंने रचाया
दीनो की सुनते पुकार,
कुमार मैने देखे ।
॥ कुमार मैने देखे, सुंदर...॥

भक्तों के जीवन, संतों के प्यारे
सब के हैं प्राण आधार,
कुमार मैने देखे ।
॥ कुमार मैने देखे, सुंदर...॥

करुणा के सागर, दशरथ के दुलारे
सब इनसे करते हैं प्यार,
कुमार मैने देखे ।
॥ कुमार मैने देखे, सुंदर...॥

पल भर में अपने, चरणों की रज से
नारी अहिल्या दी तार,
कुमार मैने देखे ।
॥ कुमार मैने देखे, सुंदर...॥

कुमार मैने देखे,
सुंदर सखी दो कुमार ।
कुमार मैने देखे,
सुंदर सखी दो कुमार ।

Bhajan: Kumar Maine Dekhe, Sundar Sakhi Do Kumar in English

Kumar Maine Dekhe, Sundar Sakhi Do Kumar Hathon Mein Phoolon Ka Dauna Bhi Sohe Sundar Gale Mein Sohe Haar
यह भी जानें

BhajanShri Ram BhajanShri Raghuvar BhajanRam Navami BhajanRam Laxman BhajanDigital Baba BhajanSwami Ram Shankar BhajanSakhi Samvad Bhajan

अन्य प्रसिद्ध भजन: कुमार मैने देखे, सुंदर सखी दो कुमार! वीडियो

भजन: कुमार मैने देखे, सुंदर सखी दो कुमार - Shri Prembhushan Ji


अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया शेयर, लाइक या कॉमेंट जरूर करें!

* यदि आपको इस पेज में सुधार की जरूरत महसूस हो रही है, तो कृपया अपने विचारों को हमें शेयर जरूर करें: यहाँ शेयर करें
** आप अपना हर तरह का फीडबैक हमें जरूर शेयर करें, तब चाहे वह सकारात्मक हो या नकारात्मक: यहाँ शेयर करें

भजन : गुरु मेरी पूजा, गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म!

गुरु मेरी पूजा गुरु गोबिंद, गुरु मेरा पारब्रह्म, गुरु भगवंत, गुरु मेरा देव अलख अभेव...

भजन: गुरु बिन घोर अँधेरा संतो!

गुरु बिन घोर अँधेरा संतो, गुरु बिन घोर अँधेरा जी। बिना दीपक मंदरियो सुनो...

सारे तीर्थ धाम आपके चरणो में।

सारे तीर्थ धाम आपके चरणो में। हे गुरुदेव प्रणाम आपके चरणो में।

गुरु भजन: दर्शन देता जाइजो जी..

दर्शन देता जाइजो जी, सतगुरु मिलता जाइजो जी। म्हारे पिवरिया री बातां थोड़ी म्हने..

हे मेरे गुरुदेव करुणा सिन्धु करुणा कीजिये!

हे मेरे गुरुदेव करुणा सिन्धु करुणा कीजिये। हूँ अधम आधीन अशरण, अब शरण में लीजिये ॥

आपने अपना बनाया मेहरबानी आपकी!

आपने अपना बनाया मेहरबानी आपकी, हम तो इस काबिल ही ना थे, ये कदर दानी आपकी...

मुकुट सिर मोर का, मेरे चित चोर का।

मुकुट सिर मोर का, मेरे चित चोर का। दो नैना सरकार के, कटीले हैं कटार से...

🔝